पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जीने की राह:हमें अब मास्क लगाकर आंखों की भाषा समझना सीखना होगा

4 महीने पहलेलेखक: पं. विजयशंकर मेहता
  • कॉपी लिंक

जिसके भाग्य में अब जैसा भी लॉकडाउन है, उसे पूरी ईमानदारी और बुद्धिमानी से स्वीकार करना चाहिए। कुल मिलाकर अब कोरोना के साथ जीना सीख लेना है। बीमारी को लेकर शास्त्रों में वैद्य और दवा के अतिरिक्त दो बातों पर जोर दिया गया है- विश्वास और संयम। सरकारों, विभिन्न संस्थाओं और अन्य समझदार लोगों द्वारा जितनी बातें बताई जा रही हैं, उस सलाह पर विश्वास कीजिए और संयम रखिए। ‘सदगुर बैद बचन बिस्वासा। संजम यह न बिषय कै आसा।।’

सदगुरु रूपी वैद्य की बात पर विश्वास हो, विषयों की आस न करें, यही संयम (परहेज) हो। नियम पालन भी संयम ही है। अगर आप घर से निकल रहे हों या घर में रहकर अन्य लोगों से घिरे हों तो मास्क जरूर लगाएं। अब निगाहों से बोलना, उसी से समझना सीखना पड़ेगा, क्योंकि मास्क लगने पर नेत्र ही बोलेंगे, नेत्र ही समझेंगे।

योग करने पर नेत्र से बोलने की कला आ जाती है। यह भी सही है कि जब मास्क लगाकर निकलेंगे तो एक-दूसरे को पहचान पाना मुश्किल होगा। वैसे भी हम मनुष्यों के जीवन में दिखता कुछ है, होता कुछ है। जहां ‘सत्य मेव जयते’ लिखा होता है, वहीं असत्य के सौदे हो जाते हैं। जहां घोषित होता है ‘रिश्वत न लेेंं’ वहीं जेब में हाथ जाता है। कुल मिलाकर जो दिखता नहीं है, वह होता है। अब समझदारी इसी में है कि ऐसी निगाहें तैयार कर लें जो देख भी सकें, बोल भी सकें, समझा भी सकें..।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें