सुरक्षा सप्ताह में खुलेआम तोड़ रहे हैं नियम सीट ही नहीं बाइक की टंकी पर भी सवारी

Rajnandgaon News - यातायात सुरक्षा सप्ताह के चलते ट्रैफिक पुलिसिंग निबंध और स्लोगन लिखवाने में ही सिमट चुकी है। इधर शहर में खुलेआम...

Jan 15, 2020, 07:45 AM IST
Rajnandgaon News - chhattisgarh news rules are being broken openly in the safety week not only the seat but also the ride on the bike tank
यातायात सुरक्षा सप्ताह के चलते ट्रैफिक पुलिसिंग निबंध और स्लोगन लिखवाने में ही सिमट चुकी है। इधर शहर में खुलेआम ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। जिन पर रोक लगाने में पुलिस नाकाम साबित हो रही है। चालानी कार्रवाई की बात तो छोड़ ही दीजिए। बीता साल 2019 मोटर यान अधिनियम के सिर्फ दो प्रकरणों में ही सिमट कर रह गया। जबकि इसी साल पहले से अधिक 960 सड़क दुर्घटनाएं हुई, जिनमें मरने वालों की संख्या 313 थीं।

शहर की ट्रैफिक व्यवस्था दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है। संभालने की बात पर पुलिस अफसर बल की कमी का हवाला देते है। जबकि आईजी ने पहली ही बैठक में शहर में यातायात व्यवस्था बेहतर बनाने के निर्देश दिए थे। लेकिन पुलिस व्यवस्था तो दूर योजना बनाने में भी पीछे रह गई है। नियमों को तोड़ने वाले वाहन चालकों पर कार्रवाई नहीं की जा रही है, ऐसे में हालात बेकाबू होते जा रहे है, नतीजा सड़क हादसों में तब्दिल हो रहा है। प्राप्त जानकारी अनुसार साल 2017 में पुलिस ने मोटर यान अधिनियम के तहत 35प्रकरण दर्ज किए थे। इस वर्ष 21552 मामलों में समन शुल्क वसूला गया। साल 2018 में मोटर यान अधिनियम के तहत एक भी कार्रवाई नहीं हुई। इस वर्ष समन शुल्क वसूली प्रकरण नीचे गिरकर 8822 में पहुंच गया। साल 2019 में अधिनियम के तहत सिर्फ दो प्रकरण दर्ज किए गए। 14870 मामलों में समन शुल्क वसूल किया गया।

जवानों की तैनाती के बीच हर रोज तोड़े जा रहे नियम: हाल कुछ ऐसा है कि शहर के चौक चौराहों में लगे सिग्नल पर हर रोज जवानों की तैनाती के बीच वाहन चालक यातायात नियमों को तोड़ते दिखाई दे जाते हैं। कई लोग तो बंद सिग्नल के बावजूद मोबाइल पर बात करते हुए ही सड़क क्रास कर जाते है। फिर भी उनपर चालानी कार्रवाई नहीं की जाती है, ऐसे में नियमों का खुला उल्लंघन करने वालों को सबक नहीं मिल पा रहा है। जिले में लगातार सड़क दुर्घटना के बाद भी लोग नहीं चेत रहे हैं।

लापरवाही के कारण जा रही जान
ऐसा दिखा नजारा: तीन-चार सवारी वह भी बिना हेलमेट के

राजनांदगांव. देखिए इस तरह जान जोखिम में डालकर सड़क पर चलते हैं लोग।

पिछले साल 960 सड़क हादसे में 313 की मौत

साल 2019 में जिले में 960 सड़क हादसे हुए। जिसमें 313 लोगों की मौत हो गई, जबकि 1100 लोग घायल हुए। जबकि 2018 में 905 सड़क हादसे हुए थे, मृतकों की संख्या 287 और 961 लोग घायल हुए थे। यानी 2019 में 55 दुर्घटनाएं अधिक हुईं। कार्रवाई नहीं होने के कारण सड़क हादसे में साल दर साल वृद्धि हो रही है।

जरूर सख्ती बरती जाएगी


Rajnandgaon News - chhattisgarh news rules are being broken openly in the safety week not only the seat but also the ride on the bike tank
Rajnandgaon News - chhattisgarh news rules are being broken openly in the safety week not only the seat but also the ride on the bike tank
X
Rajnandgaon News - chhattisgarh news rules are being broken openly in the safety week not only the seat but also the ride on the bike tank
Rajnandgaon News - chhattisgarh news rules are being broken openly in the safety week not only the seat but also the ride on the bike tank
Rajnandgaon News - chhattisgarh news rules are being broken openly in the safety week not only the seat but also the ride on the bike tank
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना