भिलाई / 100 कैमरे, 10 सिक्योरिटी गार्ड, फिर भी ज्वेलरी शो रूम में हो गई 2.67 करोड़ की चोरी

शो रूम में चोरी की सूचना के बाद पहुंची पुलिस शो रूम में चोरी की सूचना के बाद पहुंची पुलिस
X
शो रूम में चोरी की सूचना के बाद पहुंची पुलिसशो रूम में चोरी की सूचना के बाद पहुंची पुलिस

  • पारख ज्वेलर्स में मंगलवार को  हुई थी चोरी, शुरूआती जांच में सामने आए कई तथ्य 
  • बिहार, बंगाल और यूपी के गिरोह पर शक, दुकान की रेकी कर बनाया गया प्लान 

दैनिक भास्कर

Feb 13, 2020, 12:48 PM IST

भिलाई. शहर के आकाशगंगा स्थित सराफा मार्केट के पारख ज्वेलर्स शो रूम में चोरी की घटना के कुछ नए तथ्य सामने आए हैं। मंगलवार को हुई इस वारदात के बाद बुधवार देर रात तक चोरी हुए सामान का आंकलन किया गया। शो रूम से करीब 25 किलो सोना, डायमंड व कैश चोरी होने का अनुमान है। प्राथमिक अनुमान के मुताबिक 10 करोड़ से अधिक की चोरी होने की बात सामने आ रही है, मगर पुलिस ने 2.67 करोड़ की चोरी का केस दर्ज किया है। शो रूम में करीब 100 सीसीटीवी कैमरे और 10 गार्ड की निगरानी के बाद भी यह घटना को अंजाम देने में चोर कामयाब रहे। अब भी सराफा कारोबारी से चोरी हुए जेवरों का हिसाब-किताब लिया जा रहा है। वारदात के तरीके से अनुमान लगाया जा रहा है कि पूरी प्लानिंग व रैकी करने के बाद चोरी की घटना को अंजाम दिया गया है।
 

इतनी बड़ी वारदात कि पहुंच गया पूरा अमला 
शातिर बदमाशों को पता था कि मंगलवार को दुकान और मार्केट बंद रहता है। मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे कर्मचारी ने आधे घंटे के लिए शोरुम खोला था। बुधवार सुबह करीब 10 बजे कर्मचारियों ने शोरुम खोला और सामान बिखरा देखकर संचालक व पुलिस को सूचना दी। चोरी की जानकारी लगने के आईजी विवेकानंद सिन्हा, एसएसपी अजय यादव, एएसपी सिटी रोहित झा, व ग्रामीण एएसपी लखन पटले, सीएसपी अजीत यादव, विश्वास चंद्राकर, विवेक शुक्ला, क्राइम डीएसपी पीसी तिवारी, टीआई गोपाल वैश्य, भूषण एक्का, गौरव तिवारी, राजेश बागड़े, बीएस कुशवाहा और जितेंद्र वर्मा पहुंच गए। अब पुलिस की कई टीमें बनाई गई है। सभी को वारदात से जुड़े अलग-अलग पहलुओं की जांच सौंपी गई है।


चोरों को सब पता था 
बदमाशों को पहले से पता था कि ग्राउंड फ्लोर पर लगी तिजोरी का डोर खराब है। जिसे आसानी से खोला जा सकता है। वारदात के तरीके को देख पुलिस अधिकारियों  ने बताया कि आरोपियों ने पहले से यहां रैकी की है। बदमाशों ने बिल्डिंग में पहुंचने और भागने का रास्ता पहले से तय कर रखा था। पुलिस ने घटना स्थल से कटर और उपयोग होने वाले राड को जब्त कर लिया है। वारदात में लोकल गैंग के शामिल होने का क्लू मिला है। गैंग ने अंदर घुसने के लिए लिफ्ट के पास की दीवार को चुना था। बदमाशों को पता था कि लिफ्ट के पास की दीवार में ईंट लगे है,जिससे आसानी से तोड़ा जा सकता है। पुलिस को पता चला है कि करीब 15 दिन पहले शोरुम में लिफ्ट का काम करने के लिए मैकेनिक आया था। कुछ महीने पहले राजस्थान, बिहार और ओडिशा के मजदूरों ने टाइल्स का काम किया था।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना