भास्कर एक्सप्लेनर:कोरोना से लड़ाई में मास्क पहला स्टेप; कौन सा मास्क कितना बेहतर? क्या कपड़े का मास्क कोरोना से बचाएगा?

9 महीने पहले

देश में कोरोना के मामले दोबारा बढ़ने लगे हैं। इस बीच एक बार फिर मास्क पहनने की अपील की जा रही है, लेकिन कौन-सा मास्क किसके लिए ज्यादा सही होगा, कौन-सा ज्यादा इफेक्टिव होगा, ये सवाल सबके मन में है। आइए जानते हैं अलग-अलग तरह के मास्क, उनकी इफेक्टिवनेस और यूज के बारे में।

मास्क कितने तरह के होते हैं?

मोटे तौर पर देखें तो मास्क 3 तरह के होते हैं- सर्जिकल मास्क, N-95 मास्क और फैब्रिक या कपड़ों से बने मास्क। N9-5 मास्क को कोरोना वायरस जैसे संक्रमण से बचाव के लिए सबसे बेहतर मास्क माना जाता है। यह आसानी से मुंह और नाक पर फिट हो जाता है और बारीक कणों व बूंदों को भी नाक या मुंह में जाने से रोकता है। यह हवा में मौजूद 95 प्रतिशत कणों को रोकने में सक्षम है इसलिए इसका नाम N-95 पड़ा है। वहीं, सामान्य सर्जिकल मास्क भी करीब 89.5% तक कणों को रोकने में सक्षम होता है। ये दोनों मास्क हेल्थ केयर वर्कर्स के लिए होते हैं। कपड़े के मास्क भी मार्केट में देखे जा सकते हैं।

एक बेहतर मास्क क्या देखकर खरीदें?

लेयर: मास्क खरीदते समय उसमें लेयर जरूर चेक करें। ऐसा मास्क ही खरीदें जो 2 या 3 लेयर से बना हो। स्टडी में ये खुलासा हुआ है कि सिंगल लेयर मास्क की तुलना में 2 या 3 लेयर वाला मास्क ज्यादा कारगर है।

फिल्टर वाले मास्क: कपड़ों के मास्क में ही फिल्टर लगा हुआ आता है। ये मास्क साधारण मास्क की तुलना में बेहतर होते हैं।

नोज वायर मास्क: बेहतर फिटिंग के लिए कुछ मास्क में स्टील की एक पतली पट्टी लगी होती है। ये मास्क को नाक के आसपास अच्छे से फिट कर देती है।

मास्क पहनने का सही तरीका क्या है?

WHO ने मास्क पहनने का सही तरीका बताया है, इसके मुताबिक...

  • मास्क पहनने के पहले और उसे निकालने के बाद हाथ साफ करना चाहिए।
  • ये ध्यान रखें कि मास्क आपकी नाक, मुंह और चिन को पूरी तरह ढंके हुए हो।
  • जब आप मास्क को उतारे तो उसे एक साफ प्लास्टिक के बैग में स्टोर करें।
  • कपड़े के मास्क को हर दूसरे दिन धोएं और मेडिकल मास्क को ट्रैश बिन में डालें।
  • वॉल्व वाले मास्क कभी भी इस्तेमाल न करें।

क्या आपको कपड़े का मास्क पहनना चाहिए?

स्टडीज में सामने आया है कि कोरोना वायरस हवा के जरिए भी फैलता है। कपड़े के मास्क बड़े एयरोसॉल को ही रोकने में कारगर है। हालांकि छोटे एयरोसॉल से बचने के लिए आपको सर्जिकल या N-95 मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए।

किस तरह का मास्क आपको नहीं पहनना चाहिए?

  • जो आपके चेहरे पर पूरी तरह फिट न हो, ज्यादा ढीला या टाइट हो।
  • ऐसे मटेरियल का बना हो जिससे सांस लेने में परेशानी हो।
  • सिंगल लेयर हो।
  • सांस लेने के लिए अलग से वॉल्व दिए मास्क को न खरीदें।