ओमिक्रॉन की पहचान कैसे:दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टर ने कहा- ज्यादातर मरीजों में दर्द और थकान के लक्षण, RT-PCR जांच से पकड़ में आता है

7 महीने पहले

देश में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के 2 मामले सामने आने के बाद उसके लक्षण और पहचान पर बहस शुरू हो गई है। दक्षिण अफ्रीकी सरकार को ओमिक्रॉन वैरिएंट के बारे में अलर्ट करने वाली अफ्रीकी मेडिकल एसोसिएशन की अध्यक्ष एंजेलिक कोएट्जी ने इस पर जानकारी दी है।

कोएट्जी के मुताबिक ओमिक्रॉन से संक्रमित व्यक्ति के लक्षण डेल्टा वैरिएंट से अलग और हल्के हैं। ओमिक्रोन में अधिकतर थकान और सिरदर्द की शिकायत ज्यादा मिल रही है। इसके लक्षण और पहचान के बारे में और जानिए...

दक्षिण अफ्रीका में ओमिक्रॉन की रिसर्च क्या कहती है
1. ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए लोगों को बदन दर्द, तेज सिरदर्द और थकान की शिकायत।
2. किसी में गंध और स्वाद चले जाने, नाक बंद होने या बुखार की शिकायत नहीं देखी गई।
3. डेल्टा वेरिएंट के मुकाबले ओमिक्रॉन के इसके लक्षण अलग और हल्के हैं।
4. ओमिक्रॉन वैरिएंट RT-PCR जांच में पकड़ में आता है।

राजस्थान में 1 महीने में 257% कोरोना केस बढ़े, MP में 5 दिन में 90 मामले

कोएट्जी ने ही किया था दुनिया को ओमिक्रॉन से अलर्ट
एंजेलिक कोएट्जी पहली अधिकारी थीं, जिन्होंने कोरोना वायरस के नए ओमिक्रोन वैरिएंट के बारे में दक्षिण अफ्रीकी सरकार को अलर्ट किया था।

उन्होंने बताया कि अभी तक की समझ के मुताबिक रैपिड जांच से बता सकते हैं कि आपको कोरोना है या नहीं। अगर ओमिक्रॉन के संक्रमण के लक्षणों को देखें तो पता चलता है कि अगर मरीज में लक्षण डेल्टा जैसे नहीं हैं, तो वह ओमिक्रॉन से संक्रमित माना जा सकता है।

ओमिक्रॉन पर देश-दुनिया के 10 एक्सपर्ट्स की राय जानने के लिए क्लिक करें

खबरें और भी हैं...