पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पं. विजयशंकर मेहता का कॉलम:मनुष्य जिस दिन परमात्मा के हाथ का उपकरण बन जाता है, उस दिन परमात्मा उसके भीतर उतर जाता है

15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पं. विजयशंकर मेहता

ईश्वर से बड़ा कोई और संवाद लेखक क्या होगा? और जब उसी ईश्वर को संवाद अदायगी का मौका मिलता है तो वह कमाल के ढंग से बोलता है। भगवान ने एक जगह अपने भक्त से कहा है कि तू अपने आपको एक बंसी मान ले। इसमें जो फूंक है, वही मेरी यानी ईश्वरीय शक्ति है। तू समझ ले इसे बजाता कोई और है।

यदि कलाकार को बांस की पोंगरी (बंसी) सहयोग न करे तो जीवन का गीत सही ढंग से उजागर नहीं होगा। नई पीढ़ी को शायद यह बांसुरी वाला उदाहरण कम समझ में आए, तो गीता में एक जगह कृष्ण ने अर्जुन से कहा था, तू तो मेरा उपकरण (इंस्ट्रूमेंट) मात्र बन जा। यानी तू कर्ता मत बन। कर्ता तो मैं हूं, करवा तुझसे रहा हूं। तू बस, एक उपकरण है। जैसे जब हम कार चला रहे होते हैं तो चलती तो कार ही है, लेकिन यदि कार यह दावा कर दे कि मैं चल रही हूं तो गलत होगा। कोई चला रहा है, तो वह चल रही है।

मनुष्य जिस दिन परमात्मा के हाथ का उपकरण बन जाता है, उस दिन परमात्मा उसके भीतर उतर जाता है। अभी वह बिखरा-बिखरा सा है, फिर अपने को केंद्रित कर लेता है। कुल मिलाकर करने वाला वह ईश्वर है, आपसे सिर्फ करवाया जा रहा है। इस बात को यदि ढंग से समझ लें तो किसी भी कृत्य के बाद हम अशांत नहीं होंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें