पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पं. विजयशंकर मेहता का कॉलम:जीवन का हर क्षेत्र कुरुक्षेत्र, जीत के लिए अपनी अच्छाई और कमजोरी दोनों पर सदैव नजर रखने की जरूरत

15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पं. विजयशंकर मेहता

पहले सुना करते थे मुस्कान के पीछे भी दर्द होता है। कुछ लोगों के उदाहरण दिए जाते थे कि ये दिखते खुश हैं, पर इनके भीतर बहुत तकलीफ भरी है। ऐसे लोग पहले कम होते थे, तो लीजिए कुदरत ने ऐसे बहुत सारे लोग बना दिए। अब सुबह से शाम तक किस्से, कहानियां, घटनाओं का वर्णन, आंकड़ों की प्रस्तुति सबकुछ महामारी के आसपास घूम रहा है। हरेक के पास एक कहानी है।

कोरोना बिलकुल महाभारत जैसा हो गया है। महाभारत के लिए कहा जाता था कि ऐसी कोई कथा नहीं जो यहां से न उपजी हो। मतलब, दावा है कि जो कुछ भी इसमें है, वह सब दुनिया में है। ‘अनाश्रित्यैतदाख्यानं कथा भुवि न विद्यते।’ पृथ्वी पर हर कथा का संबंध कहीं न कहीं महाभारत से हो जाता है।

आज सचमुच, जीवन का हर क्षेत्र कुरुक्षेत्र बन गया है। इन्सान घर में रहे तो दिक्कत, घर से बाहर जाए तो समस्या। वैक्सीन की खोज तो ऐसी हो गई जैसे परमपिता परमेश्वर को ढूंढना। महाभारत में कृष्ण ने पांडवों से कहा था कि जीतना हो तो अपनी अच्छाई व कमजोरी दोनों पर सदैव नजर रखना व सामने वाले की कमजोरी व अच्छाई पर पैनी नजर रखना। हम में से अधिकांश, इस समय पांडवों जैसे सावधान कम और कौरवों जैसे लापरवाह अधिक हो रहे हैं। यहां हमें स्वयं पर काम करना होगा।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें