भास्कर एक्सप्लेनर:देश में 100 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन डोज, क्या मास्क फ्री होगी हमारी दिवाली? जानें सब कुछ

एक महीने पहलेलेखक: जयदेव सिंह

देश में वैक्सीन के 100 करोड़ डोज का आंकड़ा जल्द पार हो सकता है। बुधवार शाम तक कुल 99 करोड़ 55 लाख से ज्यादा वैक्सीन डोज दी जा चुकी थी। जिन देशों में तेजी से वैक्सीनेशन हुआ है उनमें से कुछ मास्क फ्री हो गए हैं। ऐसे में अब सवाल है कि 100 करोड़ डोज के बाद क्या हमारी दिवाली भी मास्क फ्री होने वाली है? सरकार ने अगस्त में दिसंबर तक 216 करोड़ वैक्सीन डोज लाने की बात कही थी। मौजूदा रफ्तार से क्या ऐसा संभव होगा? आइये समझते हैं...

अब तक कैसी रही वैक्सीनेशन की रफ्तार?

देश में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन अभियान की शुुरुआत हुई। शुरुआती 20 करोड़ वैक्सीन डोज 131 दिन में लगे। अगले 20 करोड़ डोज 52 दिन में दिए गए। 40 से 60 करोड़ डोज देने में 39 दिन लगे। 60 करोड़ से 80 करोड़ डोज देने में सबसे कम, महज 24 दिन लगे।

अब 80 करोड़ से 100 करोड़ होने में 31 दिन लग रहे हैं। यानी अब रफ्तार कम हो गई है। अगर इसी रफ्तार से वैक्सीनेशन होता रहा तो देश में 216 करोड़ वैक्सीन डोज लगने में करीब 175 दिन और लगेंगे। यानी, 5 अप्रैल 2022 के आसपास ये आंकड़ा हम पार कर सकते हैं।

किन देशों के लोगों को मिली मास्क से मिली आजादी?

ब्रिटेन, अमेरिका, स्वीडन, चीन, न्यूजीलैंड, हंगरी, इटली के बाद हाल ही में साऊदी अरब में अब पूरी तरह वैक्सीनेटेड लोगों के लिए मास्क मेंडेटरी नहीं है।

इजराइल दुनिया का पहला देश था जहां पूरी तरह से वैक्सीनेटेड लोगों को मास्क नहीं लगाने की छूट दी गई। हालांकि, डेल्टा वैरिएंट की वजह से मामले दोबारा बढ़ने पर मास्क लगाना फिर से अनिवार्य कर दिया गया।

जिन देशों में पूरी तरह से वैक्सीनेटेड लोगों को मास्क से छूट मिली है वहां 50% से अधिक आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेट हो चुकी है। अमेरिकी ने महज 37% आबादी की पूरी तरह वैक्सीनेट होने के बाद वैक्सीनेटेड लोगों मास्क नहीं पहनने की छूट दी थी।

तो क्या हमारी दिवाली भी मास्क फ्री हो सकती है?

हमने भले ही 100 करोड़ डोज लगा लिए हों, लेकिन देश की महज 20% आबादी ही पूरी तरह वैक्सीनेट हुई है। 29% आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी जा चुकी है। ऐसे में मास्क फ्री होने के लिए हमें अभी इंतजार करना होगा।

महामारी एक्सपर्ट डॉक्टर चंद्रकांत लहारिया कहते हैं कि जब तक 85% आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट नहीं हो जाती तब तक ऐसा करना खतरनाक हो सकता है। जिन देशों में इससे छूट दी गई है वहां जनसंख्या घनत्व भारत की तुलना में काफी कम है। वो कहते हैं कि हमें अपनी जरूरतों को हिसाब से ही फैसला लेना चाहिए।

ब्रोकरेज फर्म यश सिक्योरिटीज की एक रिपोर्ट के मुताबिक जनवरी तक देश की 60 से 70% आबादी पूरी तरह वैक्सीनेटेड हो जाएगी। इस वक्त तक भारत हर्ड इम्यूनिटी को अचीव कर लेगा। इसके बाद लोगों को मास्क नहीं लगाने की पूरी तरह छूट मिल सकती है। कुल मिलाकर ये कहा जा सकता है कि मास्क से पूरी तरह से आजादी के लिए हमें अभी कम से कम 6 से 8 महीने और इंतजार करना होगा।

किन राज्यों में सबसे कम आबादी वैक्सीनेट हुई?

आबादी के लिहाज से सबसे कम वैक्सीनेशन उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में हुआ है। इन तीनों राज्यों की केवल 12% आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेट हुई है। झारखंड की 36% आबादी ऐसी है जिसे वैक्सीन की एक डोज दी जा चुकी है, तो बिहार की 37% आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी गई है। वहीं, UP की 40% आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी गई है।

हालांकि, देश में सबसे ज्यादा वैक्सीन डोज भी उत्तर प्रदेश में लगाई गई हैं। फिर भी 23 करोड़ आबादी वाले राज्य के लिहाज से ये काफी कम है। आबादी के हिसाब से वैक्सीन लगाने में महाराष्ट्र को छोड़ दें, तो बड़े राज्य पिछड़ गए हैं। सबसे पीछे UP है। वहां देश की 17.4% आबादी है, जबकि वहां कुल वैक्सीन में से 11.9% लगी है।

आबादी के हिसाब से वैक्सीनेशन का आकलन करें तो UP की स्थिति सबसे खराब नजर आती है। वहां के ज्यादातर जिलों में 15% से ज्यादा आबादी को दोनों डोज नहीं लग सकी हैं। सबसे कम वैक्सीनेशन वाले 100 जिलाें में 47 UP-बिहार के हैं। सबसे अच्छी रफ्तार वाले टॉप-8 जिलों में भी UP का नोएडा शामिल है।

देश के किन राज्यों में सबसे ज्यादा आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट हुई?

अब तक केवल दो राज्य और दो केंद्र शासित प्रदेश हैं जहां 50% से ज्यादा आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट हो चुकी है। सबसे ज्यादा नॉर्थ ईस्ट के राज्य सिक्किम की 64% आबादी को वैक्सीन की दोनों डोज दी जा चुकी है। वहीं, गोवा की भी करीब 55% आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट हो चुकी है। दो केंद्र शासित प्रदेशों लक्ष्यद्वीप और दादरा नगर हवेली में भी अधिकांश आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट हो चुकी है। लक्ष्यद्वीप में तो 65% से ज्यादा आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट हो चुकी है।

किन जिलों में सबसे ज्यादा और कहां सबसे कम वैक्सीनेशन हुआ है?

जिलों में सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन हरियाणा के गुड़गांव में हुआ है। यहां की 83% से ज्यादा आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेट हो चुकी है। दूसरे नंबर पर हिमाचल का किन्नौर है जहां की 74% आबादी को वैक्सीन को दोनों डोज दी जा चुकी है। तीसरे नंबर पर पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता है। जहां 60% से ज्यादा आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेट है।

सबसे कम वैक्सीनेट जिलों की बात करें तो टॉप पर पंजाब का फिरोजपुर है। जहां अब तक केवल 6% आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेट है। इसके बाद सबसे कम वैक्सीनेट सात जिले उत्तर प्रदेश के हैं। इनमें सोनिया गांधी का चुनाव क्षेत्र रायबरेली भी शामिल है।

खबरें और भी हैं...