पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Opinion
  • A Universe Exists Within Every Person, But Without Knowing It By Itself Remains Unknown. जयप्रकाश चौकसे का कॉलम

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम:हर व्यक्ति के भीतर एक ब्रह्मांड मौजूद होता है परंतु स्वयं उससे जानकर भी अनजान बना रहता है

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयप्रकाश चौकसे - Dainik Bhaskar
जयप्रकाश चौकसे

लोकप्रिय सितारों की पत्नियों का जीवन कैसा होता है? उन्हें सारे साधन प्राप्त हैं। सेवक सारा समय उनकी सेवा में हाज़िर होते हैं। सितारा पत्नियों की तरह ही सत्तासीन लोगों की पत्नियों का जीवन भी आसान नहीं होता। श्रीमती ओबामा ने बड़ी रोचक किताब लिखी है। जॉन. एफ. केनेडी के निधन के बाद उनकी पत्नी ने दूसरा विवाह एक धनाढ्य ‌‌‌‌व्यक्ति ओनासीस से किया।

एक पत्रकार ने गोताखोरी का लिबास पहनकर समुद्र में स्नान कर रहीं कैनेडी के फोटोग्राफ्स लिए थे। सनसनी फैलाने वाले पत्रकार सारा समय गैर कानूनी ताक-झांक करते हैं। प्रिंसेस डायना की कार पत्रकारों से बचने की हड़बड़ाहट में दुर्घटनाग्रस्त हुई थी और उनकी मृत्यु हो गई। लोकप्रियता की कीमत परिवार के सदस्यों को अदा करना पड़ती है।

इस तरह की साधन संपन्न पत्नियों को ऊब दीमक की तरह खोखला बना देती है। साधनों के साथ आडंबर जुड़ा होता है। उन्हें यह अतिरिक्त असबाब ढोना होता है। सभी क्षेत्रों में लोकप्रिय व्यक्तियों की पत्नियों की अपनी समस्याएं होती हैं। क्रिकेटर्स सारा समय देश-विदेश में खेलते रहते हैं। पत्नियां पेशंस नामक एकल व्यक्ति ताश का खेल खेलती हैं इस खेल का नाम ही उसका पूरा परिचय देता है।

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान कोहली की पत्नी अनुष्का शर्मा फिल्म निर्माण करती हैं। अक्षय कुमार की पत्नी ट्विंकल खन्ना साप्ताहिक कॉलम लिखती हैं। उनकी किताबें भी प्रकाशित हुई हैं। अजय देवगन के संयुक्त परिवार में बोल्ड-बिंदास काजोल यूं घुल-मिल गई हैं मानो वे हमेशा से उस परिवार की लहर रही हों। शाहरुख खान की पत्नी गौरी भी व्यस्त ही रहती हैं। एक दौर में काजोल शेयर मार्केट में रुचि लेती थीं और वे इस व्यापार को बखूबी समझ गई थीं।

दरअसल शेयर बाजार भी सामूहिक भावना से संचारित होता है। मार्था सी नुसबॉम की किताब ‘पॉलिटिकल इमोशंस’ में यह स्पष्ट किया गया है कि नेता सामूहिक भावनाओं से खेलता है परंतु स्वयं भी कभी-कभी भावना से द्रवित हो जाता है। सफलता के मार्ग पर अग्रसर होने वाला नेता स्टील का कवच पहने होता है परंतु उसमें भी एक छोटे से छिद्र से भावना घुसपैठ कर लेती है।

शतरंज के खेल में कभी मोहरे स्वयं चल पड़ते हैं। मनुष्य के हाथ के स्पर्श के कारण वे खिलाड़ी भावनाओं को समझ लेती हैं। याद आता है कि सत्यजीत रॉय ने मुंशी प्रेमचंद की कथा से प्रेरित संजीव कुमार और सईद जाफ़री अभिनीत फिल्म ‘शतरंज के खिलाड़ी’ बनाई थी।

कुछ प्रकरण सामने आए हैं कि न्याय प्रक्रिया में पतली गली का लाभ उठाकर कुछ लोग बच निकलते हैं तो समाज उनका बहिष्कार करता है। यह बहिष्कार किसी व्यक्ति या संस्था द्वारा प्रेरित नहीं है वरन् समाज की भीतरी ऊर्जा द्वारा संचालित होता है। अमेरिका के एक सितारा खिलाड़ी पर अपनी पत्नी की हत्या का मुकदमा चला। ठोस प्रमाण के अभाव में अदालत ने उसे बरी कर दिया। जब वह अपने विशाल बंगले पर पहुंचा तो चौकीदार ने उसे चाबियां दीं।

साथ ही तमाम सेवकों द्वारा दिए गए त्याग पत्र सौंपते हुए खुद का त्यागपत्र भी दे दिया। सितारे ने रेस्त्रां को आरक्षण के लिए फोन किया तो उसे बताया गया कि किसी टेबल पर जगह उपलब्ध नहीं है। एक के बाद एक सभी में खाली जगह नहीं होने का बहाना बनाया। उसे छद्म वेश धारण करके जीवन बिताना पड़ा। जागरूक समाज में न्याय के लिए अदृश्य लहर चलती है। संकीर्णता की नदी में गाफिल समाज उस ताल की तरह होता है, जिसमें से मेंढक भी भागने लगते हैं। मछलियां किनारे पर आकर छटपटाती हैं। सीप मोती को निगल जाती है।

सिनेमा शास्त्र के प्रथम कवि चार्ली चैपलिन की फिल्म ‘लाइमलाइट’ यह तथ्य रेखांकित कर चुकी है। कुछ सितारा पत्नियां, पति द्वारा अर्जित धूप में स्नान के बदले स्वयं भी सृजन का काम करने लगती हैं। हर व्यक्ति के भीतर एक ब्रह्मांड मौजूद होता है परंतु स्वयं उससे जानकर भी अनजान बना रहता है। इस तरह अपने-अपने अजनबियों का संसार बन जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

और पढ़ें