पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर डेटा स्टोरी:देश के 33% जिलों में अभी भी बेकाबू है कोरोना, इनमें राजस्थान के 16 जिले तो मध्य प्रदेश का नरसिंहपुर भी शामिल

3 महीने पहलेलेखक: जयदेव सिंह
  • कॉपी लिंक

कोरोना की दूसरी लहर कमजोर पड़ चुकी है। पिछले दो दिन से रोज आने वाले मामले भी 60 हजार के आसपास आ गए हैं। राज्यों में भी केस तेजी से घट रहे हैं। इस वक्त सिर्फ चार राज्य ऐसे हैं जहां एक लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं, लेकिन जब हम जिलों के स्तर पर जाते हैं तो तस्वीर थोड़ी अलग नजर आती है।

देश के कुल 734 जिलों में से 33% यानी 245 ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी रेट 5% से ज्यादा है। यानी, WHO के मुताबिक इन जिलों में संक्रमण अभी बेकाबू है। इन 245 जिलों में से 114 जिले ऐसे हैं जहां संक्रमण की दर 10% से भी ज्यादा है।

9 जिले तो ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी रेट 50% से भी ज्यादा है। इनमें 6 अरुणाचल प्रदेश के, दो नगालैंड के तो एक मेघालय का है। अरुणाचल के कुरुंग कुमेय जिले में तो पिछले 7 दिन में जितने लोगों की भी टेस्टिंग की गई है, वे सभी पॉजिटिव मिले हैं। यानी यहां 100% पॉजिटिविटी रेट है। एक और खास बात- इस जिले में एक भी RT-PCR टेस्ट नहीं हुआ है। सभी टेस्ट एंटीजन हुए हैं।

25% से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट वाले जिलों में 4 राजस्थान के

14 जिले ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी रेट 25% से 50% के बीच है। इनमें राजस्थान के चार जिले हैं। राजस्थान में सबसे ज्यादा 47% पॉजिटिविटी रेट झालावड़ा में है। पाली, जोधपुर और भरतपुर में भी पॉजिटिविटी रेट 25% से ज्यादा है। राजस्थान के अलावा अरुणाचल प्रदेश के चार, मेघालय के तीन, मणिपुर, नगालैंड और ओडिशा के एक-एक जिले में पॉजिटिविटी रेट 25 से 50% के बीच है।

15 जिले ऐसे जहां 7 दिन से नहीं आया एक भी केस

देश के 252 यानी 34% जिलों में पॉजिटिविटी रेट 1% से भी कम हो गया है। इनमें से 15 में तो शून्य हो चुका है। इन 15 जिलों में पिछले सात दिन से एक भी केस नहीं आया है। इनमें से नौ जिले तेलंगाना के हैं। तीन अरुणाचल प्रदेश के, दो नगालैंड के और एक जिला अंडमान निकोबार का है।

9 राज्यों में एक भी जिला ऐसा नहीं जहां पॉजिटिविटी रेट 5% से ज्यादा हो

UP, बिहार और दिल्ली समेत 9 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में कोरोना पूरी तरह से कंट्रोल में है। इनका एक भी जिला ऐसा नहीं है जहां पॉजिटिविटी रेट 5% या उससे ज्यादा हो। उत्तर प्रदेश में तो सिर्फ कानपुर नगर इकलौता जिला है जहां पॉजिटिविटी रेट 1% से ज्यादा है। बाकी 74 जिलों में तो ये 1% से भी कम है।

बिहार में भी पटना, दरभंगा, सुपौल और पूर्णिया ही 1% से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट वाले जिले हैं। वहीं, दिल्ली में नई दिल्ली को छोड़कर बाकी दस जिलों में पॉजिटिविटी रेट 1% से कम हो गया है। इन तीन राज्यों के अलावा पंजाब, उत्तराखंड, चंडीगढ़, दमन और दीव, लक्षद्वीप और अंडमान निकोबार के भी सभी जिलों में पॉजिटिविटी रेट 5% से कम है।

खबरें और भी हैं...