पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Db original
  • Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan Guest List: PM Modi And 4 Others To Share Stage, 175 Invitees

जिन्हें बुलावा आया था:भूमि पूजन कार्यक्रम की गेस्ट लिस्ट में आडवाणी-जोशी उम्र का हवाला देकर गैर-मौजूद, लेकिन मंच पर जो स्पेशल गेस्ट थे, उनमें 5 में से 4 की उम्र 60 से ज्यादा

अयोध्या2 महीने पहलेलेखक: उपमिता वाजपेयी
  • कॉपी लिंक
भूमिपूजन कार्यक्रम में मंच पर कुल 5 लोग मौजूद रहेंगे। पीएम मोदी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास मंच पर रहेंगे।
  • विहिप के अहम नेता अशोक सिंघल के परिवार से उनके भतीजे पवन सिंघल और महेश भागचंदका इस भूमिपूजन के यजमान थे, पूजा उन्होंने ही करवाई
  • आरएसएस, विश्व हिंदू परिषद, संत समाज, श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के लोगों के अलावा, हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल को भी आमंत्रित किया गया था

भूमि पूजन के लिए जन्मभूमि तक जिन्हें जाने का सौभाग्य मिला, उन चुनिंदा मेहमानों की लिस्ट में 135 संत और 40 प्रमुख लोग शामिल थे। कुल 175 ऐसे नाम थे, जिन्हें देश के उन लोगों में शामिल होने का मौका मिला, जो राम मंदिर भूमि पूजन के गवाह बने। 135 जो संत बुलाए गए थे, वो भारत और नेपाल से थे और 36 संप्रदायों को मानने वाले। नेपाल के जनकपुर के संतों को भी बुलावा भेजा गया था।

भाजपा के पितृपुरुष लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी कोरोना और उम्र से जुड़े खतरों के मद्देनजर जन्मभूमि नहीं आ सके। हालांकि, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सचिव चंपत राय की मानें तो आमंत्रण और निमंत्रण की पूरी फेहरिस्त आडवाणी, जोशी और वकील के. पाराशरण से मशविरा कर तैयार की गई थी।

अयोध्या में भूमिपूजन के कार्यक्रम से पहले रामलला का श्रृंगार किया गया।
अयोध्या में भूमिपूजन के कार्यक्रम से पहले रामलला का श्रृंगार किया गया।

जो मंच पर थे, उन पांच लोगों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, संघ प्रमुख मोहन भागवत, उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, महंत नृत्य गोपालदास और राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल थे। राज्यपाल और मुख्यमंत्री को बतौर प्रोटोकॉल ये जगह दी गई। इनमें से योगी आदित्यनाथ को छोड़ दें तो सभी की उम्र 60 साल से ज्यादा है। विहिप के अहम नेता अशोक सिंघल के परिवार से उनके भतीजे पवन सिंघल और महेश भागचंदका इस भूमिपूजन के यजमान थे यानी पूजा उन्हीं के हाथों हुई।

आमंत्रित अहम लोगों में सबसे पहले बात उमा भारती की जो आडवाणी जी के सबसे करीब हैं और राममंदिर आंदोलन का प्रमुख चेहरा रही हैं। उमा भारती जन्मभूमि पहुंचीं। हालांकि, पहले उन्होंने कहा था कि वह भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगी लेकिन ऐन वक्त पर उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी कि मैं कार्यक्रम में जा रही हूं। वो अयोध्या पहले ही पहुंच गईं थीं।

भाजपा से जन्मभूमि जाने वाले नेता

भाजपा नेता उमा भारती जन्मभूमि पहुंचीं। वह भूमिपूजन कार्यक्रम में भी शामिल हुईं।
भाजपा नेता उमा भारती जन्मभूमि पहुंचीं। वह भूमिपूजन कार्यक्रम में भी शामिल हुईं।

उमा भारती के अलावा जो भाजपा नेता जन्मभूमि पहुंचे, उनमें भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्‌डा, सांसद लल्लू सिंह, भाजपा नेता और जन्मभूमि आंदोलन के अहम किरदार विनय कटियार, उप्र के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद और दिनेश शर्मा, यूपी के कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना और लक्ष्मी नारायण सिंह थे। पूर्व राज्यपाल और सीएम कल्याण सिंह और जयभान सिंह पवैया भी इसमें शामिल रहे।

भूमिपूजन कार्यक्रम में स्वामी रामदेव सहित समेत सभी संत।
भूमिपूजन कार्यक्रम में स्वामी रामदेव सहित समेत सभी संत।

विश्व हिंदू परिषद और आरएसएस से

विहिप के कार्यकारी प्रमुख आलोक कुमार, सदाशिव कोकजे, प्रकाश शर्मा, मिलिंद परांदे, रामविलास वेदांती और जितेंद्र नंद सरस्वती के अलावा विश्व हिंदू परिषद की हाईपावर कमेटी के 40 से 50 लोग इसका हिस्सा बने। वहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत के अलावा सुरेश भैयाजी जोशी, विहिप के दिनेश चंद, कृष्ण गोपाल, इंद्रेश कुमार भी यहां आए।

भूमिपूजन को लेकर अयोध्या में उत्सव का माहौल रहा। पीएम मोदी ने भूमिपूजन किया।
भूमिपूजन को लेकर अयोध्या में उत्सव का माहौल रहा। पीएम मोदी ने भूमिपूजन किया।

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के 15 लोग
महंत नृत्य गोपाल दास, स्वामी गोविंद देव गिरी, चंपत राय, नृपेंद्र मिश्र, स्वामी वासुदेव सरस्वती, विमलेंद्र प्रताप मिश्र जो अयोध्या राजपरिवार के प्रमुख हैं, अनिल मिश्र, कमलेश्वर चौपाल, महंत दिनेंद्र दास, वकील के पारासरण, ज्ञानेश कुमार गृहमंत्रालय से, अवनीश अवस्थी उप्र सरकार से और अनुज झा अयोध्या के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट।

कार्यक्रम में शामिल हुए संतों में अखाडा परिषद के नरेंद्र गिरी, साध्वी ऋतंभरा, योग गुरु रामदेव, श्री श्री रविशंकर, युगपुरुष परमानंद का नाम था।

पहला न्यौता हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल को

मुस्लिम पक्ष की तरफ से पहले पक्षकार हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी को भी भूमिपूजन के लिए निमंत्रण दिया गया है।
मुस्लिम पक्ष की तरफ से पहले पक्षकार हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी को भी भूमिपूजन के लिए निमंत्रण दिया गया है।

पहला न्यौता अयोध्या विवाद में मुस्लिम पक्ष के मुद्दई हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी को भेजा गया था। उनके अलावा एक और मुसलमान जिन्हें कार्यक्रम में बुलाया था, उनमें पद्मश्री मोहम्मद शरीफ शामिल थे, जिन्होंने अब तक 25 हजार से ज्यादा लावारिस शवों का अंतिम संस्कार किया है।

आडवाणी और जोशी के अलावा जिन्हें बुलाया गया और जो आने में असमर्थ थे उनमें शंकराचार्य और कुछ संत थे, जो चतुर्मास के चलते नहीं आ पाए। किसी भी राज्य के मुख्यमंत्रियों को नहीं बुलाया गया, कारण कोरोना है।

अयोध्या से जुड़ी हुई ये खबरें भी आप पढ़ सकते हैं...

1. जन्मभूमि आंदोलन की आंखों देखी / आडवाणी मंच से कारसेवकों को राम की सौगंध दिला रहे थे कि ढांचा नहीं तोड़ना, तुम लोग पीछे लौट जाओ, किसी को अंदेशा नहीं था कि ये लोग ढांचे पर चढ़ेंगे

2. अयोध्या की आंखों देखी / राम नाम धुन की गूंज के साथ मंदिर-मंदिर और घर-घर गाए जा रहे हैं बधाई गीत, 4 किमी दूर हो रहे भूमिपूजन को टीवी पर देखेंगे अयोध्या के लोग

3. राम जन्मभूमि कार्यशाला से ग्राउंड रिपोर्ट / कहानी उसकी जिसने राममंदिर के पत्थरों के लिए 30 साल दिए, कहते हैं- जब तक मंदिर नहीं बन जाता, तब तक यहां से हटेंगे नहीं

4. अयोध्या से ग्राउंड रिपोर्ट / मोदी जिस राम मूर्ति का शिलान्यास करेंगे, उस गांव में अभी जमीन का अधिग्रहण भी नहीं हुआ; लोगों ने कहा- हमें उजाड़ने से भगवान राम खुश होंगे क्या?

5. अयोध्या से ग्राउंड रिपोर्ट / जहां मुस्लिम पक्ष को जमीन मिली है, वहां धान की फसल लगी है; लोग चाहते हैं कि मस्जिद के बजाए स्कूल या अस्पताल बने

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें