एक ही फार्मा कंपनी की 3 दवा फेल, एक हजार पन्नों का चालान बना रहा है विभाग

Rajnandgaon News - क्रिश्चियन फैलोशिप मोतियाबिंद ऑपरेशन मामले में कोलकत्ता से भेजे गए सभी ड्रग सैंपल की जांच रिपोर्ट आ चुकी है। एक...

Aug 22, 2019, 09:50 PM IST
क्रिश्चियन फैलोशिप मोतियाबिंद ऑपरेशन मामले में कोलकत्ता से भेजे गए सभी ड्रग सैंपल की जांच रिपोर्ट आ चुकी है। एक ही फार्मा कंपनी के तीन ड्रग सैंपल फेल हुए है। ड्रग विभाग एक हजार पन्नों का चालान तैयार कर रहा है। जल्द मामले को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

एक साल चार महीने पहले हुए इस कांड में अस्पताल प्रबंधन ने ड्रग में गड़बड़ी होने के दावा किया था। इसके बाद कोलकत्ता लैब में 15 दवाईयों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। जिसमें से एक एक कर रिपोर्ट भेजे गए। सभी सैंपल का रिपोर्ट आने के बाद डिपार्टमेंट ने आगे की कार्रवाई शुरू की। जिन सैंपलों को फेल करार दिया गया, उसके संबंध में जानकारी जुटाई गई। कंपनी का पता लगाकर अब कोर्ट केस की तैयारी की जा रही है।

जानिए, क्या है मामला: 2018 फरवरी के आखिर में क्रिश्चियन फैलोशिप अस्पताल में मोतियाबिंद का ऑपरेशन किया गया था। ऑपरेशन से 42 लोगों के आंखों में संक्रमण फैल गया था। कई लोगों की एक आंख खराब हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने पीड़ितों की रिपोर्ट तैयार की और रायपुर हेड ऑफिस में भेजा। मामले में तत्कालीन कलेक्टर भीम सिंह ने क्रिश्चियन फैलोशिप अस्पताल का लाइसेंस 6 महीने के सस्पेंड कर दिया था।

अब आगे जल्द ही न्यायालय में पेश करेंगे मामला

सभी ड्रग सैंपल की रिपोर्ट आ चुकी है। कार्रवाई अंतिम चरण में है। एक ही कंपनी के तीन ड्रग सैंपल फेल हुए है। चालान बनाया जा रहा है। जल्द ही मामले को कोर्ट में पेश किया जाएगा। संजय झाड़ेकर, ड्रग इंस्पेक्टर

मोतियाबिंद अॉपरेशन कांड

क्रिश्चियन फेलोशिप अस्पताल में 30 मरीजों की आंखों की रोशनी जाने का मामला

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना