फोरलेन / भाजपा दफ्तर के आगे रुकी रायपुर-धमतरी फोरलेन सड़क, अब हटाया जाएगा ठेकेदार



work of Raipur-Dhamtari fourlen road stopped, now contractor will be removed
X
work of Raipur-Dhamtari fourlen road stopped, now contractor will be removed

  • काम शुरू हुआ नवंबर-2016 में, प्रोजेक्ट ढाई साल लेट, 75% काम बाकी

Dainik Bhaskar

May 21, 2019, 02:20 AM IST

रायपुर. ढाई साल पहले पचपेड़ीनाका से शुरू हुअा रायपुर-धमतरी फोरलेन का काम प्रदेश भाजपा कार्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर तक जाकर रुक गया है। बिलासपुर फोरलेन के बाद राजधानी को धमतरी से जोड़ने वाली इस बेहद व्यस्त फोरलेन का प्रोजेक्ट अभी ढाई साल लेट है, जबकि काम सिर्फ 25 फीसदी ही हो सका है।

 

पता चला है कि शहर के लिए बेहद महत्वपूर्ण इस सड़क का निर्माण करने वाली हैदराबाद की कंपनी जीकेसी ने भाजपा कार्यालय तक रोड बनाकर काम करने से ही मना कर दिया है। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचआई) ने कंपनी को काम शुरू करने के लिए अाधा दर्जन नोटिस दिए, लेकिन कंपनी काम नहीं करना चाहती। इसलिए एनएचअाई ने कंपनी को बर्खास्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। 

 

अप्रैल 2018 में 7-8 किमी सड़क बनाने के बाद काम बंद कर दिया

रायपुर-धमतरी फोरलेन की लागत 700 करोड़ रुपए है। राजधानी को धमतरी और जगदलपुर तक बेहतर कनेक्टिविटी के लिए इस सड़क का काम नवंबर 2016 में शुरू किया गया था। सूत्रों के मुताबिक कंपनी फरवरी-मार्च तक ठीक काम करती रही, लेकिन अप्रैल 2018 में पचपेड़ीनाका से 7-8 किमी सड़क बनाने के बाद काम पूरी तरह बंद कर दिया गया। महीनों काम बंद रहने के बाद एनएचआई ने दुर्ग की कंपनी को सड़क बनाने की जिम्मेदारी दी है। यही नहीं, पुराने ठेकेदार को टर्मिनेट करने के बाद नए सिरे से टेंडर जारी किया जा सकता है। ऐसे में रायपुर से रोजाना धमतरी अाने-जाने वाले डेढ़ लाख से ज्यादा वाहनों को फोरलेन सड़क की सुविधा दो-ढाई साल से पहले मिलना मुश्किल है।

 

धूल-गड्ढों से बढ़े हादसे
राजधानी से कुछ दूर तक सड़क बनाने के बाद काम छोड़ देने से मौजूदा सड़क की हालत खराब हो गई है। मौजूदा सड़क के अाधे हिस्से में काम चालू किया गया था, इसलिए शेष अाधा हिस्सा सिंगल रोड हो गया है, जबकि यह नेशनल हाईवे है। दूसरे हिस्से में धूल और गड्ढों से इतने हादसे हो रहे हैं कि कुछ दिन पहले धमतरी कलेक्टर रजत बंसल ने जिम्मेदार अफसरों और ठेकेदारों की बैठक बुला ली थी। उन्होंने बरसात से पहले गड्ढे भरने की चेतावनी दी थी ताकि लोगों की परेशानी कम हो और हादसों का खतरा टले।  


दो हिस्से में बननी है सड़क
रायपुर से धमतरी तक इस सड़क को दो हिस्से में फोरलेन करने का काम स्वीकृत हुआ है। पहला हिस्सा रायपुर से कोड़ेबोड़ 33 किमी और दूसरा 39 किमी का है। इसी काम में सांकरा से श्यामतराई बायपास रोड (11 किमी) भी शामिल है। इस काम की लागत करीब 304 करोड़ रुपए है। पूरे हिस्से की सड़क को बनाने में 700 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसके अलावा इस प्रोजेक्ट में जमीन अधिग्रहण के बदले लोगों को करीब 600 करोड़ का मुआवजा बांटा गया है। 

 

अधिकांश प्रोजेक्ट लेट, ठेकेदारों को हटाना पड़ा

  • रायुपर-बिलासपुर फाेरलेन की निर्माण एजेंसी सबसे पहले हुई बर्खास्त। अब काम हाईकोर्ट की निगरानी में। 
  • रायपुर-धमतरी फोरलेन बनाने का जिम्मा नई एजेंसी को दे दिया गया। इसका ठेकेदार भी बर्खास्त होगा।
  • राजधानी के चर्चित स्काई वॉक को समय पर पूरा नहीं करने पर इस काम में दूसरी एजेंसी जोड़नी पड़ी। 
  • गोगांव क्रॉसिंग पर अंडरब्रिज बनाने वाली एजेंसी ने तीन साल में काम नहीं किया, दूसरी एजेंसी जोड़ी गई। 
  • केनाल रोड पर लालपुर के पास बन रहे फ्लाईओवर का काम धीमा। यहां भी नई एजेंसी को काम दिया गया है।

अब दुर्ग की एक एजेंसी बनाएगी सड़क

एनएचआई के क्षेत्रीय अधिकारी बीएल मीणा ने कहा कि पुरानी कंपनी को टर्मिनेच करने की फ्रक्रिया शुरू की है। सड़क बनाने का काम अभी दुर्ग की एक एजेंसी को दिया गया है। पूरी फोरलेन का टेंडर नए सिरे से जारी होगा

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना