छत्तीसगढ़  / रायपुर में दो साल के दौरान सबसे ज्यादा बढ़े कैंसर रोगी, एचआईवी पॉजिटिव हो गए एक साल में सौ गुना



raipur news highest cancer patients during 2 years, HIV positive became also increase
X
raipur news highest cancer patients during 2 years, HIV positive became also increase

  • सीएमओ व मेकाहारा की रिपोर्ट : वर्ष 2018 में एचआईवी पीड़ितों की संख्या हो गई 47 से अधिक
  • कैंसर के मिले 125 मरीज, दृष्टिहीन व्यक्तियों की संख्या में 99 फीसदी का इजाफा

Dainik Bhaskar

Jun 23, 2019, 05:48 PM IST

रायपुर. राजधानी रायपुर में स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर गंभीर रिपोर्ट उजागर हुई है। पिछले दो साल में कैंसर रोगियों की संख्या में इजाफा हुआ है। वहीं एचआईवी पॉजिटिव की महज एक साल में सौ गुना बढ़ोतरी हुई है। आंख संबंधी रोगों में सबसे ज्यादा 99 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और मेकाहारा (अंबेडकर अस्पताल) की संयुक्त रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि सर्वे नहीं होने के कारण सही संख्या नहीं पता चल पा रही थी। इसे रोकने की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं। 

आंख से संबंधित बीमारियों के एक साल में बढ़ गए 33 हजार मरीज

  1. रिपोर्ट के मुताबिक पिछले दो साल में यानि वर्ष 2016 से 2018 के मध्य सबसे ज्यादा कैंसर रोगियों में बढ़ोत्तरी हुई है। पिछले दो साल में एक भी मरीज कैंसर से पीड़ित नहीं मिले थे। वहीं दिसंबर 2018 तक के आंकड़े बतातें है कि कैंसर से पीड़ित 125 मरीज मिले है। इसके अलावा आंख की बीमारी वाले मरीजों में भी ज्यादा इजाफा हुआ है। पिछले साल वर्ष 2017 में सिर्फ 52 मरीज मिले थे तो वर्ष 2018 में 33 हजार से अधिक मरीज पाए गए है। इसके अलावा एड्स रोगियों की संख्या भी वर्ष 2018 में 47 हो गई है। यानी पिछले साल की अपेक्षा 100 गुना अधिक है।

  2. पौने दो लाख से ज्यादा का ब्लड टेस्ट

    दरअसल, ब्लड की वजह से होने वाली बीमारियां भी बढ़ रही है। इस वजह से ब्लड का परीक्षण भी हर साल बढ़ाया जा रहा है। खासतौर पर सरकारी अस्पतालों में ब्लड परीक्षण इस साल सबसे ज्यादा हुए है। यानि पिछले चार साल की तुलना में 30 फीसदी अधिक ब्लड परीक्षण का कार्य किया गया है।


    कुष्ठ उन्मूलन से बीमारी में रोकथाम

    जिला स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कुष्ठ उन्मूलन के लिए कई तरह के प्रोग्राम आयोजित किए जा रहे है। हालांकि पिछले दो साल की तुलना में कुष्ठ रोगियों की संख्या घटी है। पिछले साल जहां 900 कुष्ठ रोगी सिर्फ रायपुर में मिले थे, वहीं इस साल 847 मरीज ही कुष्ठ रोगी के मिले है। इसके अलावा वर्ष 2016 में एक हजार से ज्यादा कुष्ठ रोगी मिले थे।

  3. जानिए, ऐसी बीमारियों के होने की वजह यह है

    • धूम्रपान और तंबाकू की वजह से कैंसर हो रहा।
    • मादकपदार्थाें के सेवा की वजह से भी कैंसर हो रहा।
    • खून चढ़ाने के दौरान एचआईवी इफैक्टेड ब्लड का इस्तेमाल।
    • डिस्पोजेबल सीरिंज का इस्तेमाल न किया जाना।

  4. संक्रमण बीमारियों के आंकड़े, जो बतातें है पिछले दो साल में बढ़े रोगी

    दृष्टिहीन रोगियों की संख्या

    वर्ष रोगियों की संख्या
    2016 27612
    2017 52
    2018 33926

     

    कैंसर रोगी

    वर्ष रोगियों की संख्या
    2016 0
    2017 0
    2018 125

     

    एड्स रोगी

    वर्ष रोगियों की संख्या
    2016 64
    2017 0
    2018 47

    (स्त्रोत मुख्य चिकित्सा अधिकारी और मेकाहारा की रिपोर्ट)

  5. स्टॉफ की कमी और सर्वे नहीं हुए थे

    पिछले दो साल से स्टॉफ कमी होने की वजह से सर्वे भी नहीं किया गया था। अभी जगह-जगह हेल्थ कैंप लगवाया जा रहा है। मरीजों को सलाह देकर उन्हें दवाएं उपलब्ध कराई जा रही है।

    डॉ. केआर सोनवानी, सीएमएचओ, रायपुर

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना