पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पं. विजयशंकर मेहता का कॉलम:सावधान रहिए... इस महामारी को कहीं आप अपने भीतर न उतार लें

11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पं. विजयशंकर मेहता

दूसरों का मुकाबला करते हुए यदि अपना कद बढ़ाना चाहें तो कभी पंजों पर खड़े मत हो जाना। जो लोग जब भी पंजों पर खड़े होंगे, कुछ देर बाद लड़ाखड़ाएंगे जरूर। प्रतिस्पर्धा के इस युग में वैसे ही कई बीमारियां चल रही थीं- ईर्ष्या, द्वेष, षड्यंत्र, कुटिलता। इसी के साथ एक और आ गई महामारी, जिसने पूरी दुनिया नाप ली। इसलिए भटकी दुनिया के भटके रास्तों पर उलझे हालात में अटके हुए लोग यदि अब भी एक-दूसरे के प्रति ईर्ष्या, कुटिलता और षड्यंत्र पा लेंगे तो इस बीमारी से कभी नहीं जीत पाएंगे।

यह समय है एक-दूसरे को समझने का, एक-दूसरे के प्रति सहानुभूति का और इससे भी ज्यादा सावधानी बरतने का। हम मनुष्य कभी बंदर थे। यदि इस बात को मानें तो बंदरों की सामाजिक व्यवस्था पर दृष्टि डालिएगा। उनकी इस व्यवस्था की दो खूबियां हैं। एक तो यह कि कोई बंदर यदि भूखा हो तो दूसरा सहज ही अपना भोजन उसको दे देता है।

दूसरे जीवों में ऐसा कम पाया जाता है। दूसरी विशेषता बंदरों की यह है कि यदि किसी एक को खुजली की बीमारी हो जाए, तो वह खुद तो खुजाता ही है, उसके आसपास के दूसरे बंदर भी सहयोग समझकर उसको खुजाने लगते हैं। ऐसे में बीमारी बढ़ना ही है। सावधान रहिए। आज इसी तरह इस महामारी को कहीं आप अपने भीतर न उतार लें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें