पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Db original
  • 21 year old Yasha, Along With Nani, Started The Sweets Business From Home During The Lockdown, Earning Rs 4 Lakh In Just 8 Months.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आज की पॉजिटिव खबर:21 साल की याशी ने लॉकडाउन में नानी के साथ मिलकर घर से ही मिठाइयों का बिजनेस शुरू किया, महज 8 महीने में 4 लाख रु. की कमाई

कोलकाता2 महीने पहलेलेखक: इंद्रभूषण मिश्र
  • कॉपी लिंक
कोलकाता की रहने वाली याशी चौधरी अपनी नानी मंजू पोद्दार के साथ मिलकर मिठाइयों का बिजनेस कर रही हैं। - Dainik Bhaskar
कोलकाता की रहने वाली याशी चौधरी अपनी नानी मंजू पोद्दार के साथ मिलकर मिठाइयों का बिजनेस कर रही हैं।

आज की पॉजिटिव खबर में बात कोलकाता की रहने वाली याशी चौधरी और उनकी नानी मंजू पोद्दार की। याशी ने पिछले साल एक्सपेरिमेंट के तौर पर अपनी नानी के साथ मिलकर घर से ही मिठाइयों का बिजनेस शुरू किया था। आज उनका बिजनेस रंग ला रहा है। कोलकाता की मिठाइयों की मिठास अब अमेरिका तक पहुंच गई है। देशभर से हर महीने 200 के करीब उन्हें ऑर्डर मिल रहे हैं। महज 8 महीने में दोनों ने मिलकर 4 लाख रुपए की कमाई की है।

लॉकडाउन के दौरान आया आइडिया

21 साल की याशी लंदन से मास्टर्स कर रही हैं। वे कहती हैं, 'पिछले साल लॉकडाउन के दौरान मैं अपनी नानी के यहां गई थीं। मेरी नानी हर तरह की मिठाइयां बनाने में एक्सपर्ट हैं। उन्हें हर दिन कुछ न कुछ नया बनाने का शौक रहा है। मैं तो उनके हाथ की मिठाइयां खाकर उनकी फैन हो गई थी। उस दौरान मेरे मन में आइडिया आया कि क्यों न हम इसे कॉमर्शियल लेवल पर शुरू करें?

याशी बताती हैं कि हमारे लिए ये काम थोड़ा चैलेंजिग था। सबकी एकमत राय भी नहीं थी बिजनेस को लेकर। फिर हमने तय किया कि एक बार कोशिश करके देखते हैं। अगर सफल हुए तो ठीक है, नहीं तो कम से कम हमें ये तो अफसोस नहीं होगा न कि कोशिश नहीं कि।

याशी बताती हैं कि कोलकाता से शुरू हुई उनकी मिठाइयों की मिठास अब विदेशों में भी पहुंच गई है। हाल ही में उन्होंने अमेरिका में अपने प्रोडक्ट भेजे हैं।
याशी बताती हैं कि कोलकाता से शुरू हुई उनकी मिठाइयों की मिठास अब विदेशों में भी पहुंच गई है। हाल ही में उन्होंने अमेरिका में अपने प्रोडक्ट भेजे हैं।

वे कहती हैं कि शुरुआत में हमने कुछ मिठाइयां बनाकर अपने परिचितों को भेजा। उन्हें हमारी मिठाई पसंद आई। उन्होंने फिर से हमसे मिठाइयों की डिमांड की। इसी तरह एक के बाद एक कस्टमर्स हमसे जुड़ते गए। इसके बाद हमने वॉट्सऐप पर नानीजी स्पेशल नाम से ग्रुप बनाया और उसके जरिए लोगों को अपने स्टार्टअप से जोड़ा।

याशी का यह स्टार्टअप एक तरह से फैमिली स्टार्टअप है। जिसमें उनकी नानी के अलावा उनकी मां भी जुड़ी हुई हैं। जरूरत पड़ने पर वे बाहर से भी कुछ लोगों को हायर करती हैं। याशी ओवरऑल बिजनेस देखती हैं। उनकी मां ऑर्डर और डिलीवरी का काम संभालती हैं। जबकि नानी का काम मिठाइयां तैयार करना है।

फेस्टिवल सीजन में खूब ऑर्डर आते हैं

याशी कहती हैं कि फेस्टिवल सीजन में हमारी अच्छी कमाई होती है। अलग-अलग फेस्टिवल के हिसाब से हम लोग अलग-अलग मिठाइयां और डिशेज तैयार करते हैं। पहली बार जन्माष्टमी के लिए, हमें 40 थाल मिठाइयों के ऑर्डर मिले। एक थाल में चार अलग-अलग तरह की मिठाइयां थीं- मावे की परवल, नारियल चक्की, पेड़ा और अजवाइन चक्की। ये सभी मिठाइयां नानी ने खुद तैयार की थीं। इसके बाद न्यू ईयर और मकरसंक्रांति पर भी हमें थोक में ऑर्डर मिले।

65 साल की मंजू पोद्दार ही सभी मिठाइयां और डिशेज बनाने का काम करती हैं। उन्हें पहले से ही अलग-अलग तरह के डिशेज बनाने का शौक रहा है।
65 साल की मंजू पोद्दार ही सभी मिठाइयां और डिशेज बनाने का काम करती हैं। उन्हें पहले से ही अलग-अलग तरह के डिशेज बनाने का शौक रहा है।

विदेशों से भी मिल रहे हैं ऑर्डर

याशी बताती हैं कि पहले तो कोलकाता बेस्ड लोग ही ऑर्डर करते थे, लेकिन अब दूसरे शहरों में रहने वाले लोग भी माउथ पब्लिसिटी के जरिये उनसे जुड़ गए हैं। अब दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु सहित कई बड़े शहरों में वे अपना प्रोडक्ट भेज रही हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने अमेरिका और हॉन्गकॉन्ग में भी मिठाइयां भेजी हैं। वे बताती हैं कि जो प्रोडक्ट हमें दूर भेजना होता है, उसे कुछ इस तरह तैयार करते हैं कि जल्दी खराब नहीं हो।

एक दर्जन मिठाइयां, दो दर्जन से ज्यादा डिशेज

याशी बताती हैं कि जब लोगों को उनकी मिठाइयां पसंद आने लगी तो कुछ लोगों ने स्नैक्स तो कई लोगों ने कंप्लीट फूड पैक की डिमांड की ताकि एक बार ऑर्डर करने के बाद उन्हें और किसी प्रोडक्ट की जरूरत नहीं पड़े। इसके बाद याशी ने अपनी नानी के साथ मिलकर इस प्रोजेक्ट पर भी काम करना शुरू किया। आज वे एक दर्जन मिठाइयां, स्नैक्स, भुजिया, मट्ठी, पापड़, अचार सहित करीब दो दर्जन अलग-अलग वैरायटी की डिशेज तैयार करती हैं।

याशी अपने स्टार्टअप के जरिए दो दर्जन से ज्यादा प्रोडक्ट तैयार कर रही हैं। इसमें मिठाइयों के साथ दही बड़ा भी शामिल हैं।
याशी अपने स्टार्टअप के जरिए दो दर्जन से ज्यादा प्रोडक्ट तैयार कर रही हैं। इसमें मिठाइयों के साथ दही बड़ा भी शामिल हैं।

कैसे शुरू करें मिठाइयों का बिजनेस?

याशी कहती हैं कि कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले मार्केट रिसर्च बहुत जरूरी है। अलग-अलग लोकेशन के लिए अलग-अलग जरूरतें हो सकती हैं। इसलिए पहले हमें ये पता करना होगा कि हम जहां रहते हैं या जहां बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, वहां किस चीज की किसकी डिमांड है।

दूसरी बात कि हमें अपना प्रोडक्ट खास रखना होगा, ताकि बाहर उसके कम्पेयर के प्रोडक्ट न हों। यानी कोई न कोई ऐसी वजह होनी चाहिए जिससे लोग मार्केट का प्रोडक्ट न खरीदकर हमारा बनाया प्रोडक्ट खरीदें। ये वजह क्वालिटी से लेकर क्वांटिटी और प्राइस तक हो सकती है। इसलिए रिसर्च सबसे अहम पार्ट है।

तीसरी अहम बात यह है कि हमें कस्टमर्स ओरिएंटेड प्रोडक्ट बनाने होंगे। तभी हमारे बिजनेस को ग्रोथ मिलेगा। उनके फीडबैक के मुताबिक हमें अपना प्रोडक्ट अपग्रेड करना चाहिए। साथ ही टाइम और ट्रेंड के साथ अलग-अलग वैरायटी लॉन्च करना चाहिए।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपका अधिकतर समय परिवार तथा फाइनेंस से जुड़े महत्वपूर्ण कार्यों में व्यतीत होगा। और सकारात्मक परिणाम भी सामने आएंगे। किसी भी परेशानी में नजदीकी संबंधी का सहयोग आपके लिए वरदान साबित होगा।। न...

और पढ़ें