छत्तीसगढ़ / वैज्ञानिक गाड़ी में घूमते हैं और हाथियों की फोटो भर लेते हैं...

Scientists roam the car and fill photos of elephants ...
X
Scientists roam the car and fill photos of elephants ...

  • सीएफ ने कहा- दो साल में हाथियों पर काबू पाने कोई ठाेस उपाय नहीं सुझाया

दैनिक भास्कर

Sep 22, 2019, 02:03 AM IST

अंबिकापुर . वाइल्ड लाइफ इंस्टिट्यूट के वैज्ञानिक अपने 2 वर्ष के अध्ययन में जंगली हाथियों के सही प्रबंधन या उनके उत्पात को रोकने किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे हैं। ऐसा टीम के एक वैज्ञानिक नहीं ही सीएफ को भेजी वार्षिक रिपोर्ट में कहा है। इधर सीएफ भी वैज्ञानिकों के अब तक के कार्य से संतुष्ट नहीं हैं। उनका कहना है कि वाइल्ड की टीम ने अब तक ऐसी कोई ठोस सलाह नहीं दी है, जिससे हाथियों से होने वाले जानमाल के नुकसान की रोकथाम हो पाती।

 

सीएफ का कहना है कि वैज्ञानिकों की टीम के सदस्य गाड़ी लेकर घूमते हैं और हाथियों की फोटो भर ले रहे हैं। बता दें कि शासन की मंजूरी से वन विभाग ने उत्पाती हाथियों की रोकथाम के लिए 3 करोड़ में 3 वर्ष के लिए अनुबंध किया था। इसमें से दो वर्ष बीत चुके हैं। इस दौरान वैज्ञानिकों की सलाह पर कर्नाटक से लाए गए कुमकी हाथी भी फालतू ही साबित हुए हैं। जिन पर अब तक 35 लाख रुपए खर्च हो चुके हैं।


सरगुजा संभाग में जंगली हाथियों को सुरक्षित रहवास के लिए अनुकूल माहौल नहीं मिलने के कारण इधर-उधर भटक रहे हैं। इससे हाथियों की चपेट में आकर हर साल लोगों की मौत हो रही है। इसके अलावा हाथी मकानों को तोड़ रहे हैं और फसल बर्बाद कर रहे हैं। दैनिक भास्कर पड़ताल में सामने आया है कि उत्पाती हाथियों पर काबू करने सरकार की मंजूरी के बाद वन विभाग ने 2017 में वाइल्ड लाइफ ऑफ इंडिया के साथ अनुबंध किया था। इसके तहत इंस्टिट्यूट ने वैज्ञानिकों की टीम यहां भेजी थी। 


वैज्ञानिकों की टीम को हाथियों पर अध्ययन के लिए अलग-अलग तरीके से ऑपरेशन चलाते दो वर्ष हो बीत चुके हैं। अब तक कोई भी ऑपरेशन सफल नहीं हो सका है। वैज्ञानिकों के सलाह पर ही सेटेलाइट रेडियो कॉलर आईडी लगाया गया। 


इसमें 6 हाथियों में से चार के कॉलर आईडी गिर चुके हैं। मामले पर वाइल्ड के वैज्ञानिक अंकित का कहना है कि 3 साल का समय भी हाथियों पर अध्ययन के लिए कम है। हमने अपने अध्ययन के आधार पर वार्षिक रिपोर्ट तैयार कर सीएफ सहित अन्य अफसरों को दिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना