मानसून सत्र / छत्तीसगढ़ में स्कूलों में बच्चों को अंडा वितरण को लेकर विधानसभा में जमकर हंगामा



raipur news monsoon session chaos in assembly over eggs served to children in school and liquor ban
X
raipur news monsoon session chaos in assembly over eggs served to children in school and liquor ban

  • सदन में सरकार पर हमलावर हुआ विपक्ष, विधायक भीमा मंडावी की मौत और सुरक्षा का मुद्दा भी गरमाया
  • सड़क गुणवत्ता, राजस्व नुकसान, मनरेगा के बकाये को लेकर अपने ही विधायकों के निशाने पर रही सरकार

Dainik Bhaskar

Jul 15, 2019, 06:26 PM IST

रायपुर. विधानसभा में मानसून सत्र के दूसरे दिन सोमवार को एक बार फिर जमकर हंगामा हुआ। स्कूली बच्चों को अंडा वितरण से लेकर शराबबंदी को लेकर विपक्ष ने सरकार पर जोरदार हमला बोला। आरोप लगाया कि सरकार खुद शराब को बढ़ावा दे रही है। पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने के लिए अब प्लास्टिक की बोतलों में शराब परोसने की नीति पर काम किया जा रहा है। आज स्कूलों में अंडा खाने को दिया जा रहा है, कल कहेंगे बीफ खाओ। वहीं सड़क गुणवत्ता, राजस्व नुकसान, मनरेगा के बकाये को लेकर सरकार अपने ही विधायकों के निशाने पर भी रही। 

वर्ग संघर्ष की स्थिति मत बनने दीजिए, जिद से राजनीति नहीं होती

  1. जैसा अंदेशा था, वहीं हुआ। सत्र की शुरुआत से ही सरकार पर हमलावर हुआ विपक्ष ने दूसरे दिन भी इसे बरकरार रखा। जेसीसीजे विधायक धर्मजीत सिंह ने सदन में शून्यकाल के दौरान अंडा वितरण का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि स्कूली बच्चों को अंडा दिया जाना जरूरी नहीं है। वर्ग संघर्ष की स्थिति मत बनने दीजिए,  जिद से राजनीति नहीं होती। ये कबीर और गुरु घासीदास की धरती है, इसेको बचाना चाहिए। सरकार आज अंडा खाने कह रही है कल को बीफ खाने का निर्देश जारी कर देगी। 

  2. इस पर कांग्रेस विधायक मोहन मरकाम ने कहा कि सरकार ने अंडे का विकल्प रखा है। जिन्हें अंडा नहीं खाना है, उनके लिए दूध की व्यवस्था की गई है। विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा कि चुनाव में जाते हो तो कबीरपंथी समाज के सामने घुटने टेकते हो और अब जब अंडा देने का समाज विरोध कर रहा है, तो आंखें दिखाई जा रही हैं। भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि राज्य में 35 लाख कबीरपंथी निवासरत हैं। समाज की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए उनकी मांगों को सुना जाना चाहिए। 

  3. शराबबंदी नहीं करनी है तो खुलेआम बिकवाओ

    मंत्री के जवाब ने असंतुष्ट धर्मजीत सिंह ने कहा कि शराब बंदी नहीं करनी है तो खुलेआम बिकवाओ। शंकरनगर चौक पर मुख्यमंत्री का होर्डिंग लगा है जिसमें प्लास्टिक हटाने का जिक्र है, लेकिन सरकार खुद प्लास्टिक की बोतल में शराब बेचकर कचरा बढ़ा रही है। चखना दुकान खोलने के नाम पर हंगामा मचा हुआ है। इससे पहले बसपा विधायक इंदु बंजारे ने कहा कि शराब बंद करने की दिशा में सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। मंत्री अकबर ने कहा कि शराबबंदी को लेकर समिति गठित की गई है। रिपोर्ट आएगी तब शराबबंदी की जाएगी। 

  4. विधायकों का कराया जाए एक करोड़ रुपए का बीमा 

    विधायक शिवरतन शर्मा ने मीडिया रिपोर्ट के हवाले से कहा कि भीमा मंडावी की सुरक्षा में चूक की बात एक आला अधिकारी ने मानी है। विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि विधायकों के एक करोड़ रुपए का बीमा कराए जाने की व्यवस्था की होनी चाहिए। भीमा मंडावी के परिवार की हालत अच्छी नहीं है। परिवार को आर्थिक मदद की व्यवस्था सरकार को करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बार-बार झीरम की घटना का जिक्र किया जा रहा है। आज मैं फिर इस सदन में चुनौती दे रहा हूं कि अगर भूपेश सरकार के पास कोई सबूत है तो सरकार उनकी है, जांच करा ली जाए। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना