भास्कर एक्सप्लेनर:घाटे में चल रहे ट्विटर को 3.37 लाख करोड़ में खरीदकर भी खुश हैं मस्क; 4 पॉइंट्स में जानिए उनका पूरा प्लान

9 महीने पहलेलेखक: नीरज सिंह

दुनिया के सबसे अमीर और टेस्ला के CEO एलन मस्क अब ट्विटर के नए मालिक बन गए हैं। मस्क ने ट्विटर को 44 अरब डॉलर, यानी 3.37 लाख करोड़ रुपए में खरीदने को ऑफर दिया था जिसे कंपनी ने स्वीकार कर लिया है। हालांकि, सबसे बड़ा सवाल यह है टेस्ला, स्पेसएक्स जैसी मुनाफे वाली कंपनी चलाने वाले मस्क ने कमजोर बैलेंस शीट वाली ट्विटर को क्यों खरीदा है?

ऐसे में आइए जानते हैं कि मस्क ट्विटर की आलोचना क्यों करते रहते हैं? ट्विटर को खरीदकर आखिर वह क्या हासिल करना चाहते हैं? क्या इसके पीछे पैसा कमाना है मकसद?

सबसे पहले जानते हैं कि मस्क ने ट्विटर को खरीदने के लिए क्या डील की है?

  • दुनिया के सबसे अमीर एलन मस्क ने ट्विटर को 3.37 लाख करोड़ रुपए में खरीदने का ऑफर दिया है, जिसे कंपनी ने स्वीकार कर लिया है। मस्क ने दो सप्ताह पहले कहा था कि ट्विटर में जबरदस्त क्षमता है जिसे वह अनलॉक करेंगे। ये डील होने के साथ ही सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली फर्म ट्विटर अब मस्क के स्वामित्व वाली एक निजी कंपनी बन जाएगी।
  • ट्विटर ने कहा है कि कंपनी की कीमत 54.20 डॉलर प्रति शेयर के हिसाब से लगाई गई है, जो कुल 44 अरब डॉलर होगी। फर्म ने कहा है कि अब वह शेयरधारकों से सौदे को मंजूरी देने के लिए वोटिंग करने के लिए कहेगी।
  • कंपनी के CEO पराग अग्रवाल ने एक ट्वीट में कहा कि ट्विटर का एक उद्देश्य और प्रासंगिकता है जो पूरी दुनिया को प्रभावित करती है। हमारी टीम पर हमें गर्व है और हम वो काम करने को प्रेरित हैं जो पहले से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण है।

ट्विटर की आलोचना करने के दौरान मस्क कौन से बदलाव की बात करते हैं?

  • मस्क के ट्विटर पर 8 करोड़ से ज्यादा फॉलोअर्स हैं। हालांकि, वह ट्विटर को उसके ही मंच से ट्रोल करते हैं। ऐसे समय भी जब वह ट्विटर के सबसे बड़े स्टेकहोल्डर भी हो गए हैं।
  • मस्क लगातार कंपनी और उसके कामकाज का मजाक उड़ाते रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया कि ट्विटर के नाम से डब्ल्यू हटा दिया जाना चाहिए, ताकि यह और ज्यादा अश्लील सुनाई दे।
  • मस्क ने यह भी लिखा कि ट्विटर के सैन फ्रैंसिस्को मुख्यालय में वैसे भी कोई नहीं आता, तो बेघरों को लाकर वहां बसा देना चाहिए।

एक्सपर्ट का मानना है कि मस्क के ट्वीट से लगता है कि वे ट्विटर में 4 तरह के बदलाव चाहते हैं…

1. ट्वीटर को फ्री स्पीच का अड्‌डा बनाना चाहते हैं

  • ट्विटर ने जब पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को प्लेटफॉर्म से बैन किया था उसी समय मस्क ने कहा था कि वह इस मंच को सुधारना चाहते हैं। मस्क खुद को फ्रीडम ऑफ स्पीच का बड़ा पक्षधर बताते हैं।
  • इसी साल 25 मार्च को मस्क ने ट्विटर पर एक पोल किया था। सवाल था कि क्या ट्विटर फ्री स्पीच यानी अभिव्यक्ति की आजादी का पालन सही तरह से कर रहा है। मस्क ने लोगों से अपील की थी कि वे सावधानी से वोट करें, क्योंकि इस पोल के नतीजे बेहद अहम होने वाले हैं।
  • इस पोल में 70% लोगों ने न में जवाब दिया। अगले दिन मस्क ने ट्वीट किया कि ट्विटर फ्री स्पीच के सिद्धांतों का पालन करने में नाकाम रहा है, जो कि बुनियादी तौर पर लोकतंत्र को कमजोर बनाता है। ऐसे में क्या किया जाना चाहिए?
  • मस्क ने कहा है कि फ्री स्पीच का सब के लिए होना बहुत जरूरी है। लोगों को कानून का पालन करते हुए जो सही है और जो उनका नजरिया है, उसे बताना बहुत जरूरी है।
  • हालांकि, एक्सपर्ट कहते हैं कि मस्क को पता है कि ट्विटर का नियंत्रण उनके हाथों में आने पर दुनिया के बड़े-बड़े इंफ्लुएंसर (Influencers) और ब्लू टिक (Blue Tick) वाले लोगों को आसानी से प्रभावित कर पाएंगे। मतलब साफ है मस्क ट्विटर की सॉफ्ट पावर का इस्तेमाल करना चाहते हैं।

2. ट्विटर के एडिट बटन में बदलाव

  • इससे पहले मस्क ने ट्विटर पर लोगों से पूछा था कि क्या वो एडिट बटन चाहते हैं? यानी ऐसी सुविधा जिससे किसी ट्वीट को एडिट किया जा सके।
  • अभी ट्विटर पर किए गए किसी भी ट्वीट में बदलाव करने की कोई व्यवस्था नहीं है। हालांकि, ट्वीट को डिलीट किया जा सकता है।
  • ट्विटर पर एडिट बटन की मांग बहुत लंबे समय से उठती रही है। मस्क ने एडिट बटन को लेकर जो वोटिंग करवाई थी, उस पर अब तक 26 लाख से ज्यादा जवाब आ चुके हैं।
  • ट्वीट एडिट करने के विचार का कंपनी के पूर्व CEO जैक डॉर्सी ने हमेशा से विरोध किया। इसके आलोचक कहते हैं कि यदि ये सुविधा दे दी गई तो इससे लोग उन ट्वीट्स का अर्थ पूरी तरह से बदल सकते हैं।

3. ब्लू सब्सक्रिप्शन को मुनाफे की सर्विस बनाना चाहते हैं

  • मस्क ने 9 अप्रैल को वर्ल्ड ऑफ स्टैटिक्स का एक ट्वीट रीट्वीट किया। इसमें सबसे ज्यादा फॉलोअर वाले टॉप 10 ट्विटर हैंडल के नाम थे।
  • मस्क ने लिखा कि इस लिस्ट में ज्यादातर लोग कभी-कभार ही पोस्ट करते हैं और बहुत कम ही कोई कंटेंट डालते हैं। उन्होंने आगे सवाल किया कि क्या ट्विटर मर रहा है?
  • 9 अप्रैल को ही मस्क ने ब्लू सब्सक्रिप्शन को लेकर एक ट्वीट किया। उन्होंने इसमें कहा कि ट्विटर ब्लू के लिए सब्सक्राइबर्स से काफी कम भुगतान यानी 4 डॉलर प्रति महीने लेना चाहिए, लेकिन इसे एक साथ 12 महीने के लिए लेना चाहिए।
  • ट्विटर ब्लू सर्विस में यूजर्स को कुछ प्रीमियम सर्विस जैसे एक्सक्लूसिव कंटेंट तक पहुंच और ऐड फ्री सर्विस ऑफर की जाती है। इसके बदले यूजर्स को ट्विटर ब्लू की प्रतिमाह या फिर सालाना के हिसाब से मेंबरशिप लेनी होती है।

4. क्रिप्टोकरेंसी को प्रमोट करने के लिए बड़ा प्लेटफॉर्म मिलेगा

  • ट्विटर मस्क को क्रिप्टोकरेंसी, खासकर बिटकॉइन के लिए एक संभावित लॉन्चपैड भी प्रदान करता है। क्रिप्टो मार्केट के प्रति मस्क का जुनून जगजाहिर है।
  • देखा जाए तो मस्क समय-समय पर क्रिप्टोकरेंसी के पक्ष में बोल्ड स्टैंड लेते रहे हैं। उनकी कंपनी टेस्ला अपनी बैलेंस शीट में बिटकॉइन रखती है और उसने कुछ समय के लिए बिटकॉइन को पेमेंट के लिए स्वीकार भी किया है।
  • ट्विटर की पहुंच और यहां यूजर्स की डाइवर्सिटी को देखते हुए मस्क इसे सरकारों के नियंत्रण से दूर ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी को बढ़ावा देने के अपने सपने को साकार करने के लिए अंतिम मंच के रूप में देख सकते हैं।

क्या मस्क ट्विटर के जरिए पूरी दुनिया पर अपनी धाक जमाना चाहते हैं?

  • नेताओं, बिजनेस लीडर्स, मशहूर हस्तियों और पत्रकारों के लिए ट्विटर अपने मैसेज को आगे बढ़ाने और नैरेटिव को नियंत्रित करने के लिए एक महत्वपूर्ण मंच है।
  • मस्क दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला के मालिक हैं। मस्क स्पेस एक्स के भी मालिक हैं। मस्क 20.8 लाख करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ इस समय दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति भी है।
  • जानकारों का कहना है कि सब कुछ होने के बाद भी उनके पास मीडिया से जुड़ा कोई कारोबार नहीं है। जबकि, दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति और अमेजन प्रमुख जेफ बेजोस ने कारोबार के साथ मीडिया में भी निवेश कर रखा है। बेजोस अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट के मालिक हैं।
  • भारत के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी के पास भी अपना मीडिया हाउस है। मुकेश अंबानी नेटवर्क 18 के मालिक हैं।
  • ट्विटर मस्क के लिए ठीक उसी कारण से मूल्यवान है जिस कारण से यह अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जैसे नेताओं के लिए है- जिन्होंने सालों तक बिना किसी परिणाम की चिंता के इस प्लेटफॉर्म पर वह सब कुछ कहा जो दिमाग में आता था। हालांकि, उसकी भी एक सीमा थी और आखिरकार ट्रंप को ट्विटर सहित सभी बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से बैन कर दिया गया।
  • हो सकता है कि ट्विटर पर 8 करोड़ से अधिक फॉलोअर वाले मस्क ऐसी किसी भी पाबंदी को भविष्य में नहीं चाहते हों।