यहां पीने का पानी की सबसे बड़ी समस्या सालभर टैंकर के भरोसे रहते हैं वार्डवासी

Rajnandgaon News - राजनांदगांव| शहर का वार्ड-2 महात्मा बुद्ध वार्ड। यहां सबसे बड़ी समस्या पीने के पानी की है। इस हिस्से में ओवरहेड टंकी...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:56 AM IST
Rajnandgaon News - chhattisgarh news here the biggest problem of drinking water is the warders who rely on tankers throughout the year
राजनांदगांव| शहर का वार्ड-2 महात्मा बुद्ध वार्ड। यहां सबसे बड़ी समस्या पीने के पानी की है। इस हिस्से में ओवरहेड टंकी से सप्लाई होने वाला पानी नहीं पहुंचता। भागीरथी योजना के तहत सालों पहले नल कनेक्शन को दिए गए हैं, लेकिन यहां से पर्याप्त पानी कभी किसी को नहीं मिला। इसकी वजह से लोगों को पीने से लेकर निस्तारी के पानी के लिए सालभर टैंकरों के भरोसे ही रहना पड़ता है। अब अमृत मिशन के तहत यहां ओवरहेड टंकी का निर्माण हो रहा है। दावा है कि इस गर्मी के पहले वार्ड से जलसंकट खत्म हो जाएगा। हर घर पानी पहुंचेगा।

वार्ड की तस्वीर

2325

वार्ड की आबादी

1992

मतदाता

550

मकान

वार्ड के लोगों की जुबानी वो बातें जो कोई अफसर सुनता नहीं

ढाई साल से दावे, पानी कब मिलेगा पता नहीं

वार्डवासी मीनाक्षी वर्मा ने बताया कि वार्ड में पानी की समस्या सबसे बड़ी है। सालों से इसके लिए हम मांग कर रहे हैं, अब तक समस्या दूर नहीं हो सकी है। अमृत मिशन पूरा होने के बाद पानी मिलने का दावा किया जा रहा है। ये दावा भी बीते ढाई साल से जारी है। अब तक टंकी का भी काम पूरा नहीं हो सका है।

सर्वे : आइए लोगों से जानें व्यवस्था से कितने संतुष्ट हैं-

1. क्या आपके मोहल्ले में समय से पीने का पानी आता है?

02%

लोगों ने कहा- हां

बातें जो वार्ड के लोग चाहते हैं

  टोकेश्वर ध्रुव, पार्षद, वार्ड 2


-पाइप लाइन नहीं होने की वजह से ऐसी स्थिति है। अमृत मिशन के तहत टंकी निर्माण का काम चल रहा है।


-पहले एक या दो टैंकर से ही पानी वार्ड में पहुंचता रहा, मैंने इसकी संख्या बढ़वाई और फेरे भी बढ़ाए, जिससे लोगों की दिक्कत कम हुई।


-महिला भवन, मिनी स्टेडियम और हाट बाजार बनाने के लिए शासन से फंड ही नहीं आया, इसके चलते काम शुरू नहीं हो सका।


-4 सफाईकर्मी हैं, जो नियमित रूप से सफाई करते हैं, मंै खुद इसकी माॅनिटरिंग करता हूं।



अगला वार्ड: मोतीपुर, वार्ड-3

वार्ड-2: महात्मा बुद्ध

98%

पानी टैंकर के इंतजार में ही बीत रहा पूरा दिन

वार्डवासी कुमारी बाई ने बताया कि उनका आधा समय तो टैंकर के इंतजार और पहुंचने पर उससे पानी भरने में बीत जाता है। गर्मी में यह समस्या सबसे अधिक रहती है। कई बार इसे लेकर निगम कार्यालय पहुंच चुके हैं, प्रदर्शन भी पानी के लिए हो चुका है। लेकिन समस्या खत्म ही नहीं हो रही।

लोगों ने कहा- नहीं



पाइप लाइन नहीं होने से संकट, पहले एक-दो टैंकर पहुंच रहा था, मैंने इसकी संख्या बढ़ाई और फेरे भी

वह काम जो रह गए अधूरे

2. क्या रोजाना सफाई कर्मी आपके घर के सामने झाड़ू लगाते हंै?

बिजली व्यवस्था पर्याप्त नहीं, अंधेरे में डूबा वार्ड

वार्डवासी दीपक ने बताया कि रात में वार्ड में अंधेरा पसरने से भी परेशानी बढ़ जाती है। बिजली की पर्याप्त व्यवस्था वार्ड में नहीं है। भीतरी की गलियों में तो कुछ हिस्सों में लाइटें लगी है। लेकिन मुख्य मार्ग से ही जुड़े हिस्से अंधेरे में डूबे रहते हंै, इसकी वजह से खासकर बच्चों को दिक्कत हो रही है।

ये हैं चुनौतियां

04

सफाईकर्मी

02

कचरा गाड़ी

00

पानी टंकी

30%

लोगों ने

कहा- हां

70%

लोगों ने कहा- नहीं

X
Rajnandgaon News - chhattisgarh news here the biggest problem of drinking water is the warders who rely on tankers throughout the year
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना