करिअर फंडारंगों से परे होली की दास्तान:प्रोफेशनल्स के लिए होली के त्योहार से करिअर में सफलता के 5 सबक

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

होली है… रंग बरसे भीगे चुनर वाली रंग बरसे… अमिताभ बच्चन की भारी और नशीली आवाज में गाया गया, 1981 में आई 'सिलसिला' फिल्म का यह गाना होली के मस्ती भरे माहौल को बताता है। लेकिन यदि गौर से देखा जाए तो होली का त्योहार मस्ती, हंसी, ठिठोली से अधिक कुछ है।

आज हम भारतीय समाज के सदियों पुराने त्योहार 'होली' को इसी एंगल से देखने की कोशिश करेंगे। उम्मीद करता हूं, आप सभी ने होली का त्योहार एन्जॉय किया होगा।

होली की शुभकामनाएं और करिअर फंडा में स्वागत!

हिरण्यकश्यप, प्रह्लाद और होलिका (जिससे इस त्योहार को होली नाम मिलता है) की किवंदती के साथ होली मूलतः बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। यह त्योहार दो दिनों में मनाया जाता है। रंगों वाली होली जिसे धुलेंडी भी कहा जाता है। एक दिन पहले, रात को लोग 'होलिका दहन' का कार्यक्रम करते हैं। और अगले दिन सुबह से रंग-बिरंगी, अटपटी, छिछोरी, कइयों को हैरान कर देने वाली, कइयों के लिए भड़ास निकाल देने वाली होली का त्योहार मनाया जाता है।

सारी दुनिया रंगीन

मजे की बात तो यह है कि होली की तरह का त्योहार विश्व के लगभग सभी क्षेत्रों में मनाया जाता है। स्पेन में इसे टमाटरों से खेला जाता है और 'ला टोमाटीना' कहा जाता है। जैसा फिल्म 'ज़िंदगी ना मिलेगी दोबारा' के 'एक जूनून एक दीवानगी…’ गाने में दिखाया गया है। इसी तरह के त्यौहार ब्राजील, इटली, त्रिनिदाद और टोबैगो में 'कार्निवल' नाम से, थाईलैंड, लाओस, कम्बोडिया में ‘सोंगक्रन’ नाम से तथा साउथ कोरिया में ‘बोरियोंग मड फेस्टिवल’ के नाम से मनाए जाते हैं।

भारत में यह कृष्ण और राधा के पवित्र प्रेम की निशानी के तौर पर भी मनाया जाता है। हालांकि कुछ लोग इसे नेगेटिव अर्थों में भी लेते हैं और इस त्योहार का उपयोग आपसी रंजिश पूरी करने के लिए करते हैं। ‘होली कब है…कब है होली…’ याद आया ना, शोले फिल्म में?

तो आइए देखते हैं मौज मस्ती के अलावा इन त्योहारों से लेने के लिए क्या है…

प्रोफेशनल्स के लिए होली के त्योहार से करिअर में सफलता के 5 सबक

1) पहला सबक - परिवर्तन प्रकृति का नियम है

होली वसंत के आगमन का प्रतीक है और नई शुरुआत और परिवर्तन का प्रतीक है। यह हमें याद दिलाता है कि परिवर्तन प्रकृति का नियम है।

हमें नए अवसरों के लिए खुले रहने तथा करिअर और व्यक्तिगत जीवन में बदलाव को गले लगाने के लिए तैयार रहना चाहिए। वर्तमान में टेक्नोलॉजी के कारण परिवर्तन की दर और भी अधिक तेज है।

2) दूसरा सबक - होली के दिन दिल खिल जाते हैं, रंगों में रंग मिल जाते हैं - मनमुटाव दूर करें, रिश्ते बनाएं

होली दुश्मनी, मनमुटाव और नेगेटिव फीलिंग्स को दूर करने का समय है। यह हमें अपने पर्सनल और प्रोफेशनल दोनों लाइफ में क्षमा करने और पिछले झगड़ों से आगे बढ़ने के महत्व को सिखा सकता है।

रिश्तों को मजबूत करें, मजबूत टीमों का निर्माण करें और जीवन में आगे बढ़ें। कोई भी व्यक्ति अकेला सफल नहीं हो सकता, और अकेले होकर सफलता के मायने भी नहीं इसलिए मिलजुल कर रहें, सहयोग करें।

3) तीसरा सबक - यूनिटी इन डायवर्सिटी

होली, ला टोमीटना , कार्निवल, सोंगक्रन और बोरियोंग मड फेस्टिवल जैसे त्योहार विविधता का जश्न मनाते हैं और विभिन्न पृष्ठभूमि के लोगों को एक साथ लाते हैं। एक मैनेजर के रूप में, विविधता को अपनाना और समावेशी कार्य संस्कृति बनाना महत्वपूर्ण है।

रंगे जाने के बाद सभी लोग एक जैसे दिखते हैं। मुझे नाना पाटेकर का ‘क्रांतिवीर’ फिल्म का डायलॉग याद आता है, जिसका बदला हुआ रूप ये हो सकता है कि, ‘बता कौन सा चेहरा अमीर का कौन सा गरीब का.. बनाने वाले ने इसमें फर्क नहीं किया तू कौन होता है, फर्क करने वाला’।

4) चौथा सबक - पेंट मी रेड, ब्लू एंड ग्रीन- क्रिएटिविटी

होली एक रंगीन और जीवंत त्योहार है। होली और विश्व भर में इसकी तरह मनाए जाने वाले अन्य त्योहारों में लोग अपनी रचनात्मकता को कपड़ों और सजावट के माध्यम से व्यक्त करते हैं। एक प्रोफेशनल के रूप में 'आउट ऑफ द बॉक्स' थिंकिंग जरूरी है। होली के दिन आप मन ही मन प्रण लें कि आप किसी भी समस्या और जीवन के पहलुओं को आप विभिन्न एंगल्स से देखेंगे जिससे उनके बारे में आप ज्यादा क्रिएटिवली सोच पाएंगे।

5) 5वां सबक - आगे की योजना बनाएं

त्योहार मनाने के लिए सावधानीपूर्वक प्लानिंग, कोऑर्डिनेशन और एक्जिक्यूशन की आवश्यकता होती है। प्रोफेशनल्स आगे की योजना बनाने, प्राप्त करने योग्य लक्ष्यों को निर्धारित करके और अप्रत्याशित परिस्थितियों को संभालने के लिए आकस्मिक योजनाएं बनाने की सीख ले सकते हैं।

सारांश

तो अंत में यह कहा जा सकता है कि त्योहार को जिम्मेदार से अपने हिस्से का सबक लेते हुए खुशी से मनाएं। एक अच्छा करियर और उससे मिली सफलता आने वाले त्योहारों को और अच्छा बनाए इसी शुभकामना के साथ एक बार फिर होली की बधाइयां।

आज का करिअर फंडा यह है कि होली की दास्तान रंगों से आगे जाती है, और प्रोफेशनल्स होली के त्योहार से करिअर में सफलता के सबक ले सकते हैं।

कर के दिखाएंगे!

इस कॉलम पर अपनी राय देने के लिए यहां क्लिक करें।

करिअर फंडा कॉलम आपको लगातार सफलता के मंत्र बताता है। जीवन में आगे रहने के लिए सबसे जरूरी टिप्स जानने हों तो ये करिअर फंडा भी जरूर पढ़ें...

1) भारत की 6 असाधारण महिलाओं की कहानी:अंग्रेजों को धूल चटाने से सामाजिक रूढ़ियां तोड़ने तक वुमन पावर

2) कारगिल युद्ध पर बनी ‘लक्ष्य’ फिल्म से सबक:जिंदगी का मकसद तय करें और मुश्किलों से डरे बिना आगे बढ़ें

3) कारगिल युद्ध पर बनी ‘लक्ष्य’ फिल्म से सबक:जिंदगी का मकसद तय करें और मुश्किलों से डरे बिना आगे बढ़ें

4) रियल लाइफ स्पाइडर मैन से लें जीत के सबक:पूरी तैयारी रखें, मंजिल पर फोकस करें और हार ना मानें

5) ENGLISH से जुड़े 13 रोचक फैक्ट:1.70 लाख शब्द हैं अंग्रेजी में…सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है लेटर E

6) किसानों की स्किल बढ़ाने की 8 योजनाएं:सरकार दे रही है मौका...स्किल डेवलपमेंट से ही बढ़ेगी हर किसान की आमदनी

7) कॉम्पिटिटिव एग्जाम्स से 4 बड़े सबक:पॉजिटिव एटीट्यूड बनाए रखें, अपना बेस्ट दें...लेकिन प्लान-B भी तैयार रखें