बालोद / अनबन हुई तो सास ने बहू को जिंदा जला दिया, मौत; केस दर्ज

X

  • तीन साल पहले हुई थी मधु व पोखन की शादी

Mar 11, 2019, 01:50 AM IST

बालोद . गुरुर ब्लॉक के कोसागोंदी गांव में सास ने मिट्टी तेल डालकर बहू को जिंदा जला दिया। घटना में 63 फीसदी झुलसी की महिला की पिछले दिनों इलाज के दौरान रायपुर के डीकेएस अस्पताल में मौत हो गई। मरने से पहले ही पुलिस को दिए बयान से मधु निषाद ने बताया  कि सास मुनिया बाई निषाद ने ही मिट्टीतेल छिड़ककर माचिस से आग जला दी थी। 

 

गुरुर पुलिस ने रविवार को मुनिया बाई के खिलाफ धारा 302 के तहत हत्या का केस दर्ज किया। जानकारी के मुताबिक घटना 31 जनवरी की शाम छह बजे की है। मौत 9 फरवरी को हुई। सास और बहू के बीच किस बात पर विवाद हुआ इसका खुलासा अभी तक नहीं हुआ है। क्योंकि घटना के दिन घर में मधु का पति पोखन भी नहीं था। वह अपने ससुराल यानी मधु के मायके चिचबोड़ (हल्दी) गया था। घर में सास, बहू और तीन महीने की बच्ची थी। गुरुर टीआई मनीष शर्मा ने बताया आरोपी महिला से पूछताछ करने पर वह कुछ नहीं करने की बात कह रही है। 

 

सास कहती रही मैं काम में गई थी बहू ने खुद लगाई आग, बहू का कहना सास ने जलाया था : कोसागोंदी में बहू मधु निषाद (23) की मौत के मामले में पुलिस हत्या का केस दर्ज आगे की कार्रवाई में जुटी है। लेकिन परिजन के बयान अलग-अलग सामने आ रहे हैं। एक तरफ जहां आरोपी सास मुनिया बाई शुरू से ये कहती रही कि घटना के दिन मैं काम में गई थी। शाम को आई तो बहू ने खुद को आग लगा दी थी। वही पत्नी ने अंतिम सांस से पहले दिए बयान में सीधे सास पर आरोप लगाया है कि उसी ने मुझ पर मिट्टी तेल डालकर माचिस से आग जलाई। अंतिम समय के बयान को सही मानकर पुलिस ने हत्या का केस दर्ज किया है। 


पहले बच्चे की मौत के बाद थे तनाव में, गरियाण्बन्द के पास इलाज कराने भी जाते थे : पति पोखन ने बताया कि दो साल पहले मधु गर्भवती हुई। लेकिन प्रसव से पहले ही बच्चे की मौत हो गई। इसके बाद हम तनाव में रहने लगे। ससुर किशोर के साथ मैं मधु को लेकर गरियाबंद के पास एक गांव में इलाज कराने के लिए भी ले जाता था। इस दौरान मधु बच्चा न होने पर कभी- कभी दुनिया छोड़ जाने की बात कहती रहती थी। मैं उसे समझाता था। कुछ साल बाद फिर हमें दूसरा बच्चा हुआ और खुशियां लौट आई। बच्ची रेशमा अभी चार महीने की है। बिन मां की बच्ची को बाहरी दूध पिलाकर पाल रहे हैं।

 

घटना के बाद पति बोला- मां पर भरोसा करू कि पत्नी पर : इस घटना के बाद पति पोखन निषाद ने कहा मैं उस दिन घर में नहीं था। ससुराल गया था। शाम को पत्नी से फोन पर बात हुई। वह कह रही थी कब तक घर आओगे जी। मैंने कहा बस अभी निकल रहा हूं। घर पहुंचने से पहले मुझे मेरे सौतेले भाई दुलेश्वर ने फोन करके बताया कि मधु जल गई है। पहले उसे धमतरी अस्पताल ले गए। वहां भी मैंने बार बार मधु को पूछा तो वह रोते हुए कहती रही कि मैं आपको कैसे बताऊं कि मेरे साथ क्या हुआ है।

 

मां से पूछता तो वह कहती थी मैं ईँट भट्ठा में काम करने गई थी। शाम को आई तो बहू जल गई थी। उसने खुद को आग लगाई। लेकिन मरने से पहले जब मधु ने कहा मेरी मां ने उसे मिट्टी तेल डालकर जलाया है तो मैं भी हैरान रह गया। मधु मुझसे कुछ कह नहीं पाई। पुलिस व डॉक्टरों को ही वह यह आखिरी बात बताई थी। उसके इस बयान के बाद मैं इस दुविधा में हूं कि मां की बात पर भरोसा करूं कि पत्नी की बात पर। मेरे सामने कभी सास बहु झगड़ा नहीं हुए, न ही कभी मधु ने मुझे कुछ शिकायत की थी। 
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना