नक्सल / गाेलियों के शोर में पत्रकार का मां के नाम संदेश; माैत को नजदीक देख डर नहीं लग रहा



नक्सल-जवानों की मुठभेड़ के दौरान पत्रकार मोर मुकुट का बनाया वीडियो, जिसमें वह संदेश रिकार्ड कर रहे हैं। नक्सल-जवानों की मुठभेड़ के दौरान पत्रकार मोर मुकुट का बनाया वीडियो, जिसमें वह संदेश रिकार्ड कर रहे हैं।
X
नक्सल-जवानों की मुठभेड़ के दौरान पत्रकार मोर मुकुट का बनाया वीडियो, जिसमें वह संदेश रिकार्ड कर रहे हैं।नक्सल-जवानों की मुठभेड़ के दौरान पत्रकार मोर मुकुट का बनाया वीडियो, जिसमें वह संदेश रिकार्ड कर रहे हैं।

  • दंतेवाड़ा के निलवाया में हुई नक्सली और जवानों की मुठभेड़ का वीडियो आया सामने
  • डीडी न्यूज के एक अन्य साथी पत्रकार ने अपनी मां के नाम रिकाॅर्ड किया था संदेश

Dainik Bhaskar

Oct 31, 2018, 01:45 PM IST

रायपुर. दंतेवाड़ा के निलवाया के जंगल में मंगलवार सुबह नक्सलियों से मुठभेड़ में तीन जवानों समेत एक पत्रकार शहीद हो गए थे। घटना के अगले दिन बुधवार को उनके एक साथी पत्रकार का वीडियो सामने आया है। जिसमें गोलियों के बीच वह अपनी मां के नाम संदेश दे रहे हैं कि मौत नजदीक है, पर उसे देख डर नहीं लग रहा है। 

 

 

 

दरअसल, दंतेवाड़ा में मंगलवार को दिल्ली से आई पत्रकारों की तीन सदस्यीय टीम अरनपुर में पहली बार होने वाले मतदान को कवरेज करने के लिए जा रही थी। उनकी सुरक्षा के लिए जवान भी साथ थे। इसी दौरान निलवाया के जंगल में एंबुश लगाकर बैठे नक्सलियों ने घेरकर फायरिंग शुरू कर दी। 

 

इस दौरान झाड़ियों में फंसे पत्रकारों की टीम के सदस्य मोर मुकुट ने अपनी मां को संदेश देते हुए यह वीडियो बनाया। इस वीडियो में वह कह रहे हैं कि पुलिस-नक्सली मुठभेड़ हो रही है। चारों तरफ से गोलियां चल रही हैं। इस बीच मोर मुकुट कह रहे हैं कि वह इस हमले में नहीं बचेंगे। मां को बहुत प्यार करने की बात कहते हैं। 

 

इस दौरान वीडियो में गोलियों के चलने की आवाज भी सुनाई दे रही है। झाड़ियों में फंसे पत्रकार की सांसे अटक जाती हैं और वह जवानों से पीने के लिए पानी भी मांगता हैं, लेकिन उन्हें नहीं मिलता। फिलहाल इस मुठभेड़ के बाद पत्रकार मोर मुकुट सुरक्षित हैं। 

 

मुख्यमंत्री ने नक्सल विरोधी अभियान में तेजी लाने के निर्देश दिए : दंतेवाड़ा में हुई नक्सली मुठभेड़ के बाद मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने नक्सलियों के खिलाफ अभियान में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इसको लेकर सशक्त रणनीति बनाने और कार्रवाई को बढ़ाने की बात कही। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह बुधवार को अपने निवास कार्यालय में वरिष्ठ अधिकारियाें के साथ बैठक कर रहे थे। इस दौरान सीएम ने इलाके में कानून व्यवस्था की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने एएसआई रूद्रप्रताप सिंह,  सहायक आरक्षक मंगलूराम, राकेश कौशल और दूरदर्शन के कैमरामेन अच्युतानंद साहू की शहादत पर दुःख व्यक्त किया। बैठक में मुख्य सचिव अजय सिंह, गृह विभाग के प्रमुख सचिव अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह, डीजीपी एएन उपाध्याय, स्पेशल डीजी नक्सल अभियान डी.एम. अवस्थी और एडीजी अशोक जुनेजा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना