पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोझिकोड विमान हादसा:अखिलेश परिवार में सबसे बड़े थे, उन्हें पायलट बनाने को पिता ने जमीनें बेच दी, पिता कहते हैं ‘मेरा सबसे होनहार लल्ला ही चला गया’

मथुराएक महीने पहलेलेखक: विकास कुमार
  • कॉपी लिंक
  • केरल विमान हादसे में मारे गए को-पायलट अखिलेश के पिता की एक ही मांग- बेटे को मिले शहीद का दर्जा
  • मथुरा में उनके घर पर अखिलेश की फ्रेम की गई फोटो रखी है, फोटो पर ताजे लाल गुलाब की माला है और बगल में सैनिटाइजर की दो बोतलें रखी हैं

ये घर भी वैसा ही है जैसा शहरों में अक्सर होते हैं। एक-दूसरे से सटा हुआ। इतना सटा कि दो घरों के बीच दीवार भी एक ही है। घर के एक तरफ ढाबा है और दूसरी तरफ एक गेस्ट हाउस है। गेस्ट हाउस के बाहर एक बोर्ड टंगा है और जिसपर लिखा हुआ है- स्वागतम और बगल में एयर इंडिया के मस्कट ‘महाराजा’ की नकल करती हुई एक आकृति हाथ जोड़े खड़ी है।

अब ये शायद संयोग ही है कि जिस मकान पर गेस्ट हाउस का बोर्ड लगा है, स्वागतम लिखा है और एयर इंडिया के ‘महाराज’ की फोटो लगी है उसके ठीक बगल में जो तीन मंजिला मकान है, वो केरल विमान हादसे में मारे गए को-पायलट अखिलेश शर्मा का है। अखिलेश एयर इंडिया में ही पायलट थे।

केरल विमान हादसे में मारे गए को-पायलट अखिलेश शर्मा का घर। 7 अगस्त को वे विमान हादसे का शिकार हो गए थे।
केरल विमान हादसे में मारे गए को-पायलट अखिलेश शर्मा का घर। 7 अगस्त को वे विमान हादसे का शिकार हो गए थे।

अखिलेश के घर का दरवाजा खुला हुआ है। दरवाजे के बाहर से ही दिख रहा है कि फर्श पर बिछी दरी पर दो लोग बैठे हैं और एक सो रहे हैं। सामने की दीवार से सटे एक टेबल पर अखिलेश कुमार की फ़्रेम की गई फोटो रखी गई है। फोटो पर ताजे और लाल गुलाब की माला चढ़ाई गई है। इसके बगल में सैनिटाइजर की दो बोतलें रखी गई हैं।

ये सारी चीज़ें निर्जीव हैं। ये इंसानों की तरह नहीं बोल सकतीं लेकिन फिर भी मानो चीख-चीखकर कह रही हैं, ‘इस घर का सबसे होनहार लड़का असमय मौत का शिकार हो गया। वो अपने फर्ज को निभाते हुए इस दुनिया से चला गया और छोड़ गया इस परिवार को जिसे उससे बहुत उम्मीदें थीं।’

अखिलेश के पिता तुलसीदास शर्मा चुपचाप बैठे हैं। उनकी थकी हुई आखें बता रही हैं कि अब वो चाह कर भी नहीं रो सकते। इनके बगल में परिवार का सबसे छोटा बेटा भुवनेश बैठा हैं, जो सो रहे हैं वो अखिलेश के चाचा हैं।

अखिलेश कुमार की शादी दो वर्ष पूर्व 10 दिसंबर 2018 को हुई थी। उनकी पत्नी प्रेग्नेंट है और 10 दिन में घर में नया मेहमान आने वाला है।
अखिलेश कुमार की शादी दो वर्ष पूर्व 10 दिसंबर 2018 को हुई थी। उनकी पत्नी प्रेग्नेंट है और 10 दिन में घर में नया मेहमान आने वाला है।

ठीक एक हफ्ते पहले 7 अगस्त को केरल के कोझिकोड हवाई अड्डे पर एयर इंडिया का एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। मथुरा के अखिलेश कुमार इस विमान के को-पायलट थे। लॉकडाउन के बाद विदेशों में फंसे भारतीय को स्वदेश लाने के लिए चलाए जा रही ‘वंदे भारत मिशन’ के तहत ये विमान दुबई से आ रहा था। विमान में 190 लोग सवार थे। यात्रियों में 10 बच्चे और क्रू के चार सदस्य शामिल थे। इस हादसे में विमान के दोनों पायलट सहित कुल 18 लोगों की जान गई थी।

अखिलेश, तीन भाई और एक बहन थे और अपने परिवार में सबसे बड़े थे। परिवार ने उन्हें पायलट बनाने के लिए अपनी जमीनें बेच दीं। अखिलेश के पिता तुलसीदास शर्मा कहते हैं, ‘सबसे होनहार लल्ला ही चलो गयो। पूरी जान लगा दी हमने, पायलट बनाने में। उन्न ने भी ख़ूब मदद करो, जबतक हियां रहो। अब तो हैयोइ ना!’

परिवार का कहना है कि बेटे को पायलट बनाने में उन्होंने अस्सी लाख रुपए लगा दिए। घर भी लोन लेकर बनवा रहे हैं। लोन अखिलेश ही चुका रहे थे। उनके भाई भुवनेश बताते हैं, ‘हम तो प्राइवेट नौकरी करते हैं। भइया ही थे हमारे परिवार से जिनसे सबको उम्मीदें थीं। वो कर भी रहे थे लेकिन इस हादसे ने सब छीन लिया। हमारा तो सब कुछ देखते-देखते बदल गया।’

जब अखिलेश शर्मा का पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचा था। अखिलेश कुमार की गर्भवती पत्नी मेघा और मां रोते-रोते बेहोश गईं थी।
जब अखिलेश शर्मा का पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचा था। अखिलेश कुमार की गर्भवती पत्नी मेघा और मां रोते-रोते बेहोश गईं थी।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अखिलेश को अंतिम विदाई देने प्रशासन का कोई भी प्रतिनिधि नहीं पहुंचा। इसे लेकर परिवार में और अंतिम संस्कार में मौजूद लोगों में गुस्सा था। जब हमने इस बारे में पूछा तो अखिलेश के पिता बोले, ‘ना भइया, हमें किसी से कोई शिकायत नहीं है। किसी से नहीं। जब लाल ही चला गया तो अब शिकायत किससे और क्यों? सब आए। सबने हाल-चाल लिया। हमें किसी से कोई शिकायत नहीं है। आप ये सब पूछकर हमें और दुखी मत करो।’

साल 2017 में अखिलेश एयर इंडिया में को-पायलट के रूप में भर्ती हुए थे। अखिलेश के दो भाई, राहुल और रोहित, हैं। दोनों उम्र में छोटे हैं।
साल 2017 में अखिलेश एयर इंडिया में को-पायलट के रूप में भर्ती हुए थे। अखिलेश के दो भाई, राहुल और रोहित, हैं। दोनों उम्र में छोटे हैं।

वो आगे कहते हैं, ‘अब तो हम इतना ही चाहते हैं कि बेटे को शहीद का दर्जा मिले। वो अपनी फर्ज निभाते हुए ही तो गया है। वो ‘वंदे भारत’ की फ्लाइट उड़ा रहा था। कितनों की जान बचाई है। सरकार को चाहिए कि जल्द से जल्द उसे शहीद का दर्जा दिया जाए।’

इतना बोलते-बोलते वो हाथ जोड़ लेते हैं और कहते हैं, ‘बस भईया, हमें इतना ही कहना है। इतनी ही हमारी मांग है।’ उनका हाथ जोड़ना इस बात का साफ-साफ संकेत है कि वो इस तरह के सवालों का जवाब पिछले कई दिनों में, कई बार दे चुके हैं, अब और नहीं देना चाहते।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें