छत्तीसगढ़ / आदिवासी ब्वॉयज हॉस्टल में रैगिंग, बुरी तरह हुई जूनियर छात्रों की पिटाई, अधीक्षक सस्पेंड

थाने पहुंचे छात्रों ने अपनी चोट के निशान दिखाए थाने पहुंचे छात्रों ने अपनी चोट के निशान दिखाए
X
थाने पहुंचे छात्रों ने अपनी चोट के निशान दिखाएथाने पहुंचे छात्रों ने अपनी चोट के निशान दिखाए

  • रायपुर के अलग-अलग पोस्ट मैट्रिक एसटी छात्रावास में रैगिंग की दो घटनाएं 
  • छात्रों ने खुद थाने पहुंचकर सीनियर छात्रों के खिलाफ दर्ज करवाई शिकायत 

दैनिक भास्कर

Jan 17, 2020, 11:31 AM IST

रायपुर. शहर के आदिवासी विकास विभाग के तहत संचालित पोस्ट मैट्रिक हॉस्टल रैगिंग के मामले सामने आए हैं। पहली घटना डीडी नगर स्थित हॉस्टल में हुई, दूसरी गुरुवार को शहर के पेंशनबाड़ा के हॉस्टल में। डीडी नगर के मामले में हॉस्टल के अधीक्षक को महेंद्र कुमार बघेल को सस्पेंड कर दिया गया। पेंशन बाड़ा के मामले में पुलिस छात्रों की शिकायत दर्ज की है। 
 

जूनियर छात्रों ने सीनियर पर आरोप लगाया है कि वे रात में आकर उनसे मारपीट करते हैं। नमस्ते नहीं करने या बात नहीं मानने पर भी पीटते हैं। सिटी कोतवाली थाने में जूनियरों ने इसकी शिकायत की है। हॉस्टल के अफसर इस घटना के बाद कुछ कहने से बच रहे हैं। पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने छात्रों से बात-चीत की उन्हें उचित कार्रवाई का भरोसा भी दिलाया गया। इन घटनाओं में छात्र बुरी तरह चोटिल हुए हैं। प्रशासनिक अधिकारियों की टीम को छात्रों ने अपने चोट के निशान भी दिखाए। 
 
डीडीनगर में रैगिंग की बात सामने आने के बाद इसकी जांच कलेक्टर खुद अपनी देखरेख में करवा रहे हैं। पेंशनबाड़ा के जूनियर छात्रों ने बताया कि वे छत्तीसगढ़ कॉलेज में फर्स्ट ईयर के छात्र हैं। जिन सीनियरों पर आरोप लगाया गया है उनमें से भी अधिकांश छत्तीसगढ़ कॉलेज में ही पढ़ते हैं। अगस्त महीने से सीनियर लगातार परेशान कर रहे हैं। कई छात्र हॉस्टल छोड़कर जा चुके हैं। हॉस्टल के वार्डन पी. सेनानी ने कहा कि हॉस्टल में रहने वाले छात्रों ने मारपीट या रैगिंग को लेकर मुझसे शिकायत नहीं की। यह सूचना मिली है कि कुछ छात्रों ने थाने जाकर मारपीट की शिकायत की है। छात्रों से घटना की जानकारी ली जा रही है। इसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना