भास्कर खास / अाउटर में अंधेरे की शिकायतें जांची तो ढाई सौ से ज्यादा स्ट्रीट लाइटें गायब



More than two and a half hundred street lights disappeared after the complaints of dark in the outer
X
More than two and a half hundred street lights disappeared after the complaints of dark in the outer

  • सबसे ज्यादा चोरियां जोन 2, 6 और 8 यानी राजधानी के अाउटर में, यहां रात में इंजीनियर लगा रहे गश्त

Dainik Bhaskar

Jul 23, 2019, 07:14 AM IST

रायपुर . बरसात में अंधेरे की वजह से शहर में स्ट्रीट लाइट नहीं जलने की कंप्लेंट बढ़ गई हैं। पिछले एक हफ्ते में रोजाना औसतन 100 से 150 कंप्लेंट अाने लगीं, तब नगर निगम के इंजीनियरों ने जांच की कि अाखिर इतनी लाइटें क्यों बंद हैं? जांच में खुलासा हुअा कि खंभे से स्ट्रीट लाइटें पैनल समेत चोरी चली गई हैं। ऐसे 250 से ज्यादा खंभे हैं, जिनमें सालभर पहले तक लगाई गई लाइटें नहीं मिलीं। 


इसके अलावा, 300 से ज्यादा ऐसे खंभे भी मिले जिनकी स्ट्रीट लाइटें होल्डर समेत गायब हैं, यानी तोड़ने के बजाय कोई सफाई से निकाल ले गया। इनमें सबसे ज्यादा मामले जोन-8 के वार्डों के हैं। इसलिए अब यहां ठेका कंपनी के इंजीनियरों ने रात में गश्त भी शुरू कर दी है। स्ट्रीट लाइट चोरी के बढ़ते मामलों के मद्देनजर हाल ही में निगम में जोन कमिश्नरों को फरमान भी जारी हुआ है। जिसमें कहा गया है कि चोरी की घटना की तत्काल संबंधित पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाए।

 

शहर में करीब 55 हजार 185 से ज्यादा स्ट्रीट लाइट लगी हैं। जिसका मेंटेनेंस ईईएसएल (एशेंसियल एनर्जी सेविंग लिमिटेड) कर रहा है। इसके अलावा पार्कों और पब्लिक प्लेस में निगम की ढ़ाई हजार से ज्यादा लाइटें हैं। एक लाइट की कीमत न्यूनतम 1000 रुपए से अधिकतम 10 हजार रुपए तक है। दरअसल, लाइट के वॉट  के हिसाब से इसकी कीमत होती है। राजधानी की सड़कों पर 18 से लेकर 190 वोल्ट वाले लाइट लगे हैं। 

 

गलियों से भी गायब  : शहर में बीते एक साल में स्ट्रीट लाइटें बंद होने की 6 हजार कंप्लेंट्स अाई हैं। इनमें से फिलहाल 580 शिकायतों का निराकरण चल रहा है। अफसरों ने बताया कि  शॉर्ट सर्किट और सर्विस लाइन में फाॅल्ट की वजह से अब तक करीब 500 लाइटें खराब भी हुई हैं। ऐसा एलईडी लगने के बाद ज्यादा हो रहा है। गौरतलब है, बिजली की बचत के लिए शहर में दो साल से सड़कों पर एलईडी लाइट्स लगाई जा रही हैं। निजी कंपनी ईईएसएल को सात साल के लिए इसका ठेका दिया गया है।  


 

स्ट्रीट लाइट की चोरी रोकने और अंधेरे की शिकायतों पर एक्शन के लिए इंजीनियरों की टीम रोज गश्त कर रही है। - वेदप्रकाश डिंडोरे, स्टेट इंचार्ज, एनईईएसएल

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना