पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

डॉ. भारत अग्रवाल का कॉलम:नए अवतार में पन्ना प्रमुख, हाथ में कागज और कलम की जगह मोबाइल और टेबलेट

14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डॉ. भारत अग्रवाल

लगभग हर चुनाव में पन्ना प्रमुख अमित शाह की रणनीति का सबसे बड़ा हथियार होते थे। बीजेपी के लिए भी वे महत्वपूर्ण सूत्रधार हैं। माने वोटर लिस्ट के सिर्फ एक पन्ने का इंचार्ज। पन्ना प्रमुख इस बार भी हैं, लेकिन नए अवतार में। इस बार उनके हाथ में कागज, कलम नहीं बल्कि मोबाइल और टेबलेट है। नाम भी बदल गया। अब इन्हें पन्ना प्रमुख की जगह व्हाट्सएप एडमिन का नाम दिया गया है। किस घर मे कितने वोटर हैं, कितने घरों में संपर्क किया इसका डाटा रियल टाइम के हिसाब से दर्ज हो रहा है। सो संपर्क का फर्जी डाटा बनना थोड़ा कठिन है। समस्या सिर्फ एक है। डाटा के डर अलावा कोरोना का भी है।

बीजेपी मुख्यालय में भैयाजी का भोजन

संघ में दूसरे सबसे बड़े अधिकारी भैयाजी जोशी पिछले दिनों बीजेपी मुख्यालय घूमने गए थे। आइडिया था इस इमारत का ढांचा देखना, ताकि यदि ठीक लगे, तो वैसा ही कुछ झंडेवालान की निर्माणाधीन इमारत में करवाया जाए। अंत में रात्रि भोजन भी बीजेपी मुख्यालय में ही हुआ।

कई चुनाव, एक मतदाता सूची

पिछले सप्ताह पीएमओ में एक बैठक बुलाई गई, जिसमें पंचायती राज, कानून, शहरी विकास जैसे मंत्रालयों और चुनाव आयोग के एक प्रतिनिधि शामिल हुए। विषय था- सभी चुनावों के लिए एक मतदाता सूची तैयार करना। प्रारंभिक काम हो रहा है, और माना जाता है कि कैबिनेट सचिवालय इस बारे में एक महीने में अपनी रिपोर्ट सौंप देगा।

अब वो ही बताएंगे...

कुछ प्रधान आयुक्तों (प्रिंसिपल कमिश्नरों) को प्रमोट होकर मुख्य आयुक्त (चीफ कमिश्नर) बनाने का मामला था। लिहाजा प्रमोशन पर विचार करने के लिए विभागीय पदोन्नति समिति (डीपीसी) की बैठक हुई। सारे उम्मीदवार 86-88 बैच के थे। इनमें से 38 को पदोन्नत किया जाना है। अनुसूचित जाति के कुछ उम्मीदवारों का सीआर अच्छा था, लेकिन यह नोट भी लिखा हुआ था कि वे इससे बेहतर कर सकते हैं। यूपीएससी सदस्य ने इस नोट पर विचार करने से इनकार कर दिया। राजस्व सचिव और सीबीडीटी की राय इससे पूरी तरह भिन्न थी। सहमत नहीं बनते देख बैठक स्थगित कर दी गई। अब मामला सलाह के लिए डीओपीटी के हवाले कर दिया गया है।

सोनभद्र कितना सोना है...?

सोनभद्र में स्वर्ण भंडार होने की बात आपने इस कॉलम में पहले भी पढ़ी है। अब वहां सोने की संभावना देखने के लिए 7 सदस्यों की कमेटी बनाई गई है। अगर सोना मिला, तो यह देश का दूसरा सबसे बड़ा स्वर्ण भंडार होगा।

विदिशा का दबदबा

मध्यप्रदेश का एक जिला है- विदिशा। प्राचीन और मध्यकाल में तो यह कई बार महत्वपूर्ण और शक्तिशाली नगर रह चुका है। ताजा इतिहास में भी अटलजी, सुषमा स्वराज और रामनाथ गोयनका विदिशा के सांसद रहे हैं और मध्यभारत प्रांत के मुख्यमंत्री रहे बाबू तख्तमल जैन तथा सांसद रहे बाबू रामसहाय सक्सेना भी विदिशा के ही थे। इन दोनों के प्रयासों से ही भोपाल मध्यप्रदेश की राजधानी बनी। अब लगता है इतिहास फिर खुद को दोहराने जा रहा है।.

शिवराज सिंह चौहान भी विदिशा के प्रतिनिधि रहे हैं और विदिशा ही उनका निवास भी है। बीजेपी के प्रदेश संगठन मंत्री सुहास भगत का भी शुरुआती कार्यक्षेत्र विदिशा रहा है। अब हितानंदजी को बीजेपी के प्रदेश का सह संगठन मंत्री बनाया गया है, और संघ में उनके जीवन की भी शुरुआत विदिशा से ही हुई है। महाकवि कालिदास ने विदिशा का इतना गुणगान अकारण थोड़े ही किया था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें