भास्कर डेटा स्टोरी:दुनिया के अलग-अलग देशों में 7 हजार से ज्यादा भारतीय कैदी, इनमें से 6 हजार कैदी 11 देशों में, सबसे ज्यादा 1599 सऊदी अरब में

9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नीरव मोदी, विजय माल्या, मेहुल चौकसी जैसे भगोड़ों को भारत वापस लाने की कोशिश कर रहा है। नीरव मोदी के मामले में तो सफलता मिलती भी दिख रही है, लेकिन क्या आप जानते हैं दुनियाभर की जेलों में 7 हजार से ज्यादा भारतीय कैद हैं।

ये वो आंकड़ा है जो सरकार के पास मौजूद है और उन देशों का आंकड़ा है जिन्होंने भारत सरकार से जानकारी साझा की है। कई ऐसे भी देश हैं जो इस तरह की जानकारी साझा नहीं करते। यानी ये आंकड़ा और भी ज्यादा हो सकता है।

मौजूदा बजट सत्र के दौरान राज्यसभा सांसद मनोज झा के पूछे सवाल के जवाब में सरकार ने बताया कि 31 दिसंबर 2020 तक दुनिया के अलग-अलग देशों में 7,139 भारतीय कैद हैं। इनमें से कई ऐसे भी हैं जिनका मामला अभी अंडर ट्रायल है।

सऊदी अरब में सबसे ज्यादा कैदी, लेकिन 19 महीने में 212 कम हुए
दुनिया में सबसे ज्यादा भारतीय सऊदी अरब में कैद हैं। यहां की जेलों में 1599 भारतीय कैद हैं। इनमें 12 महिलाएं भी हैं। इन लोगों पर ट्रैफिक, शराब, मारपीट, रिश्वत, ड्रग्स जैसे मामले चल रहे हैं। 45 लोग पर तो हत्या और 48 पर सेक्सुअल ऑफेन्स का केस भी है। इमिग्रेशन वॉयलेशन, ह्यूमन ट्रैफिकिंग और स्मगलिंग के मामले भी कुछ लोगों पर दर्ज हैं।

इससे पहले सरकार ने लोकसभा में बताया था कि मई 2019 में सऊदी अरब में 1811 भारतीय कैद थे। यानी पिछले 19 महीने में सऊदी अरब में कैद भारतीयों की संख्या में कमी आई है। वैसे, विदेशों में कैद भारतीयों में से आधे से ज्यादा अरब देशों में ही कैद हैं। सऊदी अरब के अलावा संयुक्त अरब अमिरात, कुवैत में भी 500 से ज्यादा भारतीय कैद हैं।

भारत के पड़ोसी देशों में नेपाल में सबसे ज्यादा और पाकिस्तान में सबसे कम भारतीय कैदी
भारत के पड़ोसी देशों की बात करें तो पाकिस्तान में 62 भारतीय कैद हैं। 19 महीने में इनकी संख्या में इजाफा हुआ है। वहीं सबसे ज्यादा नेपाल में 886 भारतीय कैद हैं। हालांकि, 19 महीने में यहां भारतीय कैदियों की संख्या में कमी आई है। बांग्लादेश, भूटान और म्यांमार में भी भारतीय कैदी बढ़े हैं। नेपाल के अलावा चीन, श्रीलंका में भारतीय कैदी घटे हैं।

खबरें और भी हैं...