फैक्ट चेक:पालतू जानवर भी हो चुके हैं कोरोना का शिकार लेकिन इनसे अभी मनुष्यों में संक्रमण फैलने का प्रमाण नहीं

नईदिल्ली2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • क्या वायरल : दावा किया गया है कि पालतू जानवरों खासतौर से कुत्तों से दूर रहें क्योंकि इससे कोरोनावायरस का संक्रमण हो सकता है
  • क्या सच : पालतू जानवरों में कोरोनावायरस होने के कुछ मामले सामने आ चुके हैं, लेकिन अभी तक जानवरों से मनुष्य में वायरस ट्रांसमिट होने का कोई प्रमाण सामने नहीं आया। हालांकि सभी संस्थाएं जानवरों के साथ पूरी सावधानी बरतने की सलाह दे रही हैं

अमेरिका की ब्रोनक्स जू में एक बाघिन के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद से ही सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि जानवरों से दूर रहें क्योंकि इनसे भी कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। अब दावा किया गया है कि पालतू कुत्ते-बिल्ली भी कोरोनावायरस ट्रांसमिट कर सकते हैं। इसलिए इन जानवरों से दूर रहें। फेसबुक पर एक यूजर ने लिखा कि, ' जानवरों से इंटरैक्ट करते हैं तो ज्यादा सावधान रहें, खासतौर से कुत्तों से।' एक अन्य यूजर ने लिखा कि, 'कुत्तों को रखने वाले सावधान रहें'। एक यूजर ने लिखा कि, 'कोविड 19 का संक्रमण आदमी से कुत्ते में, सावधान रहें'। 

क्या है सच्चाई

  • कुछ समय पहले कई इंटरनेशनल मीडिया आउटलेट्स ने यह खबर प्रकाशित की थी कि कोरोनावायरस फैलने के बाद चीन में कई जानवरों को मारा गया। खासतौर से कुत्तों को मारा गया क्योंकि लोगों को शक था कि पालतू जानवरों से कोविड-19 वायरल मनुष्यों में ट्रांसमिट हो सकता है।
  • एक बिल्ली और दो डॉग की हांगकांग में कोरोना पॉजिटिव आने की रिपोर्ट भी हमें मिली।
  • न्यूज वेबसाइट Quartz के मुताबिक, वर्ल्ड हेल्थ ओर्गनाइजेशन ने हांगकांग में पालतू जानवरों में कोविड-19 का केस पॉजिटिव मिलने के बाद अपना स्टेंड बदला।
  • डब्ल्यूएचओ ने अपना "myth busters" वाला वो पेज हटा लिया जिसमें कहा गया था कि पालतू जानवरों से कोरोनवायरस के फैलने का कोई प्रमाण नहीं है।
  • अब डब्ल्यूएचओ कहता है कि, कोविड-19 से कोरोनावायरस होने का अभी तक कोई कंफर्म केस नहीं मिला है, लेकिन जानवरों के साथ सभी जरूरी सुरक्षा सावधानियों को फॉलो किया जाना चाहिए।
  • वर्ल्ड ओर्गनाइजेशन फॉर एनिमल हेल्थ ने पालतू जानवरों के मालिकों को सलाह दी है कि, पालतू जानवरों के ज्यादा करीब न जाएं। साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें। जानवरों के पास जाते वक्त मास्क पहनना न भूलें।

क्या कहते हैं शोध

  • यूनिवर्सिटी ऑफ पेनसिल्वेनिया के स्कूल ऑफ वेटरनरी मेडिसिन की माइक्रोलॉजिस्ट शेली रैनकिन ने साइंस मैग्जीन में अपने एक आर्टिकल में सलाह दी कि, पालतू जानवरों के हिसाब से भी तैयारी रखनी चाहिए। जानवरों को भी क्वारेंटाइन करने की नौबत आ सकती है। सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की गाइडलाइन भी अन्य अंतरराष्ट्रीय संस्थानों के मुताबिक ही है।
  • भारत सरकार के पीआईबी ने कुछ समय पहले ट्वीट कर कहा था कि, जानवरों से मनुष्य में कोरोना ट्रांसमिशन का अभी तक कोई प्रमाण नहीं मिला है।
  • पीआईबी ने मालिकों से अपनी की थी कि, वे अपने जानवरों का ध्यान रखें।

निष्कर्ष : जानवरों को कोरोनावायरस होने के मामले सामने आए हैं लेकिन ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया जिससे यह साबित होता हो कि जानवर से मनुष्य में कोरोना का संक्रमण फैला। हालांकि सभी बड़े संस्थान सुरक्षा, सफाई का पूरा ध्यान रखने की सलाह देते हैं।