भास्कर एक्सप्लेनर:न्यूजीलैंड से जीता अफगानिस्तान तो सेमीफाइनल खेलेगा भारत, वर्ल्ड कप में कौन सी टीम कैसे पहुंचेगी अंतिम चार में?

23 दिन पहले

टी-20 वर्ल्ड कप के सुपर-12 मुकाबले अपने आखिरी चरण में हैं। सभी टीमें कम से कम 4-4 मैच खेल चुकी हैं। अब तक केवल पाकिस्तान ऐसी टीम है जिसका सेमीफाइनल में पहुंचना पक्का है।पहले ग्रुप में एक स्थान के दो दावेदार है; तो दूसरा ग्रुप, जिसमें भारत है, उसमें एक स्थान के लिए तीन दावेदार हैं। दोनों ग्रुप में कौन सी टीम किस स्थिति में सेमीफाइनल में पहुंच सकती है? भारत के लिए सेमीफाइनल में पहुंचने की क्या उम्मीद है? आइये समझते हैं…

पहले बात ग्रुप-2 की: इस ग्रुप में सभी टीमें 4-4 मैच खेल चुकी हैं। इस ग्रुप से सेमीफाइनल में जाने वाली एक टीम पाकिस्तान होगी। वहीं, दूसरी टीम के लिए तीन दावेदार हैं। भारत, न्यूजीलैंड और अफगानिस्तान। भारत से हार के साथ नामीबिया अंतिम चार की रेस से बहार हो गया है। वहीं, स्कॉटलैंड शुरुआती तीनों मुकाबले हारने के साथ ही सेमीफाइनल की रेस से बाहर हो गया था।

भारत का नेट रन रेट ग्रुप-2 में सबसे बेहतर

शुक्रवार को स्कॉटलैंड के खिलाफ महज 39 गेदों में टारगेट हासिल करके भारत ने नेट रन रेट सुधार लिया। इसके साथ ही भारत का रन रेट 0.073 से बढ़कर 1.62 का हो गया, जो पाकिस्तान से भी बेहतर है। अब भारत की नजर रविवार को दोपहर में होने वाले न्यूजीलैंड और अफगानिस्तान मैच पर रहेगी। अगर इस मैच में अफगानिस्तान ने न्यूजीलैंड को हरा दिया तो भारत के पास सेमीफाइनल में पहुंचने का मौका रहेगा।

न्यूजीलैंड जीता तो सेमीफाइनल में पहुंचेगा

ग्रुप-2 में अगर न्यूजीलैंड-अफगानिस्तान मुकाबले में न्यूजीलैंड जीतता है तो वो सेमीफाइनल में पहुंच जाएगा। न्यूजीलैंड के जीतते ही 8 नवंबर को होने वाला भारत-नाबीमिया मैच केवल औपचारिकता बनकर रह जाएगा।

क्या अफगानिस्तान भी सेमीफाइनल में पहुंच सकता है?

हां, अगर अफगानिस्तान बड़े अंतर से न्यूजीलैंड को हरा दे और भारत बहुत कम अंतर से नामीबिया से जीते तो अफगानिस्तान बेहतर रन रेट के आधार पर अफगानिस्तान सेमीफाइनल में पहुंच जाएगा।

पाकिस्तान का सेमीफाइनल में पहुंचना पक्का

पाकिस्तान अपने चार मुकाबले जीत चुका है। अंतिम मैच में उसका सामना स्कॉटलैंड से होगा। आखिरी मुकाबला जीतने पर पाकिस्तान ग्रुप-2 में टॉप करेगी। ऐसे में सेमीफाइनल में उसका मुकाबला ऑस्ट्रेलिया या साउथ अफ्रीका से होगा।

अब बात ग्रुप-1 की: ग्रुप-1 में बांग्लादेश, वेस्टइंडीज और श्रीलंका सेमीफाइनल की रेस से बाहर हो चुके हैं। वहीं, इंग्लैंड का अपने ग्रुप में टॉप पर रहना भी लगभग तय है। इंग्लैंड अगर अपना आखिरी मैच 44 रन या इससे ज्यादा अंतर से हारता है और ऑस्ट्रेलिया अपना आखिरी मैच 100 रन या उससे ज्यादा अंतर से जीतता है तब ही इंग्लैंड अपने ग्रुप में दूसरे नंबर पर रहेगा।

शुरुआती चार मुकाबलों में चार जीत के साथ इंग्लैंड ग्रुप-1 में टॉप पर है। तीन बड़ी जीत की वजह से उसका नेट रन रेट भी 3.183 का है।

ऑस्ट्रेलिया दूसरे स्थान का सबसे तगड़ा दावेदार है। गुरुवार को बांग्लादेश के खिलाफ मिली बड़ी जीत ने ऑस्ट्रेलिया का नेट रन रेट बहुत बेहतर किया है। इस मैच से पहले उसका रन रेट -0.627 था जो अब बढ़कर +1.031 का हो गया है। गुरुवार को वेस्टइंडीज के बाहर होने के बाद अब ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के बीच ही सेमीफाइनल की सीधी लड़ाई है।

ऑस्ट्रेलिया का अगला मुकाबला वेस्टइंडीज से है। वहीं, साउथ अफ्रीका का अगला मुकाबला ग्रुप-1 में अब तक एक भी मैच नहीं हारने वाली इंग्लैंड से है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया के लिए सेमीफाइनल में पहुंचने की राह थोड़ी आसान है।

ऑस्ट्रेलिया

मैच खेले: 4, पॉइंट: 6, नेट रन रेट: 1.031, आखिरी मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ

साउथ अफ्रीका

मैच खेले: 4, पॉइंट: 6, नेट रन रेट: 0.742, आखिरी मैच इंग्लैंड के खिलाफ

किस स्थिति में कौन पहुंचेगा सेमीफाइनल में?

पहली स्थिति: ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका दोनों अपना आखिरी मैच जीत जाते हैं तो:

इस स्थिति में दोनों टीमों के 8-8 पॉइंट होंगे। वहीं, इंग्लैंड के भी आठ पॉइंट होंगे। इंग्लैंड का नेट रन रेट 3 से भी अधिक होने के कारण उसका सेमीफाइनल में पहुंचना तय है। वहीं, ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका में जिसका नेट रन रेट बेहतर होगा वो अंतिम चार में पहुंचेगा।

अभी ऑस्ट्रेलिया का नेट रन रेट साउथ अफ्रीका से बेहतर है। अगर साउथ अफ्रीका इतने अंतर से इंग्लैंड को हराता है जिससे उसका नेट रन रेट ऑस्ट्रेलिया से भी बेहतर हो जाए तो साउथ अफ्रीका सेमीफाइनल में पहुंच जाएगा। वहीं, अगर ऑस्ट्रेलिया का नेट रन रेट साउथ अफ्रीका से बेहतर बेहतर बना रहा तो वो सेमीफाइनल में पहुंचने वाली दूसरी टीम होगी।

दूसरी स्थिति: ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका दोनों अपना-अपना आखिरी मैच हार जाते हैं तो:

दोनों टीमें हारती हैं तो दोनों के ही 6-6 पॉइंट रहेंगे। ऐसी स्थिति में बेहतर रन रेट वाली टीम ग्रुप-1 से इंग्लैंड के साथ अंतिम चार में पहुंचने वाली दूसरी टीम होगी। अभी ऑस्ट्रेलिया नेट रन रेट बेहतर है, ऐसे में उसका अंतिम चार में पहुंचने का दावा मजबूत है।

तीसरी स्थितिः अगर अपने आखिरी मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया जीतता है और साउथ अफ्रीका हारता है तो:

इस स्थिति में ऑस्ट्रेलिया के 8 पॉइंट हो जाएंगे। जबकि, इंग्लैंड से हारने वाली साउथ अफ्रीका के 6 पॉइंट रहेंगे। जबकि, इंग्लैंड के 10 पॉइंट रहेंगे। यानी, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया सेमीफाइनल में पहुंच जाएंगे। इंग्लैंड ग्रुप में टॉप पर रहेगा।

चौथी स्थिति: अगर अपने आखिरी मुकाबले में साउथ अफ्रीका जीतता है और ऑस्ट्रेलिया हारता है तो:

इस स्थिति में इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका के 8-8 पॉइंट रहेंगे। दोनों टीमें सेमीफाइनल में पहुंच जाएंगी। वहीं, ऑस्ट्रेलिया केवल 6 पॉइंट के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...