--Advertisement--

छत्तीसगढ़ / दूसरे चरण की 72 में से 32 सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबले के आसार



triangular fight on 32 seats
X
triangular fight on 32 seats

  • मरवाही, कोटा और अकलतरा सीट पर जोगी परिवार के मैदान में आने से त्रिकोणीय मुकाबला बना 
  • राजनांदगांव सीट पर मुख्यमंत्री को मुश्किल नहीं, लेकिन रायपुर पश्चिम-दक्षिण सीट और बिलासपुर में भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 12:22 PM IST

रायपुर.  छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के लिए 20 नवंबर को मतदान होना है। सोमवार को दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रत्याशियों की नामवापसी के साथ ही तय हो गया है कि किस सीट पर कौन, किसके सामने होगा। माना जा रहा है कि जोगी कांग्रेस आैर बसपा नेताआें की दावेदारी के बाद से 72 में से लगभग 32 सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबले के आसार  हैं। इनमें मरवाही, कोटा और अकलतरा जैसी सीटें प्रमुख रूप से शामिल हैं।

 

उधर, बड़े नेताआें वाली 25 सीटों पर सीधा मुकाबला होगा। इन सीटों पर एससी, एसटी के अलावा आेबीसी वोटबैंक बड़ा फैक्टर डालेगा। वहीं, लगभग 50 सीटों पर जातिगत समीकरण का बोलबाला रहेगा। राज्य की 90 सीटों में से 10 एससी और 29 एसटी के लिए आरक्षित हैं।

 

ये नेता त्रिकोणीय मुकाबले में फंसे : कोटा में रेणु जोगी, मरवाही में अजीत जोगी, अकलतरा में ऋचा जोगी, पाली-तानाखार में रामदयाल उइके, कोंटा में कवासी लखमा, रायपुर ग्रामीण में सत्यनारायण शर्मा, सक्ती में डाॅ. चरणदास महंत, पाटन में भूपेश बघेल, कवर्धा में मोहम्मद अकबर, अभनपुर में धनेंद्र साहू, कसडोल में गौरीशंकर अग्रवाल, भटगांव में रजनी त्रिपाठी, महासमुंद में पूनम चंद्राकर, बिल्हा में धरमलाल कौशिक, लोरमी में धर्मजीत सिंह, रायगढ़ में रोशन अग्रवाल, प्रतापपुर में रामसेवक पैकरा, बैकुंठपुर में भैयालाल राजवाड़े, नवागढ़ में दयालदास बघेल, बेमेतरा में अवधेश चंदेल, धमतरी में गुरमुख सिंह होरा, भाटापारा में शिवरतन शर्मा, जांजगीर-चांपा में मोतीलाल देवांगन, नारायण चंदेल, गुंडरदेही में आरके राय।

 

1) कोटा : जोगी कांग्रेस से रेणु जोगी मैदान में। कांग्रेस ने पूर्व डीएसपी विभोर सिंह पर भरोसा जताया है। एकदम नया चेहरा। भाजपा से वही काशी साहू जो पिछली बार रेणु जोगी से सिर्फ पांच हजार मतों से हारे थे। सबसे ज्यादा हिस्सों में बंटी सीट पर साहू वोटरों की संख्या निर्णायक है। यानी आजादी के बाद से कांग्रेस से पास रही सीट पर इस बार इतिहास बदलने का खतरा है। रेणु इसे अपना अंतिम चुनाव घोषित कर चुकी हैं।
 

2) मरवाही : इस सीट से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी मैदान में हैं। वे अपनी नई पार्टी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस से चुनाव लड़ रहे हैं। उधर, भाजपा से अर्चना पोर्ते और कांग्रेस से गुलाबसिंह राज मैदान में हैं।

 

3) अकलतरा : अजीत जोगी की बहू ऋचा जोगी बसपा से चुनाव लड़ रही हैं। भाजपा से सौरभ सिंह और कांग्रेस से चुन्नीलाल साहू मैदान में हैं। सौरभ बसपा से विधायक रहे हैं। यहां मुकाबला त्रिकोणीय होगा। 

 

4) सक्ती : कांग्रेस से डॉ. चरणदास महंत, भाजपा से मेघाराम साहू और बसपा से गौतम राठौर मैदान में हैं। साहू बहुल सीट में कांग्रेस के पूर्व सांसद और भाजपा के पूर्व मंत्री के बीच सीधा मुकबला है। 

 

5) कवर्धा: भाजपा के अशोक साहू का मुकाबला कांग्रेस के मोहम्मद अकबर से है। जोगी कांग्रेस ने सतनामी समाज से अगमदास को मैदान में उतारकर मुकाबला त्रिकोणीय बना दिया है। 
 

 

यहां सीधा मुकाबला : राजनांदगांव, साजा, बिलासपुर, भिलाई, वैशालीनगर, रायपुर पश्चिम, दक्षिण, उत्तर, धरसींवा, आरंग, राजिम, कुरूद, बलौदाबाजार, बसना, बिलासपुर, बेलतरा, कोरबा, खरसिया, सामरी, लैलूंगा, अंबिकापुर, रामानुजगंज, मस्तूरी, संजारी बालोद, दुर्ग-शहर, अहिवारा, सीतापुर, लुंड्रा, प्रेमनगर, भटगांव, आरंग।

 

1) राजनांदगांव : सीएम डॉ. रमन सिंह के सामने कांग्रेस ने अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला को उतारा है। रमन की यहां से मौजूदगी आसपास की सीटों पर भी असर करती है।

 

2) बिलासपुर: मंत्री अमर अग्रवाल चौथी पारी के लिए संषर्घ कर रहे हैं। कांग्रेस से शैलेष पाण्डेय ने मुकाबले को रोचक बना दिया है। नाराज कांग्रेसियों को साधने के बाद शैलेष चुनावी मैदान में हैं। 

 

3) रायपुर पश्चिम : मंत्री राजेश मूणत का मुकाबला कांग्रेस के विकास उपाध्याय से है। पिछले चुनाव में हार-जीत का अंतर काफी कम था। 

 

4) रायपुर दक्षिण : मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के सामने कांग्रेस से कन्हैया अग्रवाल मैदान में। भाजपा की परंपरागत सीट रही है। पहली बार एक ही समाज के दो प्रत्याशियों के बीच मुकाबला होगा।

 

5) कुरूद : भाजपा के अजय चंद्राकर और कांग्रेस के लक्ष्मीकांता साहू के बीच मुकाबला। चंद्राकर तीन बार के विधायक रहे। पहली बार इस सीट पर महिला और पुरुष प्रत्याशी आमने-सामने होंगे। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..