छत्तीसगढ़ / सेना दिवस की जगह केंद्रीय मंत्री रेणुका ने दे दी बीएसएफ स्थापना दिवस की बधाई, पूछने पर कहा- आपको मिठाई खिला देंगे

केंद्रीय मंत्री ने यही पोस्ट किया था, जिसे बाद में डिलीट कर दिया गया।
शाम को मंत्री रेणुका सिंह ने नया पोस्ट कराया। इसमें सिख रेजीमेंट की फोटो के साथ सेना दिवस की बधाई दी गई। शाम को मंत्री रेणुका सिंह ने नया पोस्ट कराया। इसमें सिख रेजीमेंट की फोटो के साथ सेना दिवस की बधाई दी गई।
X
शाम को मंत्री रेणुका सिंह ने नया पोस्ट कराया। इसमें सिख रेजीमेंट की फोटो के साथ सेना दिवस की बधाई दी गई।शाम को मंत्री रेणुका सिंह ने नया पोस्ट कराया। इसमें सिख रेजीमेंट की फोटो के साथ सेना दिवस की बधाई दी गई।

  • छत्तीसगढ़ से सरगुजा से भाजपा सांसद रेणुका सिंह, केंद्र सरकार में जनजातीय विकास राज्यमंत्री हैं
  • 15 जनवरी को मनाया जाता है सेना दिवस, जबकि बीएसएफ स्थापना दिवस 1 दिसंबर को होता है

सुमन पांडेय

सुमन पांडेय

Jan 15, 2020, 08:40 PM IST

रायपुर. केंद्रीय जनजातीय विकास राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने सेना दिवस के मौके पर बुधवार को सीमा सुरक्षा बल दिवस की शुभकामनाएं अपने फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम एकाउंट से दीं। उनकी पोस्ट में सेना की वीरता के बारे में लिखा गया था, मगर तस्वीर बीएसएफ जवानों को लगाई गई और इसके स्थापना दिवस का जिक्र किया गया था। बीएसएफ का स्थापना दिवस हर साल 1 दिसंबर को मनाया जाता है। 

सोशल मीडिया से हटा दिए पोस्ट
इस बारे में जब केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह से बात की गई, तो उन्होंने कहा कि गलती हो गई। इस पर प्रतिक्रिया क्या दें, आपको मिठाई खिला देंगे। इसके बाद मंत्री की सोशल मीडिया टीम ने बीएसएफ डे की बधाई वाले सारे पोस्ट सोशल मीडियासे हटा दिए। यह पोस्ट फेसबुक पर सुबह 11 बजे के आसपास किए गए थे। इन्हें शाम 7 बजे के आसपास हटा लिया गया।

फिर सुधार कर नया पोस्ट डाला

दैनिक भास्कर से बातचीत के बाद मंत्री रेणुका सिंह को गलती का अहसास हुआ तो कुछ देर बाद, उन्होंने पुराना पोस्ट डिलीट कराकर नया पोस्ट किया। नए पोस्ट में सेना दिवस की ही बधाई दी गई। तस्वीर को भी बदल दिया गया। नई तस्वीर में सिख रेजीमेंट के जवान परेड करते दिख रहे हैं। तस्वीर पर भी सीमा सुरक्षा बल स्थापना दिवस की जगह सेना दिवस लिखा गया।

क्यों मनाया जाता है सेना दिवस 
साल 1949 में 15 जनवरी के ही दिन भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर के स्थान पर तत्कालीन लेफ्टिनेंट जनरल के एम करियप्पा भारतीय सेना के कमांडर इन चीफ बने थे। इसी उपलक्ष्य में इस दिन को सेना दिवस घोषित किया गया। करियप्पा बाद में फील्ड मार्शल भी बने।

1 दिसंबर 1965 को हुई थी बीएसएफ की स्थापना
देश की सीमाओं की सुरक्षा के लिए सीमा सुरक्षा बल (बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स) बीएसएफ का गठन 1 दिसंबर 1965 को हुआ था। यह फोर्स गृह मंत्रालय के अधीन होती है, जबकि अन्य सेनाओं की कमान रक्षा मंत्रालय के पास रहती है। बीएसएफ पीस-टाइम के दौरान तैनात की जाती है, जबकि सेना युद्ध के दौरान मोर्चा संभालती है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना