• Hindi News
  • Db original
  • IAF Mi 17 Military Helicopter Features; CDS Bipin Rawat Chopper Crashes In Tamil Nadu

Mi-17 की कहानी, रिटायर्ड एयर वाइस मार्शल की जुबानी:इंडियन एयरफोर्स के लिए रीढ़ की हड्‌डी की तरह है Mi-17, ग्राउंड पर टारगेट्स को खत्म कर देता है

नईदिल्ली2 महीने पहलेलेखक: अक्षय बाजपेयी

सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 12 अन्य सैन्य अफसरों को लेकर जा रहा Mi-17V5 हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया है। इसे इंडियन एयरफोर्स का सबसे भरोसेमंद हेलिकॉप्टर माना जाता है। रिटायर्ड एयर वाइस मार्शल मनमोहन बहादुर का कहना है कि यह हेलिकॉप्टर इंडियन एयरफोर्स के लिए रीढ़ की हड्‌डी की तरह है। प्रधानमंत्री तक इसका इस्तेमाल करते रहे हैं। ऐसे में इसका क्रैश होना बहुत हैरान करने वाला है। हालांकि, हिल्स में पहले भी यह हादसे का शिकार हो चुका है, लेकिन अभी क्यों क्रैश हुआ, इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।

CDS जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश होने के बाद टुकड़ों में बंट गया।
CDS जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश होने के बाद टुकड़ों में बंट गया।

रेस्क्यू ऑपरेशन में भी इस्तेमाल होता है
Mi-17V5 रशियन मेड हेलिकॉप्टर है, जिसे पर्सनल, कार्गो और इक्विपमेंट्स को कैरी करने के लिए डिजाइन किया गया है। इसमें बाहर की तरफ एक स्लिंग लगी होती है, जिसमें कार्गो कैरी कर सकते है। इसका प्राइमरी टास्क ग्राउंड पर टारगेट्स को खत्म करना और घायलों को बचाना है। हीट सीकिंग मिसाइल के खिलाफ इसमें सेल्फ डिफेंस सिस्टम होता है। यह अनगाइडेड रॉकेट्स, तोपें और छोटे हथियार कैरी कर सकता है।

यह एक एडवांस मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट है, जो किसी भी तरह की जियोग्राफिकल कंडीशन में ऑपरेट कर सकता है। एकदम विपरीत क्लाइमेट कंडीशन में भी यह भरोसेमंद है। दिन के अलावा रात में भी ऑपरेट हो सकता है। हाई एल्टीट्यूड और हॉट कंडीशंस में भी ऑपरेट हो सकता है। इसमें सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम लगा होता है, जो टारगेट पर इसकी एक्युरेसी को बढ़ा देता है।

2008 में रूस से एग्रीमेंट हुआ था
भारत ने इस हेलिकॉप्टर के लिए 2008 में रूस से एग्रीमेंट किया था, जो 2011-13 में पूरा हुआ। इंडियन एयरफोर्स की जरूरतों को देखते हुए 2012-13 में इसके लिए फिर कॉन्ट्रैक्ट हुआ। टेक्नोलॉजी के मामले में यह बहुत एडवांस चॉपर है।