पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एन. रघुरामन का कॉलम:हमारे बुजुर्ग हमारी जिम्मेदारी हैं, चूंकि यह हमारे देश को खुशहाल रखने के कई तरीकों में से एक है

15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु - Dainik Bhaskar
एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु

चार्लटन फुटबॉल क्लब्स के महान गोल कीपर सैम बार्टमैन 25 दिसंबर 1937 को स्टैमफोर्ड ब्रिज में चेलसी के खिलाफ खेलते हुए गोलपोस्ट की रक्षा कर रहे थे। ये वे दिन थे, जब खेल में रेफरी सीटी इस्तेमाल नहीं करते थे।

अपनी आत्मकथा में सैम ने उस मैच के बारे में लिखा है। किक-ऑफ से कुछ देर बाद ही घना कोहरा छाने लगा और चेल्सी के गोलपोस्ट को पार कर सैम की तरफ बढ़ने लगा। खेल में अचानक सन्नाटा-सा छा गया लेकिन सैम घने कोहरे में झांकने की कोशिश करते हुए गोलपोस्ट पर खड़े रहे। चूंकि वे खेल में आगे थे इसलिए सैम पोस्ट छोड़ नहीं सकते थे, लेकिन वे सोच रहे थे कि कोई उनकी ओर क्यों नहीं आ रहा।

उन्होंने सोचा कि उनकी टीम ने विरोधियों पर हमला कर दिया होगा और उनके गोलपोस्ट के पास नहीं आने दे रही होगी। उन्होंने लिखा कि लंबे समय बाद ‘कोहरे से एक आकृति सामने उभरी। वह एक पुलिसवाला था। मेरी ओर संदेह से देखते हुए वह बोला, ‘तुम यहां क्या कर रहे हो। खेल 15 मिनट पहले रुक चुका, पूरा मैदान खाली है।’’बाद में सैम ने भारी मन से ये मशहूर शब्द कहे, ‘कितना दु:खद है कि मेरे दोस्त मुझे भूल गए, जब मैं उनके गोलपोस्ट की रक्षा कर रहा था!’

मुझे सैम की कहानी गुरुवार की सुबह याद आई जब मैंने हमारी बुजुर्ग आबादी पर भारत का पहला और दुनिया का सबसे बड़ा अध्ययन पढ़ा, जिसे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने जारी किया। ‘द लॉन्गिट्यूडिनल एजिंग ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेल्फेयर’ नाम के अध्ययन का पहला हिस्सा दावा करता है कि भारत में 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के 7.5 करोड़ लोग लंबी बीमारियों से पीड़ित हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने 60 वर्ष से अधिक उम्र के 10.3 करोड़ लोगों को प्रभावित कर रही बीमारियां पता करने के लिए यह अध्ययन 2016 में करवाया था। सर्वे कहता है कि 27% बुजुर्गों में कई बीमारियां हैं, 40% में एक बीमारी या अन्य अक्षमता है और 20% मुद्दे मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े हैं। आज 77% का हायपरटेंशन, 74% का लंबे हृदय रोग, 83% का डायबिटीज मेलीटस, 72% का फेफड़ों के रोगों और 75% का कैंसर का इलाज चल रहा है। याद रखें कि बुजुर्ग आबादी में सभी गंभीर स्वास्थ्य स्थितियों के इलाज की दर शहरी इलाकों में ज्यादा है। अभी 54% बुजुर्गों पेंशन पाते हैं, लेकिन यह आंकड़ा साल दर साल कम होगा क्योंकि सरकारी नौकरियां कम हो रही हैं।

लोग अब लंबा जी रहे हैं, इसलिए दुनिया की आबादी में जहां 1990 में 9.2% लोग 60 वर्ष से ज्यादा के थे, 2013 में यह आंकड़ा 11.7% पर पहुंच गया और 2050 तक इसके 21.1% पर पहुंचने की उम्मीद है। वास्तव में ऐसे सर्वे बुजुर्गों की स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में युवाओं के लिए रोजगार अवसर पैदा करते हैं। साथ ही मेडिकल हस्तक्षेप या मदद से मानवता के हित के लिए स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में बेहतर नतीजे आते हैं।

याद रखें कि सैम की तरह हमारे माता-पिता भी जीवन के मैदान में हमारे गोलकीपर हैं, जो उत्साह के साथ हमें विरोधियों (पढ़ें दुनियाभर के बीमार) से हारने से बचाते हैं, खासतौर पर जब कोहरा (बीमारियां) हमला करता है। जब कोहरा सभी पर हमला करता है, तब हम उन्हें अकेले नहीं छोड़ सकते। अगर उस कोहरे ने उनकी जिंदगी कम कर दी है और उन्हें यह पता नहीं है इसलिए वे लगातार मेहनत कर रहे हैं, तो यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम उनकी हर तरह से देखभाल करें। आधुनिक दुनिया के नजरिए से, यह युवाओं के लिए रोजगार का बड़ा अवसर है और पुराने नजरिए से यह ‘पुण्य’ वाला ‘कर्म’ है।

फंडा यह है कि हमारे बुजुर्ग हमारी जिम्मेदारी हैं, चूंकि यह हमारे देश को खुशहाल रखने के कई तरीकों में से एक है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser