• Hindi News
  • Coronavirus
  • Coronavirus Vaccination (Booster Dose) Apply; National Health Authority CEO On 60 Plus Third Dose

तीसरी डोज पर बड़ी खबर:दूसरे टीके के 9 महीने बाद प्रिकॉशन डोज के लिए कर सकेंगे अप्लाई, कोविन चीफ बोले- इसे बूस्टर न कहा जाए

नई दिल्ली9 महीने पहले

कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन की तीसरी प्रिकॉशनरी डोज के लिए वही लोग अप्लाई कर सकेंगे, जिन्हें कोरोना की दूसरी डोज लगे हुए 9 महीने बीत चुके हैं। नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के CEO और कोविन चीफ डॉ. आर एस शर्मा ने सोमवार को कहा कि अगले साल 10 जनवरी से हेल्थकेयर वर्कर्स और 60 साल से ऊपर के उन लोगों को तीसरी डोज लगाने का फैसला किया गया है, जो पहले से ही बीमारियों से जूझ रहे हैं।

हालांकि डॉ. शर्मा ने इसे बूस्टर डोज कहने पर आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि तीसरे डोज को बूस्टर की जगह प्रिकॉशनरी डोज कहना बेहतर होगा।

डॉ. शर्मा ने सोमवार को ANI से कहा कि वैक्सीन की तीसरी डोज उन्हें ही मिलेगी, जिन्हें दूसरी डोज लिए 9 महीने से ज्यादा हो चुके हैं। इससे पहले 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हेल्थ वर्कर्स और गंभीर बीमारी वाले बुजुर्गों को प्रिकॉशनरी डोज देने का ऐलान किया था।

22 बीमारियां शामिल हैं कॉमोर्बिटिज लिस्ट में
डॉ. शर्मा ने बताया कि कॉमोर्बिटिज सर्टिफिकेट की डिटेल सरकार पहले ही वैक्सीनेशन कैंपेन के दौरान जारी कर चुकी है। ये डिटेल बुजुर्गों के साथ ही गंभीर बीमारियों से पीड़ित 45 से 60+ उम्र वाले लोगों का वैक्सीनेशन शुरू करने के दौरान जारी की गई थी। वही फॉर्मूला इस समय भी कॉमोर्बिटिज सर्टिफिकेट पर लागू माना जाएगा। उन्होंने बताया कि सरकार की कॉमोर्बिटिज लिस्ट में 22 बीमारियां शामिल हैं।

इस तरह की बीमारियां हैं लिस्ट में

1. डायबिटीज, किडनी डिजीज या डायलिसिस
2. कार्डियोवैस्कुलर डिजीज
3. स्टेमसेल ट्रांसप्लांट
4. कैंसर
5. सिरोसिस
6. सिकल सेल डिजीज
7. प्रोलॉन्गड यूज ऑफ स्टेरॉयड्स
8. इम्यूनोसप्रैसेंट ड्रग्स
9. मस्कुलर डिस्ट्रॉफी
10. रेसपिरेटरी सिस्टम पर एसिड अटैक
11. हाई सपोर्ट की जरूरत वाले विकलांग
12. मूकबधिर-अंधापन जैसी मल्टीपल डिसएबेलिटिज
13. गंभीर रेसपिरेटरी डिजीज से दो साल अस्पताल में रहें हों

खबरें और भी हैं...