देश में कोरोना से पहली मौत का एक साल:कर्नाटक में 76 साल के बुजुर्ग की गई थी जान, सितंबर में सबसे ज्यादा मौतें हुईं, फरवरी 10 महीने में सबसे कम जानलेवा

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

30 जनवरी 2020 को देश में कोरोना का पहला मामला सामने आया था। मार्च शुरू होते ही देश में कोरोना के मामले बढ़ने लगे। 12 मार्च 2020 को कर्नाटक में 76 साल के एक बुजुर्ग की मौत हुई। जांच हुई तो पता चला कि उनकी जान कोरोना ने ली थी।

आज पूरे एक साल हो गए देश में कोरोना से लोगों को जान गंवाते हुए। वैक्सीन आने के बाद भी ये वायरस लोगों की जान ले रहा है। अब तक भारत में 1 लाख 58 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस की वजह से जान गंवा चुके हैं।

सितंबर सबसे ज्यादा जानलेवा

पिछले साल मार्च में 48 लोगों ने कोरोना की वजह से जान गंवाई। अप्रैल में कोरोना से जान गंवाने वालों का आंकड़ा एक हजार को पार कर गया। जून में पहली बार देश में एक महीने में कोरोना ने 10 हजार से ज्यादा लोगों की जान ली। इस महीने में देश में 12 हजार से ज्यादा कोरोना मरीजों की जान गई।

अगस्त खत्म होते-होते देश में 50 हजार से ज्यादा लोग कोरोना से जान गंवा चुके थे। इस महीने में 28 हजार से ज्यादा मौतें हुईं। कुल मौतों का आंकड़ा भी 65 हजार को पार कर गया। वहीं, पिछले साल सितंबर में सबसे ज्यादा 33 हजार 273 लोगों की मौत हुई।

अक्टूबर में आंकड़ा 1 लाख के पार हुआ, लेकिन रोज होने वाली मौतों में कमी आनी शुरू हुई

2 अक्टूबर 2020 तक देश में कोरोना से एक लाख से ज्यादा लोग जान गंवा चुके थे। हर रोज हजार से ज्यादा मौतें हो रही थीं, लेकिन महीना खत्म होते-होते ये आंकड़ा गिरना शुरू हो गया। सितंबर के मुकाबले अक्टूबर में करीब 10 हजार कम मौतें हुईं।

जनवरी में सात महीने बाद 10 हजार से कम मौतें, फरवरी में 10 महीने बाद

अक्टूबर से देश में कोरोना के मामले आने और उससे होने वाली मौतों में कमी आनी शुरू हुई। जनवरी में देश में 5 हजार से ज्यादा मौतें हुईं। जून में लॉकडाउन हटने के बाद ये पहला महीना था जब देश में एक महीने में 10 हजार से कम मौतें हुईं। फरवरी में ये आंकड़ा 2 हजार 700 तक पहुंच गया। फरवरी में पिछले 10 महीने में सबसे कम मौतें हुईं।

5 महीने में पहली बार मौतों का आंकड़ा बढ़ने की आशंका

इस महीने यानी मार्च में अभी 11 दिन ही बीते हैं, लेकिन देश में हजार से ज्यादा लोग कोरोना से जान गंवा चुके हैं। अगर ये ट्रेंड बना रहा तो 5 महीने बाद पहली बार ऐसा होगा जब देश में हर महीने होने वाली मौतों का आंकड़ा पिछले महीने के मुकाबले घटने की जगह बढ़ जाएगा।

खबरें और भी हैं...