एलन मस्क से भिड़े जेलेंस्की:यूक्रेन की मदद छोड़ क्या अब रूस के पाले में मस्क?

2 महीने पहलेलेखक: आदित्य द्विवेदी

तारीख थी 26 फरवरी 2022, यूक्रेन पर रूसी हमले के 48 घंटे पूरे हो चुके थे। यूक्रेन का इंटरनेट सिस्टम तबाह हो चुका था। उप-प्रधानमंत्री मिखाइल फेडोरोव ने एलन मस्क से स्टारलिंक के इंटरनेट की अपील की। कुछ ही घंटों में एलन मस्क का जवाब आया- यूक्रेन में स्टारलिंक सर्विस एक्टिव हो चुकी है।

मस्क की इस मदद के करीब 7 महीने बाद, यूक्रेन के राजदूत एंड्रिज मेल्निक ने ट्विटर पर लिखा- एलन मस्क तुम भाड़ में जाओ। यूक्रेन के राष्ट्रपति ने भी मस्क पर रूस की तरफदारी के आरोप लगाए हैं।

आखिर पूरा मामला क्या है, क्या यूक्रेन की खुलकर मदद करने वाले दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क अब रूस के पाले में चले गए हैं, आज भास्कर एक्सप्लेनर में यही जानने की कोशिश करेंगे...

मौजूदा हंगामे की जड़ः एलन मस्क का 'पीस ट्वीट'

3 अक्टूबर की रात 9 बजकर 45 मिनट पर एलन मस्क ने एक ट्वीट किया। इसका टाइटल था रूस-यूक्रेन के बीच शांति। इसके लिए उन्होंने चार पॉइंट बताए...

  • यूक्रेन के कब्जे वाले वो हिस्से, जहां रूस ने कब्जा कर लिया है, वहां संयुक्त राष्ट्र की देखरेख में दोबारा चुनाव कराए जाएं। अगर लोग चाहते हैं, तो रूस छोड़कर चलें जाएं।
  • क्रीमिया रूस का आधिकारिक हिस्सा है, जो साल 1783 से रहा है।
  • क्रीमिया में पानी की सप्लाई सुनिश्चित की जाए।
  • यूक्रेन निष्पक्ष बना रहे।

इस ट्वीट थ्रेड में उन्होंने आगे लिखा, 'संभव है कि इस जंग का भी यही अंत होगा। सवाल है कि इस नतीजे तक पहुंचने से पहले कितने लोगों की जान जाएगी। यह भी ध्यान रखना होगा कि इसका संभावित परिणाम परमाणु युद्ध हो सकता है।'

इसके बाद मस्क ने एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लोगों से पोल करने की अपील की। कैप्शन लिखा- डोनबास और क्रीमिया में रहने वाले लोगों की इच्छा से तय होना चाहिए कि वे रूस के साथ रहना चाहते हैं या यूक्रेन के साथ।

रूस की तरफदारी के आरोपः मस्क के ट्वीट पर उठे सवाल

एलन मस्क के ट्वीट का जवाब देते हुए यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने भी एक पोल ट्वीट किया, 'आपको कौन-सा एलन मस्क पसंद है? जो मस्क यूक्रेन का समर्थन करता है या जो रूस का समर्थन करता है?'

जर्मनी में यूक्रेन के राजदूत ने लिखा, 'मेरा मस्क के लिए एक बेहद डिप्लोमेटिक जवाब है कि भाड़ में जाओ!'

मस्क के ट्वीट पर लिथुआनिया के राष्ट्रपति गीतानस नौसियाडा ने लिखा, 'डियर एलन मस्क, जब कोई आपकी टेस्ला के पहिए चुराने की कोशिश करता है, तो इससे वो कार या पहिए का मालिक नहीं बन जाता। चाहे वो ये दावा करे कि दोनों ने उसके पक्ष में वोट दिया है।'

यूक्रेन की एक पत्रकार अंतास्तासिया लेपेटिना ने मस्क से पूछा, 'रूस के कब्जे की वजह से लाखों यूक्रेनियों को डोनबास और क्रीमिया से भागना पड़ा और वहां हजारों रूसी भर दिए गए। क्या अब वहां निष्पक्ष मतदान हो सकता है?'

अब सवाल उठता है कि क्या मस्क ने पाला बदल लिया?

कुछ ऐसे ही सवाल पर मस्क ने ट्वीट किया, 'स्पेस-एक्स अपनी जेब से 80 मिलियन डॉलर खर्च कर रहा है। ताकि यूक्रेन में स्टारलिंक सपोर्ट मिल सके। हम रूस को जीरो डॉलर की मदद कर रहे हैं। हम यूक्रेन के साथ हैं।'

एक अन्य यूजर के सवाल पर मस्क ने लिखा, 'अगर आपको लगता है कि मैं मशहूर होना चाहता हूं, तो मुझे इसकी कोई परवाह नहीं। मुझे परवाह है, उन लाखों लोगों की जिनकी बेवजह जान जा सकती है। अगर आपको यूक्रेन के लेगों की चिंता है, तो शांति के लिए कोशिश कीजिए।'

रूस-यूक्रेन जंग पर मस्क का रुखः ट्विटर टाइमलाइन का एनालिसिस

रूस-यूक्रेन जंग पर एलन मस्क के रुख को समझने के लिए हमने उनके पिछले सात महीने के ट्वीट्स का एनालिसिस किया है। जंग की शुरुआत में वो यूक्रेन का खुला समर्थन करते दिखते हैं। बीच के वक्त में वो जंग के बारे में मीम्स शेयर करते हैं। हाल के दिनों में उन्होंने शांति की अपील की है।

26 फरवरी 2022: एलन मस्क ने यूक्रेन के उप-प्रधानमंत्री के निवेदन पर स्टारलिंक की इंटरनेट सर्विस एक्टिवेट करने का ऐलान किया।

5 मार्च 2022: मस्क ने लिखा- मजबूती से खड़े रहो यूक्रेन। साथ ही उन्होंने स्टारलिंक से रूसी न्यूज सोर्स बैन करने के सुझाव की खिलाफत की।

14 मार्च 2022: मस्क ने एक मीम शेयर किया, जिसमें लिखा था- नेटफ्लिक्स जंग खत्म होने का इंतजार कर रहा है, जिससे वो एक फिल्म बना सके, जिसमें एक ब्लैक यूक्रेनी सैनिक एक ट्रांसजेंडर रूसी सैनिक के प्यार में पड़ जाता है।

11 मई 2022: मस्क ने लिखा, 'रूसी साइबर वॉर के हमले को स्टार लिंक ने रोक दिया है, लेकिन वो लोग अपनी कोशिशें बढ़ा रहे हैं।'

30 जुलाई 2022: मस्क ने एक मीम शेयर किया, जिसमें दिखाया जा रहा है कि इंटरनेट पर रूस-यूक्रेन जंग से ज्यादा तवज्जो यूरोप की हीट वेव को मिल रही है।

3 अक्टूबर 2022: मस्क ने जनमत संग्रह वाला विवादित ट्वीट किया, जिस पर हंगामा मचा है।

जंग के मौजूदा हालातः रूस ने चार हिस्से तोड़ लिए

पिछले हफ्ते रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन के चार इलाकों को अपने देश में मिला लिया। ये इलाके हैं- लुहांस्क, डोनेत्स्क, जापोराजिया और खेरसोन। इसके लिए वहां जनमत संग्रह करवाया गया था। यूक्रेन और पश्चिमी देशों ने इसे दिखावा बताया है। दूसरी तरफ यूक्रेन की सेना ने दो सप्ताह में 8 हजार वर्ग किलोमीटर से ज्यादा इलाका रूस के कब्जे से छुड़ाया है।

मैप के जरिए देखिए यूक्रेन ने किन इलाकों को रूस से छीना...

22 सितंबर को पुतिन ने तीन लाख रिजर्व सैनिकों को लामबंद करने का एलान किया था। उन्होंने नाटो को चेतावनी देते हुए कहा कि परमाणु क्षमता से लैस रूस पश्चिम के किसी भी 'परमाणु ब्लैकमेल' से निपटने के लिए किसी भी हथियार का उपयोग कर सकता है। उनका इशारा परमाणु बम की तरफ था।

भास्कर एक्सप्लेनर के कुछ और ऐसे ही नॉलेज बढ़ाने वाले आर्टिकल नीचे लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं...

1. क्या 5G से विमानों को खतरा:5G से जुड़े 5 डर और उनकी सच्चाई

2. सोनिया को अध्यक्ष बनाने के लिए लॉक किए गए केसरी:कांग्रेसियों ने धोती तक खींच ली; नया नहीं है कांग्रेस अध्यक्ष पद का बवाल

3.सरकार का मानना पत्नी का रेप नहीं करते पति:SC ने अबॉर्शन कानून में दी मैरिटल रेप को एंट्री, समझिए क्यों है ये बड़ा फैसला

4. 20000000000000000 ये नंबर नहीं चींटियों की संख्या है:इंसानों से 25 लाख गुना ज्यादा चींटियां, दुनिया के लिए क्यों हैं जरूरी?