छत्तीसगढ़ / ओएलएक्स पर कार का विज्ञापन डालकर की ठगी, पुलिस कह रही- लोकेशन पाकिस्तान की



police threw the advertisement of the car on the OLX, saying the location of Pakistan
X
police threw the advertisement of the car on the OLX, saying the location of Pakistan

  •  कॉल करने वाले ठग ग्राहकों को अपना परिचय इंडियन आर्मी के अफसर या जवान के रूप में देते हैं

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 06:36 AM IST

रायगढ़ . बैंक एटीएम कार्ड की डिटेल लेकर ठगी के मामले लगातार सामने आते हैं लेकिन अब जालसाज स्टाइल बदल रहे हैं। ओएलएक्स पर कार बेचने का विज्ञापन डालकर ठग रायगढ़ के लोगों से ठगी कर रहे हैं। एड देखकर कॉल करने वाले ग्राहकों को ठग अपना परिचय इंडियन आर्मी के अफसर या जवान के रूप में देते हैं।

 

सौदा होने के बाद रजिस्ट्रेशन और औपचारिकताओं पर खर्च बताकर अपने खातों में रुपए डलवा लेते हैं। रायगढ़ में ऐसे तीन मामले सामने आए हैं। पुलिस ठगों का लोकेशन पाकिस्तान और भारत के बॉर्डर वाले इलाके बता रही है। एडिशनल एसपी कहते हैं, ठगों को पकड़ने पाकिस्तान तो नहीं जा सकते लेकिन बॉर्डर के इलाकों में टीम भेजी जाएगी।

  
 कार बेचने के नाम पर ठगी के तीन मामले रायगढ़ पुलिस के सामने आए हैं। ठग भारत की सीमा पार से हैं। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद जिन खातों में पीड़ितों द्वारा रुपए जमा कराए गए हैं, उनकी जांच शुरू की है। खातों के स्टेटमेंट एवं लेटेस्ट टेक्नीक के जरिए ओएलएक्स पर ऐसी आईडी बनाकर ठगने वालों के मोबाइल नंबर के जरिए पड़ताल शुरू की तो पता चला है कि पाकिस्तान से ऐसी ठगी की जा रही है। पुलिस लगातार इन नंबरों के लोकेशन पर नजर रख रही है। ऐसे में पुलिस दो से तीन अलग-अलग टीम बनाकर बार्डर के नजदीक वाले राज्यों में टीम भेजी जा रही है।

 

ठगों को पकड़ने बॉर्डर के इलाकों में भेजी जाएगी टीम : एसपी 

 

ठग ने इस तरह से दिलाया आर्मी अफसर का भरोसा : ठगे गए एक व्यवसायी को विश्वास दिलाने के लिए जालसाज ने हरियाणा स्थित एक आर्मी कैंटीन और अपना आर्मी आईकार्ड वाट्सएप पर भेजा। व्यवसायी रुपए देने के लिए तैयार नहीं हुआ तो उसने खुद की आर्मी अफसरों के साथ बहुत सारी फोटो भेजी। व्यवसायी को विश्वास हुआ और डील फाइनल करके पेमेंट कर दी। 

 

इस तरह ठगी को देते हैं अंजाम : ठग ओएलएक्स में जिस सामान को बेचने का एड डालते हैं उनकी कीमत कम रखते हैं। संपर्क करने पर वह खुद को आर्मी अफसर बताता है और कहता है कि उसे कार बेचकर दूसरी खरीदनी है इसलिए सस्ते में सामान बेच रहा है। वह सौदा जमने की दुहाई देकर कुछ पैसा अपने एकाउंट में डालने को बोलता है। एक किस्त डालने के बाद रजिस्ट्रेशन, ट्रांसपोर्टेशन और दूसरी औपचारिकताओं पर खर्च बताकर वह और रुपए मांगता है। खरीदार सस्ता समझकर रुपए देता और ठगा जाता है।  
 

पहला मामला : रायगढ़ के कोष्टापारा निवासी अवधेश तिवारी ने ओएलएक्स एप में कार सेल का एक एड देखा। मंजीत सिंह और आनंद सिंह नाम के दो व्यक्तियों ने खुद को आर्मी अफसर बताया। स्विफ्ट डिजायर कार क्रमांक सीजी 04 एचडी 3893 जो कृष्ण कुमार साहू के नाम से रजिस्टर्ड है, का सौदा ढाई लाख में तय किया। डील होने के बाद 97 हजार 510 रुपए मांगे। 

 

दूसरा मामला : शहर के इंदिरा नगर पूछापारा निवासी मनोज सिंह एक उद्योग में कर्मचारी हैं। 20 मार्च को उन्होंने मोबाइल से ओएलएक्स एप में कार सेल का एक एड देखा। जयकिशन नाम के व्यक्ति ने खुद को जयपुर में आर्मी अफसर बताया, उसने स्विफ्ट डिजायर कार क्रमांक ओडी 33 जे 8099 को 3 लाख 25 हजार रुपए में बेचने के लिए एड डाला था। 

 

ओएलएक्स में हुई ठगी की जांच कर रहे हैं। जांच के दौरान आरोपियों का लोकेशन बार्डर पार पाकिस्तान दिख रहा है, इसलिए इन्हें पकड़ना मुश्किल है। ऐसे मामले में लोगों को सतर्क रहना जरूरी है। - अभिषेक वर्मा, एएसपी

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना