खरीदी बंद, 26 लाख 57 हजार क्विंटल धान की रखवाली की चिंता, 15 मार्च तक उठाव का दावा

Rajnandgaon News - जिले में 20 फरवरी से धान की खरीदी तो बंद हो गई पर अब भी समिति प्रबंधकों की चिंता दूर नहीं हुआ है। मार्कफेड की ओर से...

Feb 22, 2020, 07:56 AM IST

जिले में 20 फरवरी से धान की खरीदी तो बंद हो गई पर अब भी समिति प्रबंधकों की चिंता दूर नहीं हुआ है। मार्कफेड की ओर से उठाव में देरी किए जाने की वजह से खरीदी केन्द्रों में 26 लाख 57 हजार 658.34 क्विंटल धान जाम पड़ा हुआ है। इधर मौसम विभाग की ओर से 23 और 24 फरवरी को बारिश की संभावना बताए जाने से परेशानी बढ़ गई है। समितियां पहले से ही धान के रखरखाव में नुकसान झेल रही हैं।

मार्कफेड के अफसर दावा कर रहे हैं कि 15 मार्च तक 117 खरीदी केन्द्र से धान का उठाव पूरा कर लिया जाएगा। वर्तमान स्थिति देखकर लग रहा है कि उठाव में लगभग एक माह का समय और लगेगा। दरअसल मार्कफेड की ओर से मिलर्स को डीओ जारी करना बंद कर दिया था। अब धान की खरीदी बंद होते ही डीओ जारी कर रहे हैं।

डीओ जारी कर रहे: दुर्ग के मिलर्स को भी डीओ जारी कर चुके हैं। ट्रांसपोर्टरों को भी तेजी से उठाव करने कहा गया है। इधर समिति प्रबंधकों की ओर से नुकसान के डर से जल्द ही धान का उठाव करने बार-बार गुहार लगाई जा रही है। प्रबंधकों का कहना है कि देरी की वजह से इस बार शॉर्टेज आएगा। इससे समितियों को नुकसान झेलना होगा। जबकि मार्कफेड की वजह से यह सब हो रहा है। जिले में 20 फरवरी तक लक्ष्य से अधिक 6753000.50 क्विंटल धान की खरीदी कर ली गई है। कुल 1 लाख 65 हजार 266 किसानों ने धान बेचा है। परिवहन की स्थिति 40 लाख 95 हजार 342.16 है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना