भास्कर डेटा स्टोरी:ऐसे कैसे जीतेंगे वर्ल्ड कप? विराट टीम के आधे खिलाड़ी IPL में फ्लॉप, पंड्या-भुवनेश्वर का फॉर्म कैप्टन कोहली के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द

10 दिन पहलेलेखक: जयदेव सिंह

विराट कोहली IPL का खिताब नहीं जीत सके। आखिरी बार IPL में कप्तानी करने वाले विराट की टीम एलिमिनेटर में हार गई। अब टी-20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में चुने गए कई खिलाड़ियों का फॉर्म उनके वर्ल्ड कप जीतने के सपने पर भी भारी पड़ सकता है। वर्ल्ड कप के लिए चुनी गई टीम इंडिया के आधे खिलाड़ी IPL में फ्लॉप रहे हैं। सबसे खराब प्रदर्शन हार्दिक पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, रोहित शर्मा जैसे खिलाड़ियों का रहा।

केवल 4 खिलाड़ी सुपर हिट

केएल राहुल, जसप्रीत बुमराह, वरुण चक्रवर्ती और मोहम्मद शमी IPL 2021 में सुपर हिट रहे। इन 4 के अलावा ऋषभ पंत, रवींद्र जडेजा, अक्षर पटेल हिट खिलाड़ियों में शामिल हैं। कप्तान विराट की परफॉर्मेंस एवरेज रही। वहीं, रोहित शर्मा, हार्दिक पंड्या, सूर्यकुमार यादव, इशान किशन, भुवनेश्वर कुमार, रविचंद्रन अश्विन और राहुल चाहर फ्लॉप खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल हैं।

IPL में सबसे ज्यादा निराश हार्दिक पंड्या ने किया। अनफिट होने के चलते वो सेकेंड लेग के शुरुआती दो मैच नहीं खेले। RCB के खिलाफ वो पहली बार मैदान में उतरे। पहले ही मैच में फ्लॉप रहे। दूसरे मैच में 40 रन बनाकर फॉर्म वापसी के संकेत दिए, लेकिन उसके बाद एक भी मैच में अपने बल्ले से कमाल नहीं दिखा सके। गेंदबाजी वो कर नहीं रहे हैं। ऐसे में टी-20 वर्ल्ड कप के लिए टीम का बैलेंस बनाने में भी विराट को संघर्ष करना पड़ सकता है।

आइए वर्ल्ड कप टीम में शामिल सभी 15 खिलाड़ियों का IPL के सेकेंड लेग का प्रदर्शन जान लेते हैं। सबसे पहले बात फ्लॉप खिलाड़ियों की...

हार्दिक पंड्या की वजह से बिगड़ सकता है टीम का बैलेंस

विराट के लिए वर्ल्ड कप के दौरान सबसे बड़ी चिंता का कारण हार्दिक पंड्या होंगे। हार्दिक ने पूरे IPL के सेकेंड लेग में गेंदबाजी नहीं की। बल्लेबाजी में भी उनका प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा। सिर्फ एक मैच में वो अपने टच में दिखे, लेकिन उसके बाद अगली तीन पारियों में फ्लॉप रहे।

पंड्या अगर बॉलिंग नहीं करते हैं तो टीम के लिए बैलेंस्ड इलेवन चुनना बड़ी चुनौती हो जाएगी। वैसे भी टीम इंडिया सिर्फ तीन तेज गेंदबाजों के साथ वर्ल्ड कप में गई है। उनमें भी भुवनेश्वर पहले से ही फ्लॉप चल रहे हैं।

एक भी फिफ्टी नहीं लगा सके रोहित

रोहित थकान के चलते IPL के सेकेंड लेग का पहला मैच नहीं खेले। KKR के खिलाफ दूसरे मैच में उन्हें स्टार्ट मिला, लेकिन वो इसे बड़ी इनिंग में कन्वर्ट नहीं कर सके। उनका स्ट्राइक रेट भी महज 110 का रहा। हालांकि RCB के खिलाफ वो अपनी पहचान के मुताबिक खेलते दिखे। महज 28 गेंद पर 43 रन की पारी खेली, लेकिन अगले दो मैचों में रोहित बुरी तरह फ्लॉप रहे। इसका असर उनकी टीम पर भी पड़ा। मुंबई प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गई है। रोहित 6 मैच में सिर्फ दो बार 30+ का स्कोर कर सके। लंबी इनिंग खेलने के लिए पहचाने जाने वाले रोहित एक भी अर्धशतक नहीं लगा सके।

सूर्य कुमार सिर्फ आखिरी मैच में दिखे रंग में

सूर्य कुमार यादव उन खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्होंने सबसे ज्यादा निराश किया है। दूसरे लेग के पहले चार मैचों में तो सूर्य कुमार दहाई का भी आंकड़ा नहीं छू सके। आखिरी तीन मैच में से दो में उन्होंने 30+ का स्कोर करके फॉर्म में वापसी के संकेत दिए। आखिरी लीग मैच में उनकी 82 रनों की पारी के बाद उम्मीद है कि वो अपना खराब फॉर्म IPL में ही छोड़कर वर्ल्ड कप में नई शुरुआत करेंगे।

अश्विन को नहीं मिल रहे विकेट, इकोनॉमी भी 7 पार

आर अश्विन चार साल बाद टी-20 फॉर्मेट के लिए टीम इंडिया में चुने गए हैं। उनकी टीम दिल्ली कैपिटल्स ने शानदार प्रदर्शन किया है, लेकिन खुद अश्विन का प्रदर्शन औसत से कम रहा है। सेकेंड लेग के 7 मैचों में उन्हें सिर्फ 4 विकेट मिले हैं।

मिडिल ऑर्डर में किशन फेल, ओपनिंग में स्ट्राइक रेट पॉजिटिव फैक्टर

टीम इंडिया में इशान किशन का रोल मिडिल ऑर्डर में होगा, लेकिन मुंबई इंडियन्स के लिए ये खिलाड़ी मिडिल ऑर्डर में बुरी तरह फ्लॉप रहा। तीन मैच में महज 34 रन बना सका। इसके बाद किशन को टीम से ड्रॉप कर दिया गया। आखिरी दो मैच में किशन को फिर से टीम में जगह मिली, लेकिन इस बार ओपनर के तौर पर। दोनों ही मैच में उन्होंने अर्धशतक जड़ा।

केएल राहुल और रोहित शर्मा के रहते किशन को टीम इंडिया में ओपनर के तौर पर मौका मिलना मुश्किल है। ऐसे में मिडिल ऑर्डर में उनका फॉर्म कैसा रहेगा, ये देखना होगा। हालांकि किशन का स्ट्राइक रेट उनके लिए पॉजिटिव फैक्टर बन सकता है।

टीम के साथ ही भुवनेश्वर भी फेल

हैदराबाद की टीम पूरी तरह फ्लॉप रही। उनके साथ भुवनेश्वर भी बुरी तरह फ्लॉप रहे। छह मैच में उन्हें महज 3 विकेट मिले। इकोनॉमी भी 7 से ऊपर रही।

खराब फॉर्म की वजह से मुंबई ने किया राहुल को ड्रॉप

वर्ल्ड कप के लिए टीम में राहुल चाहर को युजवेंद्र चहल के ऊपर वरीयता मिली है, लेकिन IPL में चहल हिट रहे तो चाहर फ्लॉप। चाहर को खराब फॉर्म की वजह से चार मैच के बाद ही मुंबई ने टीम से ड्रॉप कर दिया।

विराट कोहली का एवरेज प्रदर्शन

कैप्टन कोहली पहले मैच में फ्लॉप रहे, लेकिन उसके बाद उन्होंने वापसी की। दोनों मैच में उन्होंने हाफ सेंचुरी लगाई। हालांकि दोनों पारियों के दौरान उनका स्ट्राइक रेट 130 से कम रहा है, लेकिन इसके बाद पांच मैचों में सिर्फ एक बार 30 का आंकड़ा पार कर सके।

टीम फ्लॉप, लेकिन राहुल हिट

राहुल की टीम प्लेऑफ तक भी नहीं पहुंच सकी, लेकिन राहुल अच्छे टच में दिखाई दिए। आखिरी मैच में तो उन्होंने ताबड़तोड़ 98 रन की नाबाद पारी खेली। जिस तरह की फॉर्म में राहुल हैं, उनसे उम्मीद की जा सकती है कि वर्ल्ड कप में वो पूरे रंग में नजर आएंगे।

पंत ने टीम को लीड किया

ऋषभ पंत को हर मैच में अच्छा स्टार्ट मिला है। उनका स्ट्राइक रेट भी 125 के ऊपर है। जो उनके करियर स्ट्राइक रेट से बेहतर है। हालांकि, उन्हें कुछ बड़ी पारियों की जरूरत है। सात मैचों में से तीन में उन्होंने 30+ स्कोर किया। उम्मीद है कि वो अपनी फॉर्म को बरकरार रखेंगे। वर्ल्ड कप में पंत के बल्ले से कुछ बड़ी पारियां देखने को मिल सकती हैं।

फिल्मों में आयुष्मान खुराना जैसा रहा जडेजा और अक्षर का प्रदर्शन

चेन्नई फाइनल में पहुंच चुकी है। इसके खिलाड़ियों ने मिले मौकों को बखूबी भुनाया है। रवींद्र जडेजा भी इसमें शामिल हैं। जब जहां जरूरत पड़ी, वहां उन्होंने परफॉर्म किया। एक ऑलराउंडर के तौर पर गेंद और बल्ले दोनों से अपनी टीम के लिए कॉन्ट्रीब्यूट किया। हालांकि बल्ले से उन्हें ज्यादा मौके नहीं मिले। बॉलिंग में भी उनका इकोनॉमी रेट महज 7 है।

इसी तरह अक्षर पटेल का प्रदर्शन भी टीम की जरूरत के हिसाब से रहा। एक स्पिनर के तौर पर अक्षर पटेल का प्रदर्शन बेहद शानदार रहा है। पटेल ने सात मैचों में महज 6.23 की इकोनॉमी से रन दिए हैं। जो टी-20 क्रिकेट में बहुत अच्छा है। इस दौरान वो 9 विकेट भी ले चुके हैं। एक मैच में अक्षर मैन ऑफ द मैच भी रहे हैं। हालांकि ऑलराउंडर अक्षर को बल्लेबाजी में ज्यादा मौके नहीं मिले। कुल मिलाकर जडेजा और अक्षर का प्रदर्शन बॉलीवुड में आयुष्मान खुराना की फिल्मों जैसा रहा। जो ब्लॉकबस्टर भले न हों, लेकिन पैसा वसूल होती हैं।

बॉलिंग के बिग-बी बुमराह

बुमराह की टीम भले प्लेऑफ में नहीं पहुंची, लेकिन उनका प्रदर्शन अपनी इमेज के मुताबिक शानदार रहा। हालांकि उन्होंने रन थोड़े ज्यादा दिए। इसके बावजूद कह सकते हैं कि आज के दौर के बॉलर्स में बुमराह, बॉलीवुड के बिग-बी यानी अमिताभ बच्चन बन चुके हैं।

सबसे कंजूस वरुण

KKR ने UAE लेग में जिस तरह प्रदर्शन किया है उसमें एक बड़ा नाम वरुण चक्रवर्ती भी हैं। वरुण ने न सिर्फ विकेट लिए हैं, उनका इकोनॉमी भी 6 से कम है, जो टी-20 में बहुत कम देखने को मिलता है।

खबरें और भी हैं...