489 भूखंड अवैध प्लाटिंग के दायरे में, खरीदी-बिक्री, नामांतरण पर रोक

Rajnandgaon News - अवैध प्लाटिंग मामलों की जांच के बाद शहर सहित राजनांदगांव अनुविभाग के 489 भूखंड अवैध प्लाटिंग के दायरे में है।...

Oct 13, 2019, 07:35 AM IST
अवैध प्लाटिंग मामलों की जांच के बाद शहर सहित राजनांदगांव अनुविभाग के 489 भूखंड अवैध प्लाटिंग के दायरे में है। एसडीएम को प्लाटिंग की जांच के लिए कलेक्टर ने निर्देशित किया था, जांच रिपोर्ट में 489 खसरों के भूखंड को अवैध प्लाट निर्धारित किया गया है। इसके बाद से इनकी खरीदी-बिक्री और नामांतरण पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। वहीं ऐसे खसरों के संबंध में नोटिफिकेशन जारी कर 15 दिन के भीतर दस्तावेज मंगाए गए हैं। ताकि उनकी जांच व आगे की कार्रवाई हो सके।

नगर निगम से शनिवार को ही सार्वजनिक सूचना जारी कर खरीदी और बिक्री करने वाले पक्षों को पूरे दस्तावेजों के साथ पेश होने कहा गया है। शहरी क्षेत्र के अवैध प्लाटिंग की सुनवाई नगर निगम आयुक्त करेंगे, वहीं ग्रामीण क्षेत्र के लिए एसडीएम को जिम्मेदारी सौंपी गई है। दोनों पक्षों की सुनवाई और दस्तावेजों की जांच के बाद कार्रवाई की दिशा तय होगी। हालाकि कलेक्टर ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है, कि जो अवैध प्लाट बेचे जा चुके है, उनके खरीददारों को बड़ी दिक्कत नहीं है। उन्हें केवल विकास शुल्क देना होगा, वहीं जिन प्लाटों की बिक्री नहीं हुई है,उन्हें प्रशासन राजसात करेगा। 15 दिन की प्रक्रिया के बाद इन अवैध प्लाटिंग पर कार्रवाई की स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

नियम, शर्तों का उल्लंघन बताते हुए कलेक्टर ने कहा है कि ऐसी स्थिति में जमीन विवाद और कानून व्यवस्था बिगड़ने की नौबत आती है। नगरीय निकायों व ग्राम पंचायतों के मामलों में सक्षम प्राधिकारी द्वारा विभिन्न पक्षकारों की सुनवाई कर जब तक अंतिम आदेश पारित नहीं किया जाता है, तब तक खसरों की खरीदी-बिक्री नहीं की जा सकती।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना