200 से अधिक स्कूलों में बाउंड्रीवाॅल नहीं

Rajnandgaon News - जिले में संचालित 200 से अधिक मिडिल और प्रायमरी स्कूल में बाउंड्रीवाल का निर्माण नहीं किया गया है। ऐसे में यहां किचन...

Jan 16, 2020, 07:46 AM IST
Rajnandgaon News - chhattisgarh news more than 200 schools have no boundary wall
जिले में संचालित 200 से अधिक मिडिल और प्रायमरी स्कूल में बाउंड्रीवाल का निर्माण नहीं किया गया है। ऐसे में यहां किचन गार्डन बना पाना संभव नहीं है। यदि किचन गार्डन बनाना ही है तो पहले स्कूलों में बाउंड्रीवाल का निर्माण कराना आवश्यक है। इसके लिए जल्द ही शिक्षा विभाग शासन को प्रस्ताव भेजेगा। तैयारी शुरू कर दी गई है। बजट आने के बाद बाउंड्रीवाल का निर्माण कराया जाएगा।

मध्याह्न भोजन में हरी सब्जी की मात्रा भरपूर हो इसलिए शिक्षा विभाग स्कूलों में किचन गार्डन डेवलप करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। दिसंबर में डीईओ हेमंत उपाध्याय ने आदेश जारी कर मध्याह्न भोजन संचालित करने वाले सभी स्कूलों में किचन गार्डन बनाने कहा था। जनवरी के दूसरे सप्ताह तक 1500 स्कूलों में गार्डन बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। लक्ष्य के मुताबिक 1400 से अधिक स्कूलों में किचन गार्डन का निर्माण पूरा हो चुका है। शेष स्कूलों में जारी है, लेकिन जिन स्कूलों में बाउंड्रीवाल नहीं है, वहां पर काम अटक रहा है। गौरतलब है कि मध्याह्न भोजन में हर दिन एक ही तरह की सब्जी परोसने की शिकायत बढ़ गई थी। जिसके बाद डीईओ ने किचन गार्डन डेवलप कराने का फैसला किया। यदि खुले परिसर में किचन गार्डन का निर्माण किया जाता है तो सब्जियों को मवेशी खा जाएंगे। इसलिए बाउंड्रीवाल की जरूरत है। वहीं बाउंड्रीवाल बन जाने से स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे दुर्घटनाओं से भी सुरक्षित रहेंगे। किचन गार्डन बनाने के लिए शाला विकास समिति के मद से राशि खर्च करने कहा गया है। इसके अलावा जो महिला समूह मध्यान्ह भोजन का संचालन कर रहीं है, उन्हें इस कार्य में सपोर्ट करने कहा गया है, क्योंकि गार्डन में तैयार हुई सब्जियां उनके ही काम आने वाली है।

राजनांदगांव.ग्राम जारवाही स्कूल में तैयार किया गया है किचन गार्डन।

जारवाही स्कूल में तैयार गार्डन मॉडल से कम नहीं

शासकीय पूर्व माध्यमिक स्कूल जारवाही संकुल बीजाभाठ में किचन गार्डन तैयार किया गया है। स्कूल का में एक तरफ बाउंड्रीवाल नहीं थी। ग्राम पंचायत की ओर से निर्माण कराया गया, इसके बाद यहां सब्जियां उगाई गई। जिसमें धनिया, मैथी, पालक, लालभाजी, चौलाई, फूलगोभी, पत्तागोभी, टमाटर, बैगन शामिल है।

बजट के अनुसार ही स्कूलों में काम किया जाएगा


X
Rajnandgaon News - chhattisgarh news more than 200 schools have no boundary wall
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना