• Hindi News
  • Db original
  • Explainer
  • If The Cases Keep Decreasing At The Same Rate, Then The Daily Cases In The First Week Of August Will Be Less Than 10 Thousand.

भास्कर डेटा स्टोरी:इसी रफ्तार से केस कम होते रहे तो अगस्त के पहले हफ्ते में रोज आने वाले मामले 10 हजार से भी कम हो जाएंगे

4 महीने पहलेलेखक: जयदेव सिंह

देश में रोज आने वाले कोरोना के मामले लगातार घट रहे हैं। 5 मई को देश में 4 लाख 12 हजार नए केस आए थे। ये किसी भी देश में एक दिन में आए सबसे ज्यादा मामले हैं। डेढ़ महीने बाद ये घटकर 60 से 70 हजार के बीच पहुंच चुके हैं। 10 मई के बाद हर सप्ताह आने वाले केस का प्रतिशत भी लगातार कम हो रहा है।

सवाल ये है कि आखिर कब तक रोज आने वाले मामले पहली लहर के न्यूनतम स्तर के आसपास पहुंच जाएंगे। केस कम होने की यही रफ्तार बनी रही तो कब तक रोज आने वाले केस खत्म हो सकते हैं। आइए समझते हैं…

हर हफ्ते औसतन 25% केस कम हो रहे

देश में सबसे ज्यादा केस 3 से 9 मई के दौरान आए। इस हफ्ते कुल 27.4 लाख लोग कोरोना संक्रमित हुए। यानी, हर रोज औसतन 3.91 लाख केस आए। लेकिन अगले हफ्ते नए आने वाले केस में 13% की गिरावट आई। इसके बाद हर हफ्ते गिरावट का प्रतिशत बढ़ता गया।

इसी रफ्तार से केस घटते रहे तो आगे क्या होगा?

10 मई के बाद से 7 दिन में आने वाले केसेज में औसतन 25% की गिरावट आ रही है। अगर आगे भी हर हफ्ते 25% केस भी कम होते रहे तो अगले हफ्ते से रोज आने वाले नए केस 50 हजार से नीचे आ जाएंगे। वहीं, जून के अंत तक करीब 36 हजार केस रोज आ रहे होंगे।

जुलाई के अंत तक 10 हजार हो सकते हैं रोज आने वाले केस

जून की तरह ही अगर जुलाई में भी हर हफ्ते 25% केस कम होते रहे तो जुलाई के अंत तक रोज आने वाले केस 10 हजार के आस-पास आ सकते हैं। अगस्त की शुरुआत में ये संख्या 10 हजार से भी नीचे जा सकती है। यानी, दूसरी लहर की शुरुआत के स्तर से भी नीचे। पहली लहर के दौरान सबसे कम केस 8 से 14 फरवरी के हफ्ते में आए थे। फरवरी के दूसरे हफ्ते में महज 78 हजार केस आए थे। यानी, औसतन रोजाना 11.2 हजार केस। इसी हफ्ते में 8 फरवरी को देशभर में सबसे कम 8,215 नए केस आए।

पिछले दस दिन से एक लाख से कम केस आ रहे

दूसरी लहर के पीक के बाद 7 जून को पहली बार 1 लाख से कम केस आए। इसके बाद हर रोज एक लाख से कम केस आ रहे हैं। 15 जून को सबसे कम 60,171 नए केस सामने आए। पिछले दो दिन से नए केस की संख्या में थोड़ा इजाफा हुआ है, लेकिन ये अभी भी 70 हजार से कम हैं।

पॉजिटिविटी रेट भी लगातार घट रहा

पिछले 38 दिन से पॉजिटिविटी रेट लगातार गिर रहा है। सात दिन के औसत पर ये 3.99% पर आ गया है। WHO की गाइडलाइन के मुताबिक अगर पॉजिटिविटी रेट 5% से कम है तो उस जगह कोरोना कंट्रोल में माना जाता है। पिछले छह दिन से पॉजिटिविटी रेट 5% से नीचे बना हुआ है। यानी, देश में कोरोना की दूसरी लहर अब कंट्रोल में आ चुकी है।

खबरें और भी हैं...