पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Db original
  • Columnist
  • When Injustice Is Done, It Is Said 'It's Not Cricket; When There Is Injustice In Every Sphere Of Life, It Says 'It's Not Cricket'

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम:अन्याय किए जाने पर कहा जाता है कि ‘इट्स नॉट क्रिकेट; जीवन के हर क्षेत्र में अन्याय होने पर कहते हैं, ‘इट्स नॉट क्रिकेट’

14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जयप्रकाश चौकसे, फिल्म समीक्षक

आ दित्य चोपड़ा ने फिल्म ‘बैंड बाजा बारात’ में रणवीर सिंह और अनुष्का शर्मा को अभिनय का अवसर दिया। अनुष्का ने ‘एनएच10’ नामक सफल फिल्म का निर्माण किया और उसमें अभिनय भी किया। अनुष्का द्वारा निर्मित दूसरी फिल्म असफल रही। आजकल दोनों आईपीएल क्रिकेट तमाशे में शामिल हैं। विराट कोहली दो यादगार पारियां खेल चुके हैं और अनुष्का भी वहां मौजूद हैं। क्रिकेट खिलाड़ियों ने फिल्म कलाकारों से प्रेम विवाह किए हैं।

शर्मिला टैगोर और भारतीय टीम के कप्तान टाइगर पटौदी ने विवाह किया था। नीना गुप्ता और रिचर्ड ने प्रेम किया है और साहसी नीना ने अपनी बेटी को पाला-पोसा उसका विवाह भी फ़िल्मकार मधु मंटेना से कराया। विराट कोहली और अनुष्का दोनों ही अनुशासित व्यक्तिगत विचार शैली वाले हैं। एक-दूसरे के काम में दखलअंदाजी नहीं करते। शर्मिला टैगोर ने जिस सहजता से महान सत्यजीत राय की फिल्मों में अभिनय किया है उसी सहजता से मुंबइया मसाला फिल्मों में भी काम किया है। क्या उम्रदराज होने पर करीना भी शर्मिला जैसी गरिमामया दिख पाएंगी? उम्र के नुकीले नाखूनों का असर कुछ संगमरमरी चेहरों पर नहीं पड़ता। कभी-कभी झुर्रियों की इबारत हम पढ़ नहीं पाते।

फिल्म और क्रिकेट आम भारतीय के मनपसंद फितूर हैं। समय के साथ हथेली और अंगूठे पर लकीरें बदलती हैं। हाल ही में खाकसार को बैंक में केवायसी के समय यह परेशानी आई थी। व्यवस्था ही ऐसी है कि कितने कागज किसी जगह बार-बार देने पड़ते हैं। पेंशन पाने वालों को भी हर वर्ष अपने जीवित होने का प्रमाण देना पड़ता है। उम्र के साथ हाथों की लकीरों में परिवर्तन आता है। लकीरें कई जगह मिट जाती हैं। नई लकीरें कम ही उभर कर आती हैं। हमारे अवाम ने तालियां पीटते-पीटते हाथों की लकीरें गायब कर दी हैं।

भाग्य नामक काल्पनिक लकीर पर विश्वास करते हुए हम श्रीकृष्ण की गीता को अनदेखा करते हैं। सदियों से असमानता और अन्याय सहते हुए हमने कर्म का महत्व भुला दिया है। रणधीर कपूर द्वारा निर्देशित ‘धरम-करम’ में प्रेम नाथ अभिनीत पात्र बार-बार कहता है कि ऊपर वाले का डिज़ाइन बदल देगा। वह अपने नवजात शिशु को संगीतकार के नवजात शिशु से बदल देता है। इस तरह से ऊपर वाले के डिज़ाइन को बदलना चाहता है। उसका पुत्र संगीतकार के घर में पलता है, परंतु गुंडागर्दी करता है।

संगीतकार का पुत्र इस तरह पाला जाता है कि वह गुंडा बने। ऊपर वाले का डिज़ाइन बदल नहीं पाता। बहरहाल रणवीर सिंह की नानी ‘बूट पॉलिश’ में अभिनय कर चुकी हैं परंतु अनुष्का शर्मा ने अभिनय क्षेत्र में प्रवेश करके नाम कमाया है। विराट कोहली क्रिकेट में इनसाइड,आउट साइड स्ट्रोक खेलने में माहिर हैं। लोकप्रिय बात यह है कि क्रिकेट को भाग्य का खेल कहा जाता है। परंतु श्रेष्ठ खिलाड़ी निरंतर अच्छा प्रदर्शन करते हैं। यह बात पुनः कर्म के महत्व को ही रेखांकित करती है।

सुनील गावस्कर, राहुल द्रविड़, कपिल देव और सचिन तेंदुलकर लंबे समय तक अच्छा प्रदर्शन किया। राहुल द्रविड़ युवा खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करते रहे और वे सारे खिलाड़ी आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। राहुल तो क्रिकेट के उस संविधान की तरह हैं, जिसकी शपथ लेकर खिलाड़ी मैदान में उतरता है। क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के प्रशासन का दायित्व सुनील गावस्कर, सचिन तेंदुलकर, कपिल देव के हाथों में दिया जाना चाहिए। सौरव गांगुली की वापसी रास्ते खोल सकती है।

इस क्षेत्र में भी चुनावी गठबंधन किए जाते हैं। राजनीति हर क्षेत्र में प्रवेश कर चुकी है। ज्ञातव्य है कि अन्याय किए जाने पर कहा जाता है कि ‘इट्स नॉट क्रिकेट’। जीवन के हर क्षेत्र में अन्याय होने पर कहते हैं, ‘इट्स नॉट क्रिकेट’।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज किसी समाज सेवी संस्था अथवा किसी प्रिय मित्र की सहायता में समय व्यतीत होगा। धार्मिक तथा आध्यात्मिक कामों में भी आपकी रुचि रहेगी। युवा वर्ग अपनी मेहनत के अनुरूप शुभ परिणाम हासिल करेंगे। तथा ...

और पढ़ें