पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर एक्सप्लेनर:क्या 8 फरवरी के बाद बंद नहीं होगा आपका वॉट्सऐप? विवाद से जिन ऐप्स को फायदा हो रहा वो कितने सेफ?

4 दिन पहलेलेखक: जयदेव सिंह

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी पर जारी विवाद के बीच कंपनी ने सफाई दी है। उसने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को ऑप्शनल बताया है। अब तक इसे 8 फरवरी तक मानना मजबूरी थी, ऐसा नहीं करने पर वॉट्सऐप आपका अकाउंट डिलीट करने की बात कर रहा था। कहा जा रहा था कि इससे आपकी प्राइवेसी खत्म हो जाएगी। लेकिन, अब ऐसा नहीं होगा। हालांकि इस विवाद का मैसेजिंग ऐप सिग्नल और टेलीग्राम को काफी फायदा हुआ।

आइए जानते हैं कि आखिर पूरा विवाद है क्या? वॉट्सऐप ने अब क्या कहा है? सिग्नल ऐप क्या है और कैसे काम करता है? विवाद से इसे कितना फायदा हुआ है? क्या टेलीग्राम भी अब मैसेजिंग ऐप के रूप में बढ़ेगा?

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी क्या है?

नई पॉलिसी में वॉट्सऐप आपकी हर इन्फॉर्मेशन को अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक के साथ शेयर करेगा। पॉलिसी लागू होने के बाद आप वॉट्सऐप पर जो कंटेंट अपलोड, सबमिट, स्टोर, सेंड या रिसीव करेंगे, कंपनी उन्हें अपने किसी भी प्लेटफॉर्म और किसी भी देश में यूज, रिप्रोड्यूस, डिस्ट्रीब्यूट और डिस्प्ले कर सकेगी।

यूजर को इसे 8 फरवरी तक एक्सेप्ट करना था। ऐसा नहीं करने पर वॉट्सऐप आपका अकाउंट डिलीट कर देता। हालांकि, बुधवार को वॉट्सऐप ने देशभर के अखबारों में ऐड देकर इस मामले पर सफाई दी। कंपनी ने अब कहा है कि ये बदलाव ऑप्शनल होगा। पॉलिसी में बदलाव सिर्फ बिजनेस अकाउंट्स से जुड़ा है।

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी आपकी प्राइवेसी के लिए खतरनाक क्यों बताई जा रही?

  • सिक्योरिटी रिसर्चर अविनाश जैन बताते हैं कि फेसबुक और वॉट्सऐप के बीच डेटा शेयरिंग पहले से हो रही है। अब ये और बड़े लेवल पर होनी है। यूरोप के देशों के वॉट्सऐप यूजर को फेसबुक से डेटा शेयर करना है या नहीं ये उनकी मर्जी पर होगा। बाकी दुनियाभर के यूजर्स के लिए ये ऑप्शन भी नहीं था। अब वॉट्सऐप ने भारत के यूजर्स के लिए भी डेटा शेयरिंग ऑप्शनल कर दिया है।
  • वॉट्सऐप फेसबुक और अपनी अन्य कंपनियों से यूजर का फोन नंबर, ट्रांजेक्शन डेटा (क्योंकि वॉट्सऐप अब भारत में पेमेंट सर्विस भी शुरू कर रहा है), सर्विस रिलेटेड इन्फॉर्मेशन, मोबाइल डिवाइस इन्फॉर्मेशन और आईपी एड्रेस शेयर करना चाहता था। यहां तक कि डिवाइस हार्डवेयर के लेवल पर भी डेटा शेयरिंग होनी थी। लेकिन, अब उसने इसे लेकर नई सफाई दी है।

वॉट्सऐप की नई सफाई में क्या है?

  • वॉट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी पर लगातार सवाल उठ रहे थे। इसके बाद वॉट्सऐप ने सफाई जारी कर कहा है कि वॉट्सऐप यूजर्स के प्राइवेट और पर्सनल ग्रुप्स में भेजे मैसेज, फोटो, वीडियो, डॉक्युमेंट्स नहीं देखेगा। इनमें एंड-टू-एंड इन्क्रिप्शन पॉलिसी लागू रहेगी।
  • इसके अलावा आपकी लोकेशन को न ही वॉट्सऐप देखेगा और न ही फेसबुक। वॉट्सऐप ग्रुप भी पूरी तरह प्राइवेट रहेंगे। इन्हें भी ऐड के लिए फेसबुक से शेयर नहीं किया जाएगा। साथ ही आपके कॉन्टैक्ट्स की डिटेल भी वॉट्सऐप फेसबुक से शेयर नहीं करेगा।

तो क्या अब नई पॉलिसी लागू नहीं होगी?

नहीं, ऐसा नहीं है। वॉट्सऐप ने अपने नए बयान में कहा है कि नई पॉलिसी वॉट्सऐप के बिजनेस अकाउंट्स से जुड़ी है। यानी, अगर आप पास किसी बैंक या डीटीएच सर्विस जैसे वॉट्सऐप अकाउंट्स पर चैट करते हैं, तो उस पर वॉट्सऐप की नजर रहेगी। इसके साथ ही वॉट्सऐप ने अब इसे ऑप्शनल बताया है। मतलब, अगर आप नई पॉलिसी को नहीं मानते हैं, तो भी आपका अकाउंट डिलीट नहीं होगा, जैसा पहले कहा जा रहा था।

क्या यूजर दूसरे मैसेजिंग ऐप की ओर शिफ्ट हो रहे हैं?

नई पॉलिसी आने के बाद कई बड़ी हस्तियों ने दूसरे मैसेजिंग ऐप्स को एंडोर्स किया है। इसके बाद से कई जगहों पर यूजर सिग्नल जैसे ऐप पर शिफ्ट हो रहे हैं। अब तक किताब, न्यूज पेपर पढ़ने और मूवी देखने के लिए यूज हो रहा टेलीग्राम ऐप भी मैसेजिंग के लिए यूज होना शुरू हुआ है। दोनों ही ऐप के डाउनलोड पिछले कुछ दिनों में तेजी से बढ़े हैं।

सिग्नल ऐप क्या है और कैसे काम करता है?

  • अविनाश बताते हैं कि सिग्नल एक इनक्रिप्टेड ऐप है। जिससे आप इंटरनेट के जरिए मैसेज भेज सकते हैं, ऑडियो/वीडियो कॉल कर सकते हैं। इस ऐप का यूजर की प्राइवेसी पर फोकस करने का दावा ही इसकी USP है। ‘Say hello to privacy’ इस ऐप की टैग लाइन है। इस ऐप में भी आप ग्रुप चैट और ग्रुप कॉल कर सकते हैं। ये ओपन सोर्स ऐप है यानी, इसकी सिक्योरिटी को इंडिपेंडेंट एक्सपर्ट्स रेगुलरली चेक करते रहते हैं।
  • इस ऐप को सिग्नल फाउंडेशन एंड सिग्नल मैसेंजर LLC ने बनाया है। सिग्नल फाउंडेशन को वॉट्सऐप के को-फाउंडर ब्रायन एक्शन ने बनाया है। एक्शन ने 2017 में वॉट्सऐप छोड़ा था और सिग्नल फाउंडेशन को 50 मिलियन डॉलर दान किए थे।

तो क्या सिग्नल ऐप वॉट्सऐप से बेहतर है?

  • इस प्लेटफॉर्म पर एंड-टू-एंड इन्क्रिप्शन होता है। यानी, सिग्नल आपके प्राइवेट मैसेज और मीडिया को ना तो एक्सेस करता है और ना ही उन्हें अपने सर्वर पर स्टोर या सेव करता है। जबकि, वॉट्सऐप एंड-टू-एंड इन्क्रिप्शन पॉलिसी के बाद भी आपके प्राइवेट डेटा जैसे- आईपी एड्रेस, ग्रुप डीटेल्स और स्टेटस को एक्सेस करता है।
  • यहां तक कि टेलीग्राम जैसे दूसरे कॉम्पटीटर भी यूजर के कॉन्टैक्ट नंबर और यूजर आईडी को अपने सर्वर पर सेव करते हैं।
  • सिग्नल ऐप के एक ग्रुप में 150 लोग जुड़ सकते हैं। लेकिन, किसी भी ग्रुप मेंबर को ऑटोमैटिकली ऐड नहीं किया जा सकता है। जिसे भी ग्रुप में ऐड करना होता है, उसके पास एक इन्विटेशन लिंक जाता है। जब तक आप इसे एक्सेप्ट नहीं करते, तब तक आपको कोई भी उस ग्रुप में नहीं जोड़ पाएगा। जबकि, वाट्सऐप में ऐसा नहीं होता।
  • सिग्नल हर चैट के लिए डिसअपियरिंग का फीचर भी देता है। इसके लिए आप 5 सेकंड से एक हफ्ते तक का ड्यूरेशन रख सकते है।
  • वॉट्सऐप डिवाइस आईडी, यूजर आईडी, फोन नंबर, ईमेल एड्रेस, कॉन्टैक्ट डिटेल, पेमेंट इन्फॉर्मेशन जैसे डेटा मांगता है। वहीं, सिग्नल केवल यूजर का फोन नंबर मांगता है। कहने का मतलब है कि प्राइवेसी फीचर के मामले में वॉट्सऐप के मुकाबले सिग्नल बेहतर है।

टेलीग्राम के यूजर भी तेजी से बढ़े हैं, उसका क्या?

  • हर ऐप की अपनी ताकत और कमजोरी होती है। वॉट्सऐप की सबसे बड़ी ताकत उसका यूजर फ्रेंडली होना है। जबकि, टेलीग्राम का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किताब, न्यूज पेपर पढ़ने और मूवी देखने के लिए होता है।
  • विवाद के बाद सिग्नल और टेलीग्राम का डाउनलोड सबसे ज्यादा बढ़ा है। बुधवार को ही टेलीग्राम के यूजर्स का आंकड़ा 50 करोड़ को पार गया। इनमें से 2.5 करोड़ यूजर्स तो सिर्फ पिछले तीन दिन में बढ़े हैं। विवाद शुरू होने के बाद सिग्नल और टेलीग्राम के चार करोड़ यूजर सिर्फ भारत में बढ़े हैं।
  • सेंसर टावर की रिपोर्ट के मुताबिक, 6 से 10 जनवरी के बीच भारत में सिग्नल को 23 लाख लोगों ने डाउनलोड किया। वहीं, टेलीग्राम को इस दौरान 15 लाख लोगों ने डाउनलोड किया। इससे पहले साल के पहले पांच दिन में सिग्नल को केवल 24 हजार और टेलीग्राम को 13 लाख लोगों ने डाउनलोड किया था।
  • दूसरी ओर वॉट्सऐप के डाउनलोड घट रहे हैं। साल के पहले पांच दिन में 20 लाख लोगों ने वॉट्सऐप को डाउनलोड किया था। वहीं, 6 से 10 जनवरी के दौरान केवल 13 लाख लोगों ने वॉट्सऐप डाउनलोड किया।
  • अगर कुल डाउनलोड की बात करें तो 10 जनवरी तक भारत में 39 लाख बार सिग्नल, एक करोड़ 51 लाख बार टेलीग्राम और 1.4 अरब बार वॉट्सऐप डाउनलोड हो चुका है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का अधिकतर समय परिवार के साथ आराम तथा मनोरंजन में व्यतीत होगा और काफी समस्याएं हल होने से घर का माहौल पॉजिटिव रहेगा। व्यक्तिगत तथा व्यवसायिक संबंधी कुछ महत्वपूर्ण योजनाएं भी बनेगी। आर्थिक द...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser