रायपुर  / मंत्री को धमकी देने वाला आरोपी पकड़ा, फिर बंगले पर हाई टी के लिए पहुंच गए दोनों कांस्टेबल, एसपी ने सस्पेंड किया

पुलिस अधीक्षक कार्यालय रायपुर। पुलिस अधीक्षक कार्यालय रायपुर।
X
पुलिस अधीक्षक कार्यालय रायपुर।पुलिस अधीक्षक कार्यालय रायपुर।

  • आबकारी मंत्री कवासी लखमा को धमकी देने के मामले में आराेपी को गिरफ्तार करने वाले टीम में शामिल थे दोनों
  • गिरफ्तारी पर टीम को मिली थी शाबाशी और सम्मान, इसके बाद दोनों मंत्री के बंगले पर पहुंचे थे हाई टी के लिए

दैनिक भास्कर

Jan 09, 2020, 12:22 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ के आबकारी मंत्री कवासी लखमा को धमकी देने वाले आरोपी को गिरफ्तार करने वाली टीम के दो कांस्टेबलों को सस्पेंड कर दिया गया है। एसएसपी आरिफ शेख ने आरक्षक मेला राम प्रधान और विक्रम वर्मा को लाइन अटैच कर दिया है। आरोपी की गिरफ्तारी के बाद टीम को बकायदा मंत्री की ओर से सम्मानित भी किया गया था। इसके बाद दोनों कांस्टेबल हाई टी के लिए मंत्री के बंगले पर पहुंचे थे। हालांकि कहा जा रहा है कि दोनों कांस्टेबल पर अनुशासनहीनता के चलते कार्रवाई की गई है। 

अधिकारियों को बिना जानकारी दिए मंत्री के बंगले पर गए

दरअसल, आबकारी मंत्री कवासी लखमा को सीबीआई अधिकारी बनकर धमकी दी गई थी। इस दौरान उनसे दो लाख रुपए फिरौती भी मांगी थी। इसके बाद सिविल लाइंस थाने के एसआई अजय झा के नेतृत्व में चार सदस्यीय टीम शिमला गई थी और वहां से अराेपी अंकुश शर्मा को गिरफ्तार किया था। इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी के बाद मंत्री ने टीम की तारीफ करते हुए सभी सदस्यों को सम्मानित किया था। चर्चा है कि सम्मान के बाद दोनों सिपाही हाई टी पर मंत्री के बंगले पर गए थे। 

दोनों सिपाहियों मेला राम प्रधान और विक्रम वर्मा ने इसकी जानकारी अधिकारियों को भी नहीं दी थी। बिना जानकारी के हाई टी पर जाना अधिकारियाें काे नागवार गुजरा। हालांकि अधिकारी कार्रवाई के पीछे प्रशासनिक कारण बता रहे हैं। चर्चा इस बात की भी है कि दोनों कांस्टेबल मंत्री के बंगले पर सम्मान मिलने के बाद अगल से उपहार लेने के लिए पहुंचे थे। मामले की जानकारी सामने आने के बाद अधिकारियों ने अनुशासनहीनता के चलते दोनों कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना