भास्कर एक्सप्लेनर:दिनभर परेशान रहे जियो के साढ़े तीन करोड़ से ज्यादा यूजर, आखिर ऐसा क्यों हुआ, क्या कंपनी यूजर्स को लौटाएगी उनका एक दिन का डेटा?

2 महीने पहलेलेखक: जयदेव सिंह

देश के कई राज्यों में बुधवार को रिलायंस जियो का नेटवर्क डाउन रहा। कई यूजर्स ने इसे लेकर शिकायत की। सुबह साढ़े 9 बजे से करीब साढ़े सात घंटे तक कई यूजर्स के फोन में जियो नो सर्विस शो करता रहा। यूजर कॉल नहीं कर पा रहे थे। इंटरनेट भी एक्सेस नहीं हो रहा था।

करीब साढ़े सात घंटे बाद जाकर कुछ यूजर्स के फोन में जियो की सर्विस शुरू हुई। नेटवर्क में आई दिक्कत के चलते ट्विटर पर कुछ ही मिनटों में #jiodown ट्रेंड करने लगा। देर शाम कंपनी के अधिकारियों ने जानकारी दी कि ये परेशानी सिर्फ मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ सर्किल के नंबरों में थी।

आखिर जियो डाउन क्यों हुआ? जब मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ सर्किल के नंबरों में परेशानी थी तो दूसरे राज्यों के यूजर्स क्यों शिकायत कर रहे थे? शिकायत करने वाले यूजर्स को क्या-क्या परेशानी हो रही थी? क्या जियो ने किसी तरह के हर्जाने का भी ऐलान किया है? रिलायंस को इससे कितना नुकसान हुआ? आइए जानते हैं...

आखिर जियो डाउन क्यों हुआ?

कंपनी ने ये नहीं बताया कि जियो डाउन होने का कारण क्या था। जियो के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर भी इस बारे में कुछ नहीं कहा गया। हालांकि इसके कस्टमर केयर ट्विटर हैंडल जियो केयर पर यूजर्स पूरे दिन शिकायत करते रहे। हर शिकायत पर जियो केयर की तरफ से एक ही रिप्लाई दिया जा रहा था। जियो केयर यूजर्स से उनका मोबाइल नंबर और पूरा पता मैसेज करने के लिए कहता रहा।

बाद में जियो केयर ने कहा कि हम यूजर्स को हुई असुविधा के लिए माफी मांगते हैं। कुछ लोकेशंस में कनेक्टिविटी का इश्यू होने की बात भी कंपनी ने मानी। साथ ही कहा कि हम इस पर काम कर रहे हैं और जल्द ही इसे ठीक कर लिया जाएगा। हालांकि ये सब कब तक ठीक होगा, इसे लेकर कोई टाइमलाइन नहीं दी गई। शाम पांच बजे के बाद नेटवर्क की दिक्कत दूर होनी शुरू हुई, लेकिन देर शाम तक भी जियो की सर्विस पूरी तरह नॉर्मल नहीं हो सकी थी।

क्या हर जियो यूजर को इसी तरह की परेशानी हुई?

सबसे ज्यादा शिकायतें मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और कर्नाटक से आईं। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश, राजस्थान,पश्चिम बंगाल, झारखंड, पंजाब और केरल के भी कुछ यूजर्स ने जियो के डाउन होने की शिकायत की। कंपनी के सूत्रों ने शाम को बताया कि ये इश्यू केवल मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ सर्किल का था। दूसरे राज्यों में जो यूजर्स शिकायत कर रहे थे वो ऐसे यूजर थे जिनका नंबर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ सर्किल का था।

शिकायत करने वाले यूजर्स को क्या परेशानी हो रही थी?

टेक्नोलॉजी फेल्योर को डिटेक्ट करने वाली वेबसाइट डाउनडिटेक्टर के मुताबिक सबसे ज्यादा 39% यूजर्स ने नो सिग्नल की शिकायत की है। वहीं, 34% यूजर्स ने E-mail नहीं कर पाने की शिकायत की है। जबकि 27% यूजर्स ने टोटल ब्लैकआउट होने की बात कही।

यूजर्स अपने डेटा प्लान का करीब एक दिन इस्तेमाल नहीं कर सके, उसका क्या होगा?

कंपनी की ओर से शाम पांच बजे के बाद यूजर्स को मैसेज आने शुरू हुए। मैसेज में यूजर्स से सर्विस डाउन होने पर माफी मांगी गई। इसके साथ ही मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के यूजर्स को 2 दिन का अनलिमिटेड प्लान गिफ्ट के रूप में दिया गया। यानी, यूजर का जो प्लान चल रहा है वो खत्म होने के बाद उसे दो दिन का अनलिमिटेड प्लान मिलेगा।

सर्विस डाउन का कितने लोगों पर असर पड़ा?

टेलिकॉम सेक्टर में जियो देश की सबसे बड़ी कंपनी है। ट्राई के मुताबिक जुलाई 2021 में जियो के कुल मोबाइल यूजर्स की संख्या 44.32 करोड़ थी। देश के कुल मोबाइल कनेक्शन में 37.34% कनेक्शन जियो के हैं। मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ सर्किल में कुल 7.9 करोड़ मोबाइल कनेक्शन हैं। इनमें से 3.7 करोड़ मोबाइल कनेक्शन रिलायंस जियो के हैं। यानी, कुल मोबाइल कनेक्शन का 46% अकेले जियो के कनेक्शन हैं। कुल यूजर्स में जियो की हिस्सेदारी का ये % किसी भी राज्य से ज्यादा है।

रिलायंस को इससे कितना नुकसान हुआ?

जियो के नेटवर्क डाउन होने की खबर का असर रिलायंस के शेयर पर देखने को मिला। NSE पर रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 2.12% गिरकर 2,554 रुपए पर बंद हुआ।

खबरें और भी हैं...