• Hindi News
  • Coronavirus
  • Corona New Variant| Omicron Variant In India| 5th Omicron Case Found In Indian In Delhi

एक दिन में ओमिक्रॉन के 18 केस:राजस्थान में एक परिवार के 4 सदस्यों समेत 9 लोगों में नए वैरिएंट की पुष्टि, महाराष्ट्र में 8 और दिल्ली में एक केस मिला

2 महीने पहले

देश में रविवार को ओमिक्रॉन के एक साथ 18 केस मिले हैं। इनमें राजस्थान में सबसे ज्यादा 9 मरीज हैं। यहां एक परिवार के 4 सदस्य हाल में दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे। उनके संपर्क में आए 5 और लोगों में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है। इससे पहले पुणे में एक और इससे सटे जिले पिंपरी चिंचवड़ में 7 लोगों में नया वैरिएंट मिला था। दिल्ली में भी एक मरीज इससे संक्रमित मिला है। इसके साथ ही देश में इस वैरिएंट के 5 राज्यों में 22 केस हो गए हैं।

दक्षिण अफ्रीका से लौटा था राजस्थान का परिवार
राजस्थान के संक्रमित मिले परिवार के 4 सदस्य 25 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से दुबई और मुंबई होते हुए जयपुर पहुंचे थे। यहां इनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। इनके सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे। उसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। यह परिवार राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (RUHS) में भर्ती है। इनमें माता-पिता के साथ दो बच्चे शामिल हैं।

दुबई और मुंबई में भी इस परिवार की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। इसके बाद ये जयपुर पहुंचे और 28 नवंबर को जयपुर में सिटी पैलेस में एक शादी-समारोह में शामिल हुए। इसी दौरान आदर्श नगर के एक व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उसकी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की गई, तो पता चला कि दक्षिण अफ्रीका से लौटा परिवार भी मिलने आया था। इस परिवार के सैंपल लिए तो एक दिसंबर को इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। ट्रैवल हिस्ट्री से पूरे मामले का पता चला। पढ़ें पूरी खबर...

महाराष्ट्र में एक दिन में 8 मामले
इससे पहले महाराष्ट्र में रविवार को ही ओमिक्रॉन के 8 नए मामले मिले। पिंपरी चिंचवड़ जिले में कोरोना पॉजिटिव पाए गए 7 लोगों के सैंपल्स जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे। इसमें कोरोना के नए वैरिएंट की पुष्टि हुई। इन सभी को क्वारैंटाइन कर दिया गया है। डिस्ट्रिक्ट हेल्थ ऑफिसर भगवान पवार ने बताया कि पुणे के आलंदी में एक शख्स ओमिक्रॉन से संक्रमित हुआ है। वहीं, महा नगरपालिका आयुक्त राजेश पाटिल ने बताया कि आलंदी के शख्स का सैंपल दोबारा जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजा गया है। इसकी रिपोर्ट सोमवार को आएगी।

पिंपरी चिंचवड़ में ओमिक्रॉन से संक्रमित मिले 7 लोगों में से 4 अभी विदेश से लौटे थे। इन सभी का टेस्ट कराया गया था, जिसमें ये पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद इनके संपर्क में आने वाले 3 अन्य का भी टेस्ट कराया गया था। ये तीनों भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इन सभी के सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे, जिसकी रिपोर्ट रविवार को आई है। संक्रमितों में नाइजीरिया से आई एक महिला, उसका भाई और दो बेटियां भी शामिल हैं। पढ़ें पूरी खबर...

दिल्ली में तंजानिया से आया शख्स संक्रमित
दिल्ली में भी ओमिक्रॉन के पहले केस का पता चला है। ​​​​​​दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि संक्रमित तंजानिया से आया था। एयरपोर्ट पर जांच के बाद उसके ओमिक्रॉन संक्रमित होने की जानकारी मिली। उसे दिल्ली के LNJP अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

LNJP अस्पताल के MD सुरेश कुमार ने बताया कि अस्पताल में भर्ती ओमिक्रॉन मरीज के गले में सूजन, थकान और शरीर में दर्द के लक्षण दिख रहे हैं। संक्रमित ने वैक्सीन के दोनों डोज ले लिए थे, इसलिए उस पर हल्के लक्षण ही नजर आ रहे हैं।

देश में ओमिक्रॉन के पिछले 4 मामले

  • कर्नाटक: सबसे पहले कर्नाटक में गुरुवार को दो मरीज मिले। इनमें एक विदेशी है, जो नवंबर में भारत आया था।
  • गुजरात: तीसरा केस गुजरात के जामनगर शहर में मिला है। ओमिक्रॉन से संक्रमित मिला शख्स 28 नवंबर को जिम्बाब्वे से जामनगर आया था।
  • महाराष्ट्र: भारत में ओमिक्रॉन का चौथा केस शनिवार को महाराष्ट्र में मिला। मुंबई के पास कल्याण डोंबिवली का रहने वाला यह शख्स साउथ अफ्रीका से लौटा था।

देश में आने वाले यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन्स​​​​​
कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर बढ़ती चिंता के बीच इंटरनेशनल पैसेंजर्स के लिए नई गाइडलाइन आज से लागू कर दी गई है। केंद्र ने 28 से 30 नवंबर के बीच ये गाइडलाइंस जारी की थीं। इसमें बताया गया है कि एट रिस्क देशों से आने वाले पैसेंजर्स को RT-PCR टेस्ट कराना जरूरी होगा। पैसेंजर्स को रिजल्ट आने तक एयरपोर्ट पर ही इंतजार करना होगा। सभी एयरपोर्ट्स पर अतिरिक्त RT-PCR फैसिलिटी की व्यवस्था की जाएगी।

फॉर्म में बतानी होगी ट्रैवल हिस्ट्री
'एट रिस्क' वाले देशों को छोड़कर बाकी देशों के यात्रियों को एयरपोर्ट से बाहर जाने की अनुमति होगी। उन्हें 14 दिन के लिए सेल्फ मॉनिटरिंग करनी होगी। ओमिक्रॉन के खतरे की श्रेणी से जिन देशों को बाहर रखा गया है, वहां से आने वाले यात्रियों में 5% की टेस्टिंग जरूर की जाएगी। इसके मुताबिक, अब एयर सुविधा पोर्टल पर मौजूद सेल्फ डेक्लेरेशन फॉर्म में सभी इंटरनेशनल पैसेंजर्स को फ्लाइट बोर्ड करने से पहले अपनी 14 दिन की ट्रैवल हिस्ट्री बतानी होगी।

खबरें और भी हैं...