पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Db original
  • Explainer
  • Maharashtra Madhya Pradesh: Bharti Singh Haarsh Limbachiyaa Ganja Drug Case NCB Update | 14.74 Lakh Kg Of Weed Cannabis Caught In Five Years

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर डेटा स्टोरी:दुनिया में सबसे ज्यादा गांजा फूंकने के मामले में दिल्लीवाले तीसरे और मुंबईवाले 6वें नंबर पर

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़ा ड्रग एंगल बढ़ता ही जा रहा है। शनिवार को ही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने कॉमेडियन भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया को गांजा रखने के आरोप में गिरफ्तार किया था। हालांकि, सोमवार को दोनों को जमानत भी मिल गई। भारती और उनके पति के पास से NCB को 86.5 ग्राम गांजा मिला था। दोनों ने ड्रग्स लेने की बात भी कबूली थी।

गांजा फूंकने में दिल्ली और मुंबई दुनिया में टॉप-10 में

जर्मनी की मार्केट रिसर्च फर्म ABCD ने दुनिया के 120 देशों के 2018 के आंकड़ों के आधार पर एक लिस्ट बनाई थी। इस लिस्ट में बताया था कि दुनिया के किस शहर में सबसे ज्यादा गांजा फूंका जाता है। ABCD के मुताबिक, दुनियाभर में सबसे ज्यादा गांजा न्यूयॉर्क में फूंका जाता है। यहां के लोग हर साल 70 हजार 252 किलो गांजा फूंक जाते हैं। दूसरे नंबर पर पाकिस्तान का कराची शहर है, जहां सालभर में 38 हजार 56 किलो गांजे की खपत होती है।

दुनिया में सबसे ज्यादा गांजा फूंकने वाले टॉप-10 शहरों में दिल्ली और मुंबई भी आते हैं। दिल्लीवाले हर साल 34 हजार 708 किलो और मुंबईवाले 29 हजार 374 किलो गांजा फूंकते हैं।

5 साल में NCB ने 14.74 लाख किलो गांजा पकड़ा

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो यानी NCRB का आंकड़ा बताता है कि 2019 में 3.42 लाख किलो से ज्यादा गांजा पकड़ा है। इसमें 35 हजार 310 लोगों की गिरफ्तारी भी हुई, जिसमें 35 हजार 26 पुरुष और 284 महिलाएं थीं।

वहीं, पिछले 5 साल की बात करें तो 2015 से लेकर 2019 के बीच NCB ने 14.74 लाख किलो गांजा पकड़ा। इसमें सबसे ज्यादा 3.91 लाख किलो गांजा 2018 में पकड़ा गया था।

ड्रग्स भी दो तरह के होते हैं। एक होते हैं नारकोटिक यानी नींद लाने वाले ड्रग्स। जैसे- चरस, गांजा, अफीम, हेरोइन, कोकिन, मॉर्फिन वगैरह। दूसरे होते हैं साइकोट्रोपिक यानी दिमाग पर असर डालने वाले ड्रग्स। जैसे- LSD, MDMA, अल्प्राजोलम, कैटामाइन जैसे ड्रग्स।

ड्रग्स की वजह से हर दिन देश में 23 लोग जान गंवा रहे

ड्रग्स की लत अगर एक बार लग जाए, तो उसे पीछा छुड़ा पाना बहुत मुश्किल होता है। अगर ये मिलता है तो भी जान जाने का खतरा है और नहीं मिलता तो भी। NCRB का डेटा बताता है कि देश में हर दिन ड्रग्स की वजह से 23 लोगों की जान जाती है। पिछले साल 7 हजार 860 लोगों ने ड्रग्स की वजह से सुसाइड कर लिया। इसके अलावा 704 लोग ड्रग के ओवरडोज की वजह से मारे गए। यानी, 2019 में 8 हजार 564 लोगों की जान ड्रग्स ने ले ली। इस हिसाब से हर दिन 23 लोग ड्रग्स की वजह से जान गंवा रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

और पढ़ें