रेशम के धागों का मजबूत बंधन; पेड़ों को राखी बांध बहनें खुद लेंगी रक्षा का संकल्प

Rajnandgaon News - कर्णकांत श्रीवास्तव | राजनांदगांव जिले में पहली बार बहनें राखी बांधकर पेड़ पौधों के सुरक्षा का संकल्प लेंगी। इस...

Aug 14, 2019, 09:00 AM IST
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
कर्णकांत श्रीवास्तव | राजनांदगांव

जिले में पहली बार बहनें राखी बांधकर पेड़ पौधों के सुरक्षा का संकल्प लेंगी। इस अनूठी पहल की शुरुआत खैरागढ़ ब्लॉक के 114 गांवों में हो चुकी है। अभियान से जुड़ी करीब 1100 महिलाएं खुद ही तीन हजार से अधिक राखियां तैयार कर रही हैं। 15 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन इन राखियों को गांव के पेड़ पौधों को बांधा जाएगा। खास बात ये है कि यह राखियां सूखे गोबर और मौली धागा से बनाई जा रही है। जो न सिर्फ पेड़ पौधों की खाद की जरूरत पूरी करेगी बल्कि मिट्टी की पानी रोकने की क्षमता को भी विकसित करेगी।

खैरागढ़ के युवा, बुजुर्ग ने मिलकर अप्रैल मई में निर्मल त्रिवेणी अभियान की शुरुआत की। नदी के पानी की साफ सफाई की। इस दौरान मुहिम से जुड़े लोगों को जल संरक्षण का ख्याल आया। तो फिर नदी किनारे व आसपास के खाली जमीनों में सैकड़ों पौधे रोपे गए। पौधों की सुरक्षा के लिए सुरक्षा घेरे लगाए गए। पौधों और पेड़ों की सुरक्षा निरंतर होते रहे, इसलिए पहली राखी पेड़ों को नाम से अभियान का आगाज हुआ। बिहान स्वच्छग्राही स्व सहायता समूह की महिलाओं की बैठक लेकर गोबर और मौली धागा से राखी बनाने कहा गया।

निर्मल त्रिवेणी अभियान की शुरुआत हुई तो जल संरक्षण पर भी किया फोकस

राजनांदगांव. गांवों में राखियां तैयार करती महिलाएं।

इस तरह दिखती है गोबर और मौली धागे से बनी राखियां।

मुक्तिधाम में पहली बार प्रवेश करेंगी महिलाएं

अच्छी बात ये है कि राखियों को बनाने के लिए जो भी खर्च हो रहें है। वो महिलाएं स्वयं कर रही है। दिलचस्प बात ये है कि खैरागढ़ दाऊचौरा स्थित मुक्तिधाम में महिलाएं जाकर पेड़ों को राखी बांधेंगी। पहली बार है जब महिलाएं मुक्तिधाम में प्रवेश करेंगी, क्योंकि हिंदू धर्म में मुक्तिधाम में महिलाओं के प्रवेश को वर्जित रखा गया है।

भूजल स्तर बढ़ाने की क्षमता: चंूकि पेड़ और पौधों को बांधने के लिए सूखे गोबर की राखियां तैयार की जा रही है। गोबर को खाद की तरह इस्तेमाल किया जाता है। गोबर में नाइट्रोजन, पोटाश और फॉस्फोरस की मात्रा रहती है। यह पेड़ पौधों को संपूर्ण आहार देता है। जमीन के पानी रोकने की क्षमता को भी विकसित करता है। जो अन्य रसायनिक खाद नहीं कर पाते है। - डॉ. बीएस ठाकुर, कृषि वैज्ञानिक, केवीके

रोचक: पीपल का पेड़ देता है सर्वाधिक ऑक्सीजन

कृषि वैज्ञानिक डॉ. बीएस राजपूत की मानंे तो पीपल के पेड़ का विस्तार बहुत अधिक होता है। पीपल के पेड़ के साथ कई धार्मिक भावनाएं भी जुड़ी होती है। पीपल का पेड़ ही रात में ऑक्सीजन देता है। पीपल का पेड़ अन्य पेड़ों के मुकाबले ज्यादा ऑक्सीजन देता है। दिन में 22 घंटे से भी ज्यादा समय तक ऑक्सीजन देता है।

हम करेंगे रक्षा

मंडला के सरिता देशलहरे ने बताया कि जिस तरह हम भाईयों के हाथ में राखी बांधकर हमारी सुरक्षा करने का वचन लेते है। इसी तरह हम पेड़ों को भी राखी बांधेंगे।

इस दिशा में अच्छी पहल: सामाजिक कार्यकर्ता बैद्यनाथ वर्मा ने कहा कि रक्षाबंधन के महापर्व में हमारी खैरागढ़ की बहनों गोबर की कंडे से राखी का निर्माण कर रही है यह राखी पेड़ों को कटने से बचाने के लिए बहनें संकल्प ले कर पेड़ों को बांधेंगी।

मुझे खुशी है

ग्राम साल्हेभरी के नीरा साहू ने कहा कि भाई तो है पर पेड़ जैसे भाई नहीं। भाई तो कभी-कभी रक्षा करते हैं लेकिन पेड़ मेरी अंतिम सांस तक रक्षा करेंगे। इसलिए इस बार पहली राखी पेड़ों को।

यह तीसरा चरण है: भागवत शरण सिंह ने बताया कि हमने नदी को बचाने के लिए अप्रैल मई में निर्मल त्रिवेणी अभियान की शुरुआत की थी। इसके बाद दूसरे चरण में पौधरोपण किया और अब पेड़ों को रक्षासूत्र बांधेंगे। अच्छी पहल है।

Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
X
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
Rajnandgaon News - chhattisgarh news strong binding of silk threads rakhi dam sisters will take the resolve to protect themselves
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना